BSC Agriculture क्या है- अवधि, कॉलेज, फीस, जॉब्स

BSC Agriculture, 4 वर्षीय स्नातक कोर्स है जिसमें कृषि-विषयों पर शिक्षा दी जाती है, जैसे भू-विज्ञान, प्लांट जेनेटिक्स, प्लांट पैथोलॉजी, प्लांट ब्रीडिंग आदि। इस कोर्स में कृषि के क्षेत्र में विकसित हो रही आधुनिक तकनीकों और उन्नत किस्म की खेती के बारे में सिखाया जाता है, जिससे पैदावार ज्यादा की जा सके।  

चूंकि भारत एक कृषि प्रधान देश है और इसकी इकॉनमी बहुत बड़े स्तर पर देश को प्रभावित करती है, इसलिए हमारे लिए यह आवश्यक हो जाता है कि पारंपरिक विधि से की जा रही खेती की समीक्षा की जाये और आधुनिक मॉडल्स पर काम किया जाए।   

BSC Agriculture Course में इन्ही सब के बारे में सिखाया जाता है। इस कोर्स में प्रैक्टिकल पर विशेष ध्यान दिया जाता है, जिससे छात्रों को इसके कांसेप्ट के बारे में अच्छे से समझ आ सके। भारत सरकार द्वारा इस कोर्स को मान्यता प्राप्त है और समय समय पर इस इसे बेहतर बनाने के लिए कार्यशालाएं और सेमीनार भी आयोजित किये जाते हैं। 

इस कोर्स का मुख्य उद्देश्य, Agricultural Education को Professional लेवल पर ले कर जाना है। इससे छात्रों को यह कोर्स करने के बाद फील्ड पर इसे Implement करने में किसी भी प्रकार की असुविधा नहीं होगी।

Also Read…
Fire Safety Engineering में कैरियर कैसे बनाएं- फायर सेफ्टी इन हिंदी
Data Science क्या है | Data Scientist कैसे बनें?
Cabin Crew कैसे बनें- Top Air Hostess Courses after 12th in Hindi
SSC GD Constable Kaise Bane

चूंकि यह कोर्स सीधे तौर पर हमारे खाद्य पदार्थों के उत्पादन एवं उसके भंडारण से जुड़ा है, इसलिए अगर आप यह कोर्स करते हैं तो आपके काम की डिमाण्ड कभी कम नहीं होगी। अगर आप जानना चाहते हैं कि बीएससी एग्रीकल्चर कैसे करें, तो हमारे इस लेख को ज़रूर पढ़िए।   

आज के इस लेख, BSC Agriculture Course Details in Hindi में आप इस कोर्स से जुड़ी सभी प्रकार की जानकारी प्राप्त करेंगे। यहाँ आप जान सकेंगे कि आपके अन्दर इस कोर्स के लिए क्या योग्यताएं होनी चाहिए, इसके लिए फ़ीस कितनी लगेगी, किन किन कॉलेजों से यह कोर्स किया जा सकता है आदि।

कोर्स की अवधि और उसके बाद कैरियर कैसे बनेगा, ये कुछ ऐसे सवाल हैं जो किसी भी कोर्स को चुनने से पहले आपको ज़रूर पता कर लेने चाहिए। इन सभी सवालों के जवाब भी आप इसी लेख में जानेंगे। 

What is BSC Agriculture Course Details in Hindi     

bsc-agriculture-me-career-kaise-banaye-kya-hai-bsc-agriculture-course-details-in-hindi
BSC Agriculture Kya Hai: Image Created by Canva
Type of Courseग्रेजुएट (स्नातक)- Full Time
कोर्स की अवधि4 वर्ष
BSC Agriculture Course Full FormBachelor of Science in Agriculture
कोर्स की योग्यता10+2 फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी विषयों के साथ उतीर्ण
न्यूनतम अंक: 50%
कोर्स की अनुमानित फीसरु 2.0 लाख़ से रु. 3.0 लाख़ प्रति वर्ष 
छात्रवृत्ति की सुविधागरीब / आरक्षित वर्ग हेतु
कोर्स के लिए परीक्षाHORTICET, UPCATET, ICAR AIEEA, MP PAT आदि
जॉब क्षेत्रफ़ूड कारपोरेशन ऑफ़ इंडिया (FCI),इंडियन कौंसिल ऑफ़ एग्रीकल्चर रिसर्च (ICAR),नेशनल डेरी डेवलपमेंट बोर्ड (NDDB),IFFCO,Bank,अन्य क्षेत्र
जॉब का प्रकार / पदकृषि अनुसन्धान वैज्ञानिक,एग्रीकल्चर तकनीशियन,एग्रीकल्चर प्लांट मैनेजर,कृषि विकास अधिकारी,क्रॉप ट्रायल अधिकारी,खाद्य गुणवत्ता अधिकारी,बिज़नेस डेवलपमेंट अधिकारी 
एवरेज सैलरीरु. 4,00,000/- से रु. 6,00,000/- प्रति वर्ष

