Fire Safety Engineering में कैरियर कैसे बनाएं?

Fire Safety Engineering एक अनूठा टेक्निकल कोर्स है जो स्टूडेंट्स को आग और आग से होने वाले हादसों से बचने और निपटने की ट्रेनिंग देता है। एक रिपोर्ट के अनुसार वर्ष 2019 में कुल 11,037 Fire Accident हुए थे जिनसे जान माल का बहुत नुकसान हुआ था। ऐसे हादसे तो बाद में भी हुए हैं, पर फायर फाइटर की तत्परता और Quick Action की वजह से फायर एक्सीडेंट का आंकडा अब 10,000 के नीचे सिमट गया है।

fire-safety-engineering-professionals-doing-fire-fighting
Fire Fighting Image By: Pexels

अगर आपको लगता है की आप साहसी हैं और आग से लोगों की जान और संपत्ति बचा कर, आग के आंकड़ों को कम करने में सरकार और समाज की मदद कर सकते हैं, तो आपको इस कैरियर में ज़रूर आना चाहिए। आज के इस पोस्ट में हमने Fire Safety Engineering me career kaise banaye, इस विषय पर पूरी जानकारी दी है। आप इसे ज़रूर पढ़ें और इस क्षेत्र में अपना कैरियर बनायें।

Fire Safety Engineering क्या है?

फायर एंड सेफ्टी इंजीनियरिंग, Men, Machine, Environment और Material की सुरक्षा से जुड़ा एक कैरियर आप्शन है। इस कैरियर को बनाने के लिए बी टेक का 4 वर्षीय पाठ्यक्रम पूरा करना होता है।

फायर सेफ्टी इंजीनियरिंग में निम्नलिखित विषयों पर ट्रेनिंग दी जाती है और आपको एक पूर्ण फायर फाइटर बनाया जाता है

  • फायर सेफ्टी रिस्क अस्सेस्मेंट
  • एक्सीडेंट इन्वेस्टीगेशन
  • फायर हैजर्ड
  • फायर फाइटिंग
  • फायर प्रोटेक्शन एंड मिटीगेशन सिस्टम
  • डिजास्टर मैनेजमेंट प्लान
  • रेस्क्यू ऑपरेशन
  • डिफरेंट टाइप ऑफ़ फायर फाइटिंग इक्विपमेंट एंड यूज़
  • पम्पस एंड हाइड्रोलिक्स
  • फायर फाइटिंग रिसोर्स
  • फायर फाइटिंग व्हीकल्स
  • टाइप्स ऑफ़ फायर
  • कॉज एंड रीज़न ऑफ़ फायर
  • फायर प्रिवेंशन
  • फायर एक्सटिंगुशर एंड कॉम्पोनेन्ट
  • प्रैक्टिकल ट्रेनिंग

Fire Safety Engineer क्या करता है?

फायर सेफ्टी इंजिनियर का काम आग बुझाना, आग में फंसे हुए लोगों को बचाना और उन्हें सुरक्षित स्थान अथवा हॉस्पिटल तक पहुँचाना है। इसके अतिरिक्त किसी भी प्रकार की प्राकृतिक और मानवनिर्मित आपदा आने पर फायर सेफ्टी इंजिनियर को डिजास्टर मैनेजमेंट की टीम के साथ काम करना पड़ता है ।

Fire Safety Engineering me Career Kaise Banaye

Fire Safety Engineering में कैरियर बनने के लिए आपको Fire and Safety से B. Tech या B.E. करना होगा। जिन कॉलेज और इंस्टिट्यूट में इस तरह के कोर्स कराये जाते हैं, वहां दाखिला लेने के लिए आपको वहाँ का Entrance Exam पास करना होगा। कुछ प्राइवेट कॉलेज ऐसे भी है, जो 12वीं में प्राप्त अंकों और मेरिट के आधार पर B . Tech in Fire Engineering में प्रवेश दे देते हैं।

