PGDM Full Form | PGDM Course Details, सिलेबस, फ़ीस, ड्यूरेशन

pgdm-full-form-pgdm-course-details-in-hindi-pgdm-kya-hai-pgdm-in-hindi
PGDM Course in Hindi: Image created at Canva

PGDM Full Form in Hindi

PGDM का फुल फॉर्म, Post Graduation Diploma in Management होता है। इसे पढ़ते समय हम कुछ इस प्रकार से उच्चारण करते हैं “पोस्ट ग्रेजुएशन डिप्लोमा इन मैनेजमेंट”।

PGDM Full form in MBAPost-Graduate Diploma in Management
PGDM Full form in Hindiपोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन मैनेजमेंट

PGDM Kya Hai- PGDM Course after 12th

आपने अक्सर देखा होगा या सुना होगा कि हर एक बिज़नेस में या कंपनी में एक मैनेजर (प्रबंधक) की बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका होती है। कंपनी या बिज़नेस को सही ढंग से चलाने की जिम्मेदारी मैनेजर की होती है।

मैनेजर यानि प्रबंधक कई तरह के होते हैं और उनके काम भी अलग अलग होते हैं। एक प्रबंधक (मैनेजर) बनने के लिए मैनेजमेंट का कोर्स करना पड़ता है।

मैनेजमेंट के कई सारे कोर्स होते हैं, जिसमें से एक कोर्स, पीजीडीएम होता है। इस कोर्स के माध्यम से आप मैनेजमेंट क्षेत्र से संबंधित विषयों का ज्ञान प्राप्त कर सकते हैं और इस क्षेत्र में अपना कैरियर बना सकते हैं।

12th Ke Baad PGDM Course करने के लिए आपको सबसे पहले 12th की परीक्षा पास करनी होगी। उसके बाद आप किसी भी विषय से स्नातक की डिग्री कम्पलीट करें।  स्नातक यानी की ग्रेजुएशन करने के बाद आप पीजीडीएम कोर्स करने के योग्य हो जाते हैं।

Also Read…
इंडस्ट्रियल डिजाइनिंग में कैरियर कैसे बनाएं | 10 Best College for Industrial Designing In India
Physical Education मे करिअर कैसे बनाए | 15 Best College, Course, Job and Salary
फ़िल्म क्रिटिक (Film Critic) कैसे बनें | 7 Best Skills you must have !
PLC Programmer कैसे बनें?
Wildlife Photography में कैरियर कैसे बनाएं | How to become Wild Life Photographer

What is PGDM Course Details in Hindi- PGDM Course Kya Hota Hai

पीजीडीएम, Management से सम्बंधित एक डिप्लोमा कोर्स है। इसे हिंदी में “प्रबंधन में स्नातकोत्तर डिप्लोमा” कहा जाता है। सरल भाषा में समझें तो इसे मैनेजमेंट में डिप्लोमा करना कह सकते हैं।

यह कोर्स मैनेजमेंट क्षेत्र से संबंधित है। पीजीडीएम कोर्स कोर्स के माध्यम से स्टूडेंट, प्रबंधन (मैनेजमेंट) से संबंधित सारी शिक्षा एवं प्रशिक्षण प्राप्त करता है। इस कोर्स को पूरा करके मैनेजर के पद पर आसानी से जॉब हासिल किया जा सकता है।

पीजीडीएम कोर्स में ह्यूमन रिसोर्स, सप्लाई चैन मार्केटिंग, एकाउंटिंग, फाइनेंस, मार्केटिंग, इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी इत्यादि जैसे विषयों पर विस्तार से प्रशिक्षण दिया जाता है।

आपको बता दें कि एसोसिएशन ऑफ इंडियन यूनिवर्सिटी (AIU) से मान्यता प्राप्त इंस्टिट्यूट में पीजीडीएम कोर्स को एमबीए कोर्स जितनी मान्यता दी जाती है। ज्यादातर क्षेत्रों में अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (AICTE) से मान्यता प्राप्त कॉलेज या इंस्टीट्यूट में पीजीडीएम कोर्स करवाया जाता है ।

पीजीडीएम कोर्स के लिए योग्यता

जैसा की हमने पढ़ा कि यह एक पोस्ट ग्रेजुएशन स्तर का डिप्लोमा कोर्स है। जिसमें प्रवेश करने के लिए कुछ खास योग्यता का होना जरूरी होता है। जिसकी जानकारी नीचे दी गई है।