BSC Agriculture Eligibility- Career Kaise Banaye

यह कोर्स करने के इच्छुक छात्रों को निम्नलिखित योग्यताओं को पूर्ण करना होगा:

  • किसी भी मान्यताप्राप्त संस्थान से, विज्ञान विषयों के साथ 10+2 उत्तीर्ण होना चाहिए। 
  • विज्ञान विषयों में फिजिक्स और केमिस्ट्री तो होने ही चाहिए, साथ ही इसमें बायोलॉजी भी अनिवार्य है।
  • 12वीं कक्षा में कम से कम 50% अंक होने चाहिये। 

बीएससी एग्रीकल्चर में एडमिशन कैसे लें 

इस कोर्स में एडमिशन दो तरह से लिया जा सकता है। पहले तरीके में मेरिट विधि द्वारा डायरेक्ट एडमिशन दिया जाता है, और दूसरे तरीके में इसके लिए आयोजित एंट्रेंस एग्जाम को पास करके कॉलेज में एडमिशन मिल जाता है। 

12th पास करने के बाद, मेरिट विधि से डायरेक्ट प्रवेश पाने के लिए छात्रों को ऐसे संस्थानों से संपर्क करना चाहिए जिसमें इस तरह से एडमिशन देने का प्रावधान हो। ऐसे संस्थान, Applicants के 12वीं परीक्षा में प्राप्त अंको के आधार पर मेरिट लिस्ट बनाते हैं। जो छात्र इस लिस्ट में अपना नाम दर्ज कराने में सफल हो जाते हैं, उन्हें BSC Agriculture Course के लिए एडमिशन ऑफर कर दिया जाता है। 

Entrance Exam द्वारा एडमिशन देने की प्रक्रिया बहुत Popular है। इसमें छात्रों को, राष्ट्रीय अथवा राज्य स्तर पर आयोजित प्रवेश परीक्षाओं में क्वालीफाई करने के बाद एडमिशन दिया जाता है। 

Also Read…
ग्राफिक डिजाइनिंग एक बेहतरीन करियर ऑप्शन | Graphic Designer Kaise Bane
इंडस्ट्रियल डिजाइनिंग में कैरियर कैसे बनाएं | 10 Best College for Industrial Designing In India
CNC Operator कैसे बनें : सीएनसी के 6 Best Points जो आपको जानने चाहिए।
BSC Psychology Course Kaise Kare

List of BSC Agriculture Entrance Exams in India 

  • आई सी ए आर आल इंडिया एंट्रेंस एग्जामिनेशन फॉर एडमिशन – ICAR AIEEA 
  • राजस्थान जॉइंट एंट्रेंस टेस्ट – Rajasthan JET
  • उत्तर प्रदेश कंबाइंड एग्रीकल्चर एंड टेक्नोलॉजी एंट्रेंस टेस्ट – UPCATET
  • महाराष्ट्र कॉमन एंट्रेंस टेस्ट – MH CET
  • छतीसगढ़ प्री-एग्रीकल्चर टेस्ट – CG PAT
  • आसाम एग्रीकल्चरल यूनिवर्सिटी वेटरनरी एंट्रेंस टेस्ट – AAU VET
  • एग्रीकल्चर कॉमन एंट्रेंस टेस्ट – AGRICET
  • आँध्रप्रदेश इंजीनियरिंग एग्रीकल्चर एण्ड मेडिकल कॉमन एंट्रेंस टेस्ट – AP EAMCET
  • चौधरी चरण सिंह हरयाणा एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी एंट्रेंस एग्जाम – CCSHAUEE
  • शिक्षा ‘ओ’ अनुसन्धान टेस्ट – SAAT 
  • कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट – CUET
  • उड़ीसा यूनिवर्सिटी ऑफ़ एग्रीकल्चर एंड टेक्नोलॉजी कॉमन एंट्रेंस टेस्ट – OUAT CET