फायर एंड सेफ्टी से इंजीनियरिंग करने के लिए सबसे फेमस एंट्रेंस एग्जाम JEE Main / JEE Advance / WBJEE / VITEEE हैं। ये एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करने के बाद जब आपको काउंसलिंग के लिए बुलाया जाता है तब आप उस कॉलेज या संस्थान का चयन कर सकते हैं जहाँ से आप Fire Safety Engineering करना चाहते हैं।

fire-safety-engineering-trainees-extinguishing-car-fire-during-training-session

Fire Safety Engineering Course के लिए Educational Qualification

जो भी छात्र Fire Safety Engineering से बी टेक करना चाहते हैं उन्हें न्यूनतम 50% अंकों के साथ 12वीं की परीक्षा उतीर्ण करनी होगी। 12वीं कक्षा में उनके विषय Physics और Mathematics होने compulsory हैं। तीसरे विषय के रूप में वो Chemistry, Biology, Computer Science अथवा Biotechnology चुन सकते हैं।

Fire Engineering की पढ़ाई कहाँ से करें?

देश में बहुत से संस्थान हैं जहाँ इंजीनियरिंग की पढ़ाई होती है, मगर सभी जगह फायर एण्ड सेफ्टी के कोर्स उपलब्ध नहीं होते हैं। केवल कुछ संस्थान ही हैं जहां कन्वेंशनल इंजीनियरिंग कोर्सेज के साथ फायर इंजीनियरिंग के भी कोर्स मौजूद हैं।

इसके अलावा कुछ संस्थान ऐसे भी हैं जो केवल और केवल फायर एंड सेफ्टी इंजीनियरिंग की डिग्री देते हैं। आप सुविधानुसार इनमें से किसी में भी दाखिला ले सकते हैं।

Top 10 Fire Engineering Colleges in India

  1. यूनिवर्सिटी ऑफ़ पेट्रोलियम एंड एनर्जी स्टडीज (UPES) – देहरादून
  2. नेशनल फायर सर्विस कॉलेज – नागपुर
  3. मंगलोर इंस्टिट्यूट ऑफ़ फायर एंड सेफ्टी इंजीनियरिंग
  4. आई पी एस अकादमी – इंदौर
  5. गलगोटियाज़ यूनिवर्सिटी – ग्रेटर नॉएडा
  6. मेडी-कैप्स यूनिवर्सिटी – इंदौर
  7. के एस आर कॉलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग – तिरुचेंगोडे, तमिलनाडु
  8. मेवार यूनिवर्सिटी – चित्तौरगढ़
  9. नूरुल इस्लाम सेंटर फॉर हायर एजुकेशन – कन्याकुमारी
  10. कोचीन यूनिवर्सिटी ऑफ़ साइंस एंड टेक्नोलॉजी – कोच्ची

Fire Engineer बनने के लिए क्या स्किल्स होनी चाहिए?

अगर आप फायर इंजिनियर बनान चाहते हैं तो आपके अन्दर ये स्किल्स ज़रूर होनी चाहिए

  • किसी भी स्थिति से निपटने के लिए आपको निर्भीक और निडर होना चाहिए।
  • आपकी कम्युनिकेशन स्किल अच्छी होनी चाहिए जिससे की आप अपनी टीम के लोगों के साथ स्पष्ट बात कर सकें और आपदा में फंसे लोगों की जान बचा सकें।
  • आपके अन्दर लीडरशिप क्वालिटी होनी चाहिए।
  • एक फायर इंजिनियर के अन्दर क्विक डिसिशन लेने की एबिलिटी होनी चाहिए।
  • स्थिति को अच्छी तरह भांपने की स्किल होनी चाहिये।
  • फायर इंजिनियर को मानसिक और शारीरिक रूप से मज़बूत होना चाहिए।

Fire Safety Engineering Job Prospects

fire-safety-engineering-graduate-getting-ready-for-fire-fighting
Photo by Anna Shvets from Pexels