  • स्टूडेंट को किसी भी मान्यता प्राप्त कॉलेज से स्नातक (ग्रेजुएशन) की डिग्री प्राप्त करना अनिवार्य है।
  • ग्रेजुएशन में कोई विशेष विषयों का होना जरूरी नहीं है। स्टूडेंट अपने मन पसन्द विषय से ग्रेजुएशन कर सकते हैं।
  • ग्रेजुएशन में 50 प्रतिशत अंक होना चाहिए।
  • कुछ कॉलेजों में 45 प्रतिशत अंक प्राप्त होने पर भी कोर्स के योग्य माना जाता है।
  • इसमें उम्र की सीमा निर्धारित नहीं की है। स्टूडेंट ग्रेजुएशन के बाद कभी भी आवेदन दे सकते हैं।

ऊपर दिए गए नियम एवं योग्यता के आधार पर स्टूडेंट को पीजीडीएम कोर्स में प्रवेश के योग्य माना जाता है।

सारे नियम एवं योग्यता के बारे में जानने के बाद अब हम कोर्स में एडमिशन के बारे में जानकारी प्राप्त करने वाले हैं।

पीजीडीएम कोर्स में एडमिशन कैसे लें

  • कोर्स में एडमिशन लेने के लिए ग्रेजुएशन के बाद कॉलेज द्वारा आयोजित प्रवेश परीक्षा में आवेदन देना होगा।
  • प्रवेश परीक्षा में पास करने के बाद कॉलेज द्वारा मेरिट लिस्ट जारी की जायेगी।
  • मेरिट लिस्ट में नाम आने के बाद आवेदक को इस कोर्स में दाखिला मिल जाता है।

आपको बता दें कि कुछ कॉलेजों या संस्थानों में ग्रेजुएशन में प्राप्त अंकों के आधार पर ही मेरिट लिस्ट बनाई जाती है,  जिसके बाद ही एडमिशन की प्रक्रिया संपन्न होती है।

पीजीडीएम कोर्स के लिए Entrance Exams

जिन कॉलेजों में प्रवेश परीक्षा द्वारा पीजीडीएम कोर्स में दाखिला होता है, उन कॉलेजों द्वारा आयोजित कुछ प्रमुख प्रवेश परीक्षाओं (Entrance Exam) के नाम नीचे दिए गए हैं।

  • XAT (Xavier Aptitude Test)
  • CMAT (Common Management Admission Test)
  • CAT (Common Admission Test)
  • MAT (Management Aptitude Test)
  • ATMA (Agriculture Technology Management Agency)

इनके अलावा और भी अलग अलग प्रवेश परीक्षा आयोजित की जाती हैं, जिनमें आप आवेदन देकर कोर्स में दाखिला ले सकते हैं।

PGDM Course Fees

पीजीडीएम कोर्स के लिए अलग अलग कॉलेजों में अलग अलग फीस होती है। अक्सर कॉलेजों द्वारा ली जाने वाली फीस में बदलाव होता रहता है। इस लिए कोर्स की फीस की सही राशि का अंदाजा लगाना मुश्किल है।

ऊपर हमने बताया कि AIU द्वारा मान्यता प्राप्त संस्थानों में पीजीडीएम कोर्स को एमबीए कोर्स के समान मान्यता दी जाती है। जिसके कारण औसत अनुसार भारत में पीजीडीएम कोर्स की फीस लगभग 1 लाख रुपए से लेकर 20 लाख रुपए तक हो सकती है।

यह सिर्फ औसत अनुसार फीस की जानकारी दी गई है। उचित फीस की जानकारी कॉलेजों की ऑफिसियल वेबसाइट में या कॉलेज में जाकर पता कर सकते हैं।

PGDM Course Duration- पीजीडीएम कोर्स की अवधि

पीजीडीएम कोर्स ग्रेजुएशन के बाद किया जाता है। इस कोर्स को पूरा करने में 2 साल का समय लगता है।

इन 2 सालों में मैनेजमेंट से संबंधित सारे विषयों को 4 सेमेस्टर में विभाजित करके प्रशिक्षण दिया जाता है। पीजीडीएम कोर्स के सिलेबस एवं विषयों की जानकारी आगे लेख में दी गई है।

PGDM Course Subject & Syllabus Details

पीजीडीएम कोर्स के सिलेबस को जानने से पहले हम इस कोर्स के कुछ प्रमुख विषयों के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे। जिसका विवरण निम्न लिखित प्रकार से हैं।

पीजीडीएम कोर्स के विषय

  • Managerial Economics
  • International Business
  • Finance and Accounting
  • Economics and Social Sciences
  • Business Ethics and Communication
  • Business Law and Corporation Governance
  • Basics of Marketing
  • Production and Operation Management
  • Organization Behavior
  • Strategic Management
  • Statistics and Quantitative Techniques
  • Management Information System
  • IT Skill Lab
  • Research Methodology
  • Theory of Management

कोर्स के विषयों को जानने के बाद अब हम कोर्स के सिलेबस में मौजूद अलग अलग 4 सेमेस्टर के बारे में जानकारी प्राप्त करने वाले हैं।

पहला सेमेस्टर

  • Organization behavior 1
  • Managerial accounting and control 1
  • Business communication
  • Managerial economics
  • Quantitative techniques 1
  • Operation management 1

दूसरा सेमेस्टर

  • Financial management 1
  • Microeconomics
  • Managerial accounting and control 2
  • Marketing management 1
  • Quantitative techniques 2
  • Organization behavior 2

तीसरा सेमेस्टर

  • Financial management 2
  • Human Resource Management
  • Management information system
  • Marketing management 2
  • Research method
  • Operations management 2

चौथा सेमेस्टर

  • Strategic management
  • Business environment (Indian and world economy)

ऊपर दिए गए सेमेस्टर के आधार पर पीजीडीएम कोर्स को पूरा किया जाता है।

पीजीडीएम के बाद क्या करें

पीजीडीएम कोर्स की डिग्री प्राप्त करने के बाद स्टूडेंट या कैंडिडेट के पास कई सारे कैरियर विकल्प उपलब्ध होते हैं। स्टूडेंट इस कोर्स के बाद मैनेजर की पद में जॉब कर सकते हैं या उच्च स्तर की शिक्षा के लिए कोर्स कर सकते हैं।

पीजीडीएम कोर्स के बाद इस क्षेत्र में PHD भी किया जा सकता है। इस कोर्स के बाद PGDCA Course भी किया जाता है।

स्टूडेंट अगर आगे कोर्स नहीं करना चाहते हैं तो उनके लिए कई सारे जॉब के विकल्प होते हैं। जिनके बारे में जानकारी आगे दी गई है।

Also Read…
MSW Course कैसे करें
B Ed कोर्स क्या है
ACCA Course की पूरी जानकारी हिंदी में
CMA Course Details in Hindi
सीटेट एग्जाम क्या होता है

पीजीडीएम कोर्स के बाद जॉब के विकल्प

पीजीडीएम कोर्स को पूरा करने के बाद मुख्य रूप से मैनेजर के पद या क्षेत्र में जॉब के अवसर प्रदान किए जाते हैं। नीचे उदाहरण स्वरूप समझने के लिए कुछ जॉब के विकल्प दिए गए हैं।

  • Operation Manager
  • Brand Manager
  • SEO Manager
  • Marketing Manager
  • Trainer Manager
  • HR Manager
  • Staffing Manager
  • Export Manager
  • Web Developer or Designer
  • Digital Marketing Manager

दिए गए मैनेजर के जॉब पदों के अलावा और भी कई सारे जॉब विकल्प होते हैं। जिनमें पीजीडीएम कोर्स के बाद जॉब करके एक अच्छा कैरियर बनाया जा सकता है।

पीजीडीएम कोर्स के बाद अनेक सरकारी एवं प्राइवेट कंपनी हैं जिनमे जॉब के अवसर दिए जाते हैं। जिनमें से कुछ कंपनियों के नाम नीचे दिए गए हैं।

पीजीडीएम के लिए Top Recruiters

  • Cognizant
  • Computer Sciences Corporation
  • JP Morgan Chase & Co.
  • HCL Technologies Ltd.
  • Tata Consultancy Services Limited
  • Accenture
  • IBM Corp
  • Wipro Technologies Ltd
  • Infosys Ltd, etc.

उपरोक्त कंपनियों के अलावा और भी कई सारी कंपनी हैं जिनमे जॉब के अवसर प्रदान किए जाते हैं।

PGDM Salary- पीजीडीएम कोर्स के बाद सैलरी

इस कोर्स को पूरा करने के बाद मुख्य रूप से मैनेजर के पद में नौकरी प्राप्त होती है। जिसमें अलग अलग कंपनी में अलग अलग सैलरी मिलती है। भारत के अंदर शुरुआत में औसत अनुसार ₹25,000 से लेकर ₹30,000 तक प्रति माह वेतन मिल सकता है। अनुभव के साथ सैलरी में वृद्धि होती है।

लगभग 2 साल के अनुभवी मैनेजर को ₹30,000 से लेकर ₹70,000 तक प्रति माह का वेतन दिया जाता है। आपको बता दें कि कुछ बड़ी कंपनियों में मैनेजर के पद में लगभग 1 लाख रुपए से भी ज्यादा प्रति माह का वेतन होता है।

निष्कर्ष

कुल मिलाकर देखा जाये तो पीजीडीएम एक अच्छा कोर्स है। मैनेजमेंट के क्षेत्र में कैरियर बनाने के लिए इच्छुक स्टूडेंट या कैंडिडेट इस कोर्स का चयन कर सकते हैं।

हमें आशा है कि PGDM Course Details in Hindi का यह लेख आपको कैरियर की दृष्टि से जानकारी भरा लगा होगा।

Sharing Is Caring:
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x