Top BSC Agriculture Colleges in India

पूरे भारत में अनेकों ऐसे संस्थान हैं जो BSC Agriculture Course आयोजित कराते हैं। आप किसी भी संस्थान से यह कोर्स कर सकते हैं। 

यहाँ कुछ फेमस कॉलेजों के नाम दिए गए हैं, आप चाहें तो यहाँ से यह कोर्स कर सकते हैं। कॉलेज चुनने से पहले यह पता करना ज़रूरी है कि उस कॉलेज में प्रैक्टिकल और जॉब के लिए कैंपस की सुविधा है या नहीं। संतुष्ट होने के बाद ही चुने गए कॉलेज में एडमिशन लें। 

  • इंडियन एग्रीकल्चरल रिसर्च इंस्टिट्यूट – नई दिल्ली 
  • तमिलनाडु एग्रीकल्चरल यूनिवर्सिटी – कोइम्बतूर
  • सेंट्रल इंस्टिट्यूट ऑफ़ एग्रीकल्चरल इंजीनियरिंग – भोपाल
  • मुम्बई यूनिवर्सिटी – मुम्बई 
  • गोविन्द बल्लभपन्त यूनिवर्सिटी ऑफ़ एग्रीकल्चर एंड टेक्नोलॉजी – पन्त नगर 
  • नेशनल डेरी इंस्टिट्यूट – करनाल, हरियाणा
  • इंडियन एग्रीकल्चरल स्टेटिस्टिक्स रिसर्च इंस्टिट्यूट – नई दिल्ली
  • जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी – नई दिल्ली
  • जूनागढ़ एग्रीकल्चरल यूनिवर्सिटी – जूनागढ़ 
  • बिरसा एग्रीकल्चरल यूनिवर्सिटी – रांची 
  • महात्मा फुले कृषि विद्यापीठ – पुणे
  • डा. राजेंद्र प्रसाद सेंट्रल एग्रीकल्चरल यूनिवर्सिटी – समस्तीपुर, बिहार
  • नागालैंड यूनिवर्सिटी – ज़ुन्हेबोत्तो
  • खालसा कॉलेज – अमृतसर 
  • नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ एग्रीकल्चरल एक्सटेंशन मैनेजमेंट – हैदराबाद
  • महात्मा ज्योति राव फुले यूनिवर्सिटी – जयपुर 
  • सैम हिग्गिन्बोत्तोम यूनिवर्सिटी ऑफ़ एग्रीकल्चरल टेक्नोलॉजी एंड साइंस – इलाहाबाद
  • जवाहर लाल नेहरु कृषि विश्विद्यालय – जबलपुर
  • कोलकाता यूनिवर्सिटी – कोलकाता
  • लोकनाथ मोहनराव कदम कॉलेज ऑफ़ एग्रीकल्चर – सांगली, महाराष्ट्र
  • बाबा साहब डा. भीमराव आंबेडकर कॉलेज ऑफ़ एग्रीकल्चरल इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी – इटावा
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ हॉर्टिकल्चरल रिसर्च – बैंगलोर
  • इंदिरा गाँधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी
  • भारती विद्यापीठ यूनिवर्सिटी – पुणे    
ये भी पढ़ें…
वाइल्डलाइफ फोटोग्राफी में कैरियर कैसे बना सकते हैं
इवेंट मैनेजमेंट – एक बेहतरीन कैरियर आप्शन
वौइस् ओवर – इसमें हैं कैरियर बनाने के अनेकों मौके
कैरियर इन स्टैंड अप कॉमेडी – शोहरत के साथ साथ अच्छी कमाई वाला कैरियर

ये भी पढ़ें…

नर्सरी टीचर ट्रेनिंग का कोर्स करिए और बच्चों के साथ साथ अपना भविष्य भी संवारिये

BSC Agriculture Fees

Bachelor of Science In Agriculture Course Fees, हर एक संस्थानों में अलग अलग होती है। फीस में यह अंतर उन संस्थानों द्वारा शिक्षा की साथ साथ ऑफर की जा रही अन्य सुविधाओं पर भी निर्भर करता है। 