Fire and Safety Engineering में जॉब की प्रचुर संभावनाएं हैं। ऐसा इसलिए है की अभी इस क्षेत्र में ज्यादा इंजिनियर नहीं हैं। जब आप Fire Safety Engineering का कोर्स कम्पलीट कर लेते हैं तब आपके पास जॉब के 2 विकल्प उपलब्ध हो जाते हैं। ऐसे में आप सरकारी अथवा प्राइवेट जॉब कर सकते हैं। अगर आप चाहें तो स्वयं की कंसल्टेंसी कंपनी या फिर फायर एंड सेफ्टी ट्रेनिंग सेंटर खोल सकते हैं।

अगर हम गवर्नमेंट सेक्टर की बात करें तो आपको रिफाइनरी, पेट्रोलियम सेक्टर, रेलवे, इलेक्ट्रिसिटी डिपार्टमेंट, वेयरहाउस, एअरपोर्ट एंड शिपिंग आदि जैसे प्रतिष्ठित निकायों में Fire Engineer के रूप में काम करने के बहुत अवसर मिलते हैं।

चूंकि सुरक्षा, बहुत ही आवश्यक और संवेदनशील विषय है इसलिए इस क्षेत्र में कैरियर बनाने से जॉब के अनगिनत मौके मिलते हैं।

जितने भी प्लांट और इंडस्ट्रीज हैं, उनको अपने Men, Machine, Material को किसी भी प्रकार की अनहोनी घटना से बचने के लिए Safety Team की ज़रुरत पड़ती है। बड़े बड़े शोपिंग मॉल, रेजिडेंशियल अपार्टमेंट और हाई राइज कमर्शियल बिल्डिंग्स में भी Safety Engineer की ज़रुरत पड़ती है।

Salary of Fire and Safety Engineer

जब आप Fire and Safety Engineering Course कम्पलीट कर लेते हैं तो आप तुरंत ही जॉब करने के योग्य हो जाते हैं। फ्रेशर के रूप में छोटी इंडस्ट्रीज और फैक्ट्रीज में Fire and Safety Engineer की शुरुआती सैलरी 15 हज़ार रुपये से लेकर 20 हज़ार रुपये प्रति माह बन जाती है।

बड़े और प्रतिष्ठित establishments, जैसे रिलायंस, मारुती, नेस्ले, पतंजलि आदि में अच्छी salary मिलती है। इसलिए आप इस तरह की कंपनियों में जॉब के लिए ज़रूर try करें।

अगर आप GATE की परीक्षा में अच्छी परसेंटाइल लाते हैं तो आप को देश की PSUs जैसे, आयल एंड गैस कंपनियों में काम करने का मौक़ा मिल सकता है। इसमें रिफाइनरी और प्लांट्स में शुरुआत में ही अच्छी पे स्केल वाली जॉब मिल जाती है। वर्तमान में इन PSU में काम करने वाले Fire and Safety Engineer को ज्वाइन करने के साथ ही 80 हज़ार रुपये प्रति माह की सैलरी मिलने लगती है।

निष्कर्ष

आपने देखा कि Fire Safety Engineering Course करने के बाद जॉब की भरपूर संभावनाएं है। सुरक्षा एक ऐसा विषय है जिसकी डिमांड हर एक क्षेत्र में है। इसलिए फायर इंजीनियरिंग का कोर्स करके आप लोगों को सुरक्षित रखते हुए अपना जीवन संवार सकते हैं।

दोस्तों, आपको हमारा ये पोस्ट, Fire Safety Engineering me Career Kaise Banaye, कैसा लगा? मुझे आशा है की आप इसे पढ़ कर ज़रूर लाभान्वित हुए होंगे और इस क्षेत्र में कैरियर बनाने का प्रयास करेंगे।

ये भी पढ़ें:

Interior Designer कैसे बने | योग्यता, कोर्स, कॉलेज, सैलरी, स्कोप और अवसर

Foreign Language मे कैरियर कैसे बनाए ? 6 Best Foreign Languages to learn in India for Jobs

Leave a Reply