B Ed Course Details in Hindi- Full Form, Eligibility, Fees, Duration, Exam, Syllabus

इस लेख में हम B Ed Course Details in Hindi के बारे में विस्तार से चर्चा करने वाले हैं। जो स्टूडेंट पढ़ाई करने के बाद एक शिक्षक के रूप में कैरियर बनाने की सोच रहे हैं, उनके लिए यह कोर्स बहुत महत्वपूर्ण है। यह कोर्स शिक्षक बनने के लिए सबसे बेहतर कोर्स माना जाता है।

वर्तमान समय में शिक्षक पदों के लिए स्कूल और कॉलेजों में भरपूर डिमाण्ड है। इस कारण इस क्षेत्र में कैरियर के अच्छे विकल्प दिखाई दे रहे हैं। अगर आप भी शिक्षक बनने में रुचि रखते हैं तो यह लेख आपके लिए बेहद महत्वपूर्ण है।

लेख में इस कोर्स के बारे में विस्तार से जानकारी मिलने वाली है। जैसे B Ed Course Kya Hai, B Ed Full Form in Hindi, कोर्स में क्या सिखाया जाता है, कोर्स के लिए योग्यता क्या है, B Ed कोर्स में दाखिला कैसे लें, B Ed Course की फीस कितनी है, B Ed Course के बाद कैरियर विकल्प क्या हैं, B Ed कोर्स के बाद सैलरी कितनी मिलती है, इत्यादि सभी विषयों पर विस्तार से जानकारी दी गई है।

b-ed-course-details-in-hindi-b-ed-full-form-b-ed-kya-hai-b-ed-kya-hota-hai
High school photo created by pressfoto – www.freepik.com

What is B Ed Course Details in Hindi?

बी एड कोर्स, Teaching Field का एक अहम कोर्स माना जाता है। यह एक बैचलर डिग्री कोर्स है। इस कोर्स को पूरा करने के बाद स्टूडेंट या कैंडिडेट शिक्षक बनने के लिए योग्य बनता है। B Ed कोर्स को पूरा करने के लिए 2 साल का समय लगता है।

2 वर्ष के B Ed Course के दौरान स्टूडेंट को शिक्षक बनने से संबंधित सारी जानकारी दी जाती है एवं प्रशिक्षण दिया जाता है। जैसे स्कूल के बच्चों को कैसे पढ़ाते हैं, बच्चों को कैसे समझाते हैं, बहुत सारे बच्चों को कैसे एक साथ समझाया जाता है, किस प्रकार से बच्चे जल्दी सीखते हैं, इत्यादि सारे विषयों में निपुण बनाया जाता है।

आपको बता दें कि B Ed Course के बाद स्टूडेंट या कैंडिडेट को अलग अलग स्कूलों में इंटर्नशिप के लिए भेजा जाता है ताकि कैंडिडेट, शिक्षक के रूप में अपनी पकड़ मजबूत बना सके। इस कोर्स के लिए योग्यता और एडमिशन के बारे में आगे लेख में जानकारी दी गई है।

B Ed Full Form in Hindi- B Ed Kya Hota Hai

यह एक बैचलर डिग्री कोर्स है जिसका फुल फॉर्म Bachelor of Education होता है। इसका उच्चारण हम कुछ इस प्रकार से करते हैं “बैचलर ऑफ एजुकेशन”। हिंदी में इसका मतलब शिक्षा में स्नातक होता है, यानि शिक्षण के क्षेत्र में बैचलर डिग्री प्राप्त करना होता है।

B Ed Full Form को जानने के बाद, अब हम इस कोर्स के लिए योग्यता और दाखिला के बारे में जानकारी प्राप्त करने वाले हैं।

B Ed Course Eligibility in Hindi- B Ed Kaise Kare

हर एक कोर्स में कुछ खास योग्यता का होना जरूरी है। बीएड कोर्स के लिए भी स्टूडेंट या कैंडिडेट के पास कुछ योग्यता का होना अनिवार्य है। इस कोर्स के लिए नियम एवं शर्तों की जानकारी नीचे दी गयी है।

  • स्टूडेंट को 12 वीं पास करने के बाद किसी भी मान्यता प्राप्त कॉलेज या यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन पूरा करना होगा।
  • ग्रेजुएशन के लिए स्टूडेंट किसी भी विषय को चुन सकते हैं।
  • कोर्स में एडमिशन के लिए ग्रेजुएशन में कम से कम 50 प्रतिशत अंक प्राप्त करना होता है।
  • कुछ कॉलेजों में 45 प्रतिशत अंक प्राप्त करने पर भी B Ed कोर्स के योग्य माना जाता है।
  • इस कोर्स के लिए कोई विशेष विषयों का होना अनिवार्य नहीं है। स्टूडेंट अपने पसंद अनुसार विषय में ग्रेजुएशन कर सकते हैं।
  • स्टूडेंट या कैंडिडेट की उम्र कम से कम 21 वर्ष होना अनिवार्य है।

ये कुछ प्रमुख नियम एवं शर्तें है जिनके आधार पर स्टूडेंट या कैंडिडेट को बी एड कोर्स के योग्य माना जाता है।

B Ed Course Admission Details in Hindi- बी एड कोर्स में एडमिशन

बी एड कोर्स कोर्स में एडमिशन लेने के लिए स्टूडेंट या कैंडिडेट को ग्रेजुएशन के बाद कॉलेजों द्वारा आयोजित B Ed Entrace Exam यानि प्रवेश परीक्षा के लिए आवेदन देना पड़ता है। प्रवेश परीक्षा में पास होने के बाद प्राप्त अंकों के आधार पर कॉलेज द्वारा मेरिट लिस्ट जारी की जाती है। उस मेरिट लिस्ट में स्टूडेंट का नाम आने के बाद ही एडमिशन दिया जाता है।

आपको बता दें कि कुछ राज्य स्तर के कॉलेजों में बिना प्रवेश परीक्षा (Entrance Exam) के ही डायरेक्ट एडमिशन मिल जाता है। डायरेक्ट एडमिशन लेने के लिए स्टूडेंट को कॉलेज में जाकर एडमिशन फॉर्म भरने के साथ साथ फीस भी जमा करनी होती है, जिसके बाद उन्हें एडमिशन दिया जाता है।

कुछ सरकारी बड़े कॉलेजों या संस्थानों में प्रवेश परीक्षा के माध्यम से एडमिशन दिया जाता है। जिसके बाद स्टूडेंट को कम से कम फीस देनी पड़ती है। B Ed Course करने के लिए सरकारी कॉलेजों में प्रवेश परीक्षा देकर ही एडमिशन लेना उचित होता है।

ये भी पढ़ें:

BCA Course Details in Hindi- BCA Full Form, BCA Course Fees in IndiaDMLT Course Details in Hindi- DMLT Full Form, DMLT Course Fees in India
BFA Full Form in Hindi | BFA Course Details in Hindi | BFA Kya Hai?BSC Nursing Course Details in Hindi- Full Information

B Ed Course Duration Details in Hindi- बी एड कोर्स की अवधि कितनी होती है

b-ed-course-details-in-hindi-b-ed-full-form-b-ed-kya-hai-b-ed-kya-hota-hai-b-ed-kaise-kare
Image by David Mark from Pixabay

बी एड कोर्स को पूरा करने के लिए 2 साल का समय लगता है। इस कोर्स के 2 सालों में सारे विषयों को 4 सेमेस्टर में विभाजित करके पढ़ाया एवं प्रशिक्षण दिया जाता है। B Ed Course करने के बाद स्टूडेंट या कैंडिडेट के अनुभव बढ़ाने के लिए उन्हें स्कूलों में इंटर्नशिप के लिए भेजा जाता है। वहां कैंडिडेट के अच्छे प्रदर्शन को देखकर जॉब के अवसर भी दिए जाते हैं।

B Ed Course Fees in Hindi- बीएड कोर्स की फीस कितनी होती है

बीएड कोर्स की फीस अलग अलग कॉलेजों के ऊपर निर्भर करती है। सरकारी कॉलेजों में प्राइवेट कॉलेजों के मुकाबले कम फीस होती है। बड़ी बड़ी यूनिवर्सिटी में और राज्य स्तर के कॉलेजों की फीस में काफी अंतर होता है। औसत अनुसार सरकारी कॉलेजों में B Ed Course Ki Fees लगभग ₹42,000 से लेकर ₹85,000 तक हो सकती है। जबकि प्राइवेट कॉलेज या संस्था में यह फीस बढ़कर 1.2 लाख रुपए तक भी हो सकती है।

आपको बता दें कि कुछ राज्य स्तर के कॉलेजों में बिना प्रवेश परीक्षा के ही एडमिशन दिया जाता है। कुछ कॉलेजों में जाति प्रमाण पत्र एवं गरीबी प्रमाण पत्र के आधार पर फीस में काफी प्रतिशत की छूट भी दी जाती है। B Ed कोर्स के दौरान स्टूडेंट या कैंडिडेट को स्कॉलरशिप की सुविधा भी उपलब्ध कराई जाती है। आप अपनी सुविधा अनुसार कॉलेज में जाकर उपरोक्त संबंधी पूरी जानकारी ले सकते हैं।

Best College for B Ed Course in India- बीएड कोर्स के लिए प्रमुख कॉलेज

पूरे भारत में कई सारे कॉलेज मौजूद हैं जिनमें बीएड कोर्स कराये जाते हैं। इनमें से कुछ प्रमुख नाम उदाहरणस्वरूप नीचे दिए गए हैं।

  • यूनिवर्सिटी ऑफ दिल्ली
  • यूनिवर्सिटी ऑफ़ लखनऊ (उत्तर प्रदेश)
  • मगध यूनिवर्सिटी (बोध गया) बिहार
  • बेंगलुरु यूनिवर्सिटी (कर्नाटक)
  • तमिल नाडु टीचर्स एजुकेशन यूनिवर्सिटी (चेन्नई)
  • कोलकाता यूनिवर्सिटी
  • कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी (हरियाणा)
  • गवर्नमेंट कॉलेज ऑफ एजुकेशन (चंडीगढ़)
  • डॉ बी आर अंबेडकर यूनिवर्सिटी (हैदराबाद)
  • यूनिवर्सिटी ऑफ कालीकट (केरल)
  • रांची यूनिवर्सिटी (झारखंड)
  • मध्य प्रदेश भोज यूनिवर्सिटी (भोपाल)
  • बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर बिहार यूनिवर्सिटी (मुजफ्फरपुर)
  • गुरु गोविंद सिंह इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी
  • बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी
  • चौधरी चरण सिंह यूनिवर्सिटी (मेरठ)
  • दयानंद विमेंस कॉलेज (देहरादून)
  • बॉम्बे टीचर्स ट्रेनिंग कॉलेज (मुंबई)
  • कस्तूरी राम कॉलेज आफ हायर एजुकेशन (नई दिल्ली)

ये कुछ प्रमुख नाम उदाहरणस्वरूप दिए गए हैं। इनके अलावा भी भारत के हर राज्य में कई सारे कॉलेज मौजूद हैं। आप अपनी सुविधा अनुसार उन कॉलेजों में एडमिशन के लिए आवेदन दे सकते हैं।

B Ed Course Syllabus in Hindi

बी एड कोर्स को 4 सेमेस्टर में विभाजित करके पढ़ाया जाता है। जिसके हर सेमेस्टर में परीक्षा ली जाती है। परीक्षा में सफल होने के बाद ही अगले सेमेस्टर में प्रवेश दिया जाता है। उन चारों सेमेस्टर का विवरण नीचे दिया गया है।

सेमेस्टर 11) ICT in Education
2) Childhood and Growing Up
3) Gender, School and Society
4) Education in Contemporary India
5) Language Across the Curriculum
6) Understanding Self, Personality and Yoga
7) Development and Management in School Education
8) Communication Skill and Expository Writing 
सेमेस्टर 21) ICT Application
2) Fine Arts and Theater
3) Learning and Teaching
4) Assessment for Learning
5) Content and Pedagogy 1
6) Content and Pedagogy 2
7) Pre-Internship
सेमेस्टर 31) Content and Pedagogy 3
2) Content and Pedagogy 4
3) A Simulated Lesson with ICT Mediation
4) Observation of Demonstration Lesson/Video Lesson
5) Simulated Lesson with The Integration of Skill Including Instructional Materials
6) School Internship
सेमेस्टर 41) Knowledge and Curriculum
2) National Concern and Education
3) Guidance and Counseling
4) Creating and Inclusive School
5) Practical Examination 

B Ed करने के बाद क्या करें

बीएड कोर्स करने के बाद स्टूडेंट या कैंडिडेट के पास अच्छे कैरियर विकल्प आ जाते हैं। बीएड डिग्री प्राप्त करने के बाद कैंडिडेट सरकारी एवं प्राइवेट दोनों तरह के स्कूलों में शिक्षक बन सकते हैं। इनमें अच्छा वेतन दिया जाता है और किसी अन्य जॉब या नौकरी के मुकाबले छुट्टियां भी ज्यादा होती हैं। कैंडिडेट B Ed Course करने के बाद जॉब ना करके खुद का इंस्टीट्यूट भी चला सकते हैं।

आपको बता दें कि