अगर आप Government अथवा Recognised Colleges से यह कोर्स करते हैं, फीस की अमाउंट कम लगती है। सामान्य तौर पर सरकारी इंस्टिट्यूट में यह फीस रु. 7,000/- से शुरू हो सकती है। प्राइवेट संस्थानों से यह कोर्स करने पर यह फीस रु. 40,000/- प्रतिवर्ष लग सकती है।

अगर आपने किसी कॉलेज को सेलेक्ट कर लिया है तो सबसे पहले आप उसकी सही फीस और उस कॉलेज दी जा रही सुविधाओं के बारे में निश्चित रूप से पता करें। साथ ही इसके बारे में जानकारी लेने के बाद इसके समकक्ष अन्य संस्थानों से भी यही जानकारी लें। उसके बाद आपको जहाँ suitable लगे, वहाँ एडमिशन ले सकते हैं।   

BSC in Agriculture Course Duration

बैचलर ऑफ़ साइंस इन एग्रीकल्चर का यह कोर्स 4 वर्षों का होता है। कुछ संस्थानों में इसे सेमेस्टर वाइज भी बाँट दिया जाता है। पूरे कोर्स को 8 सेमेस्टर में बाँट कर 4 वर्षों में कम्पलीट किया जाता है। 

हर एक सेमेस्टर पूरा होते ही परीक्षा आयोजित की जाती है। इस परीक्षा में सफल होने के बाद ही अगले सेमेस्टर में बैठने दिया जाता है।   

BSC Agriculture Subjects and Syllabus in Hindi 

अन्य कोर्सेज की तरह  इसे  भी सेमेस्टर वाइज बनाया गया है और प्रत्येक सेमेस्टर 6 माह का होता है। इस तरह पूरे 8 सेमेस्टर में इस कोर्स के लिए निर्धारित पाठ्यक्रम को पूरा किया जाता है। 

बीएससी एग्रीकल्चर का पूरा सिलेबस अच्छी तरह से संयोजित किया गया है। इससे छात्रों को कृषि के प्रकार, मिट्टी के प्रकार और उन पर की जाने वाली खेती, कृषि का पर्यावरण पर असर, अधिक उत्पादनशीलता आदि के बारे में पता चलता है। 

इस कोर्स में छात्रों को मौसम के प्रकार और कृषि के लिए इसकी अनुकूलता, कृषि के आधुनिक तरीके, फसल और आनाज स्टोर करने के तरीके, उनकी बीमारी से बचाव और कृषि के लिए इस्तेमाल किये जाने वाले अत्याधुनिक उपकरणों और मशीनों  जानकारी के बारे में भी बताया जाता है। 

ये भी पढ़ें…

सी एन सी ऑपरेटर बनना चाहते हैं तो ये पॉइंट आपको ज़रूर पता होने चाहिए

पाठ्यक्रम में Agriculture Business Model and Case Studies पर भी चर्चा की जाती है जिससे, छात्र समझ सकें कि Agriculture Business को किस तरह किया जाता है। छात्रों को बताया जाता है कि कैसे एक ही खेत में विविध तरीके की फसलों और सब्जियों को उगाते हैं, उनकी उत्पादकता कैसे बढ़ाई जा सकती है, और साल भर एक ही खेत में profitable खेती कैसे की जा सकती है। 

सेमेस्टर 1सेमेस्टर 2
फंडामेंटल्स ऑफ़ सोइल साइंस,
फंडामेंटल्स ऑफ़ अग्रोनोमी,
फंडामेंटल ऑफ़ प्लांट बायोकेमिस्ट्री एंड बायोटेक्नोलॉजी,
फंडामेंटल्स ऑफ़ हॉर्टिकल्चर,
इंट्रोडक्शन टू बायोलॉजी,
इंट्रोडक्शन टू फॉरेस्ट्री,
बेसिक मैथमेटिक्स,
कॉम्प्रेहेंसिव एंड कम्युनिकेशन स्किल्स इन इंग्लिश,
एनवायरनमेंट एंड वेस्ट मैनेजमेंट,
एग्रीकल्चर हेरिटेज,
रूरल सोशियोलॉजी एंड एजुकेशन साइकोलॉजी
फंडामेंटल्स ऑफ़ प्लांट पैथोलॉजी,
फंडामेंटल्स ऑफ़ जेनेटिक्स,
फंडामेंटल्स ऑफ़ एन्तोमोलोजी,
फंडामेंटल्स ऑफ़ क्रॉप फिजियोलॉजी,
फंडामेंटल्स ऑफ़ एग्रीकल्चरल एक्सटेंशन, एजुकेशन फंडामेंटल्स ऑफ़ एग्रीकल्चरल इकोनॉमिक्स, सोइल माइक्रोबायोलॉजी,
सोइल एंड वाटर कंजर्वेशन इंजीनियरिंग,
कम्युनिकेशन स्किल्स 
सेमेस्टर 3सेमेस्टर 4
एग्री-इन्फार्मेटिक्स,
फंडामेंटल्स ऑफ़ प्लांट ब्रीडिंग,
एग्रीकल्चरल फाइनेंस एंड कारपोरेशन,
इंट्रोडक्शन टू आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस,
क्रॉप प्रोडक्शन टेक्नोलॉजी फॉर खरीफ क्रॉप,
स्टैटिस्टिकल मेथोड्स,
फार्म मशीनरी एंड पॉवर,
सोशल एंड प्रोफेशनल एथिक्स,
प्रोडक्शन टेक्नोलॉजी फॉर वेजिटेबल एंड स्पाइस,
जेंडर इक्वलिटी एंड वीमेन एम्पावरमेंट,
लाइवस्टॉक एंड पोल्ट्री मैनेजमेंट
फार्मिंग सिस्टम एंड सस्टेनेबल एग्रीकल्चर,
क्रॉप प्रोडक्शन टेक्नोलॉजी फॉर रबी क्रॉप,
प्रिंसिपल्स ऑफ़ सीड टेक्नोलॉजी,
ओरनामेंटल क्रॉप प्रोडक्शन,
लैंडस्केपिंग एंड एमएपी इंटरप्रेनेरशिप,
इंट्रोडक्शन टू मैनेजमेंट एंड लीडरशिप,
प्रोडक्शन टेक्नोलॉजी ऑफ़ प्लांटेशन क्रॉप्स,
इंट्रोडक्टरी एग्रो मेटियोरोलोजी और क्लाइमेट चेंज, रिन्यूएबल एनर्जी एंड ग्रीन टेक्नोलॉजी,
प्रोब्लेमाटिक सोइल्स और उनका मैनेजमेंट
सेमेस्टर 5सेमेस्टर 6
क्रॉप प्रोडक्शन टेक्नोलॉजी – खरीफ की फसल,
क्रॉप इम्प्रूवमेंट – खरीफ की फसल,
खाद, फ़र्टिलाइज़र और मिट्टी की उर्वरकता का मैनेजमेंट,
प्रिसिशन फार्मिंग के लिए जिओ इन्फार्मेटिक्स और नैनो टेक्नोलॉजी,
इंटरप्रेनरशिप डेवलपमेंट और बिज़नेस कम्युनिकेशन,
मैनेजमेंट ऑफ़ फील्ड एंड होर्टीकल्चरल क्रॉप्स और बीमारियाँ, इंटेलएक्चुअल प्रॉपर्टी राइट्स, प्रिंसिपल्स ऑफ़ इंटीग्रेटेड पेस्ट एंड डिजीज मैनेजमेंट,
मैनेजमेंट ऑफ़ क्रॉप्स पेस्ट एंड स्टोर्ड ग्रेन्स
क्रॉप इम्प्रूवमेंट – रबी की फसल,
मैनेजमेंट ऑफ़ क्रॉप्स एंड पेस्ट्स,
फार्म मैनेजमेंट,
प्रोडक्शन एंड रेसौर्स इकोनॉमिक्स,
कांसेप्ट ऑफ़ आर्गेनिक फार्मिंग,
प्रोटेक्टेड कल्टीवेशन एंड सेकेंडरी एग्रीकल्चर,
प्रैक्टिकल क्रॉप प्रोडक्शन – रबी की फसल,
मैनेजमेंट ऑफ़ बेनेफेसिअल इंसेक्ट्स,
प्रिंसिपल्स ऑफ़ फ़ूड साइंस एंड न्यूट्रीशन,
रेनफेड एग्रीकल्चर एंड वाटरशेड मैनेजमेंट,
मैनेजमेंट ऑफ़ पोस्ट हार्वेस्ट एंड फ्रूट्स एंड वेजिटेबल वैल्यू एडिशन  
सेमेस्टर 7सेमेस्टर 8
हैंड्स ऑन ट्रेनिंग इन कैंपस,
प्रोजेक्ट रिपोर्ट प्रिपरेशन एंड सबमिशन
इन फील्ड ट्रेनिंग- एग्रीकल्चर,
मशरूम कल्टीवेशन टेक्नोलॉजी,
कमर्शियल मधुमक्खी पालन,
बीज का उत्पादन और नवीन टेक्नोलॉजी,
बायो एजेंट्स और बायो फ़र्टिलाइज़र के लिए प्रोडक्ट टेक्नोलॉजी,
मिट्टी, पौधे, बीज और पानी की टेस्टिंग तकनीक  

BSC Agriculture Course के बाद Jobs

  • कृषि अनुसन्धान वैज्ञानिक,
  • स्पेशलिस्ट ऑफिसर,
  • एग्रीकल्चर तकनीशियन,
  • फील्ड ऑफिसर,
  • एग्रीकल्चर प्लांट मैनेजर,
  • जूनियर एग्रीकल्चर एसोसिएट,
  • कृषि विकास अधिकारी,
  • फारेस्ट ऑफिसर,
  • क्रॉप ट्रायल अधिकारी,
  • लैब असिस्टेंट,
  • खाद्य गुणवत्ता अधिकारी,
  • टेक्नोलॉजिस्ट,
  • फ़ूड साइंटिस्ट,
  • एनवायर्नमेंटल इंजिनियर,
  • बायोइन्फार्मेटिक्स सेल्स मेनेजर,
  • बिज़नेस डेवलपमेंट अधिकारी
  • बायोकेमिस्ट

ये भी पढ़ें…

How to become a Ice Cream Taster

BSC Agriculture Salary in Various Jobs

Bachelor in Agriculture Course करने के उपरान्त कई तरह की जॉब्स करने के मौके मिलते हैं। इन जॉब्स की प्रकृति और उसके लोकेशन के अनुसार सैलरी निर्धारित की जाती है। 

सामन्य तौर पर BSC Agriculture Salary रु. 2.0 लाख़ से शुरू हो कर 12.0 लाख़ प्रति वर्ष होती है। अनुभव प्राप्त होने के बाद और इस क्षेत्र के उच्च पदों वाली जॉब्स में यही सैलरी काफ़ी ज्यादा बढ़ जाती है। 

पद का नामवार्षिक सैलरी (अनुमानित) 
लैब असिस्टेंटरु. 2,00,000/-
एग्रीकल्चर फील्ड ऑफिसररु. 2,30,000/-
टेक्नोलॉजिस्टरु. 2,50,000/-
कृषि विकास अधिकारीरु. 3,00,000/-
एग्रीकल्चर जूनियर इंजिनियररु. 3,50,000/- 
रिसर्चररु. 6,00,000/-
एग्रीकल्चर फारेस्ट ऑफिसररु. 12,00,000/-

निष्कर्ष- BSC Agriculture in Hindi

मित्रों, 12वीं के बाद किया जाने वाला यह कोर्स ग्रामीण परिवेश के युवक और युवतियों के लिए एक बेहतरीन कोर्स है। अगर हम इस कोर्स की तुलना अन्य कोर्स के करें तो इसमें नौकरी पाने के असीमित अवसर नज़र आते हैं। 

ऐसा नहीं है कि यह कोर्स केवल गाँव के लोग ही करते हैं, आजकल नई नई तकनीक आने के बाद शहरों से भी बहुत सारे लोग यह कोर्स कर रहे हैं। अब लोग,  यह कोर्स करके अपना खुद का बिज़नेस भी शुरू करने लगे हैं। 

मशरूम, शिमला मिर्च, ब्रोकली आदि की आर्गेनिक फार्मिंग कर के लोग लाखों कमा रहे हैं। इसलिए अगर आप ज़मीन से जुड़े रहकर बहुत ही बढ़िया बिज़नेस या नौकरी करना चाहते हैं तो यह कोर्स आपके लिए सर्वोत्तम है। 

हमें आशा है कि आपको लेख BSC Agriculture Course Details in Hindi कैरियर बनाने की नज़र से काफ़ी अच्छा लगा होगा। हमने हमारे ब्लॉग में इसी तरह के अन्य कोर्स के बारे में भी बताया है, इसलिए अगर आप इच्छुक हैं तो हमारे ब्लॉग पर विजिट कर सकते हैं।   

Sharing Is Caring:
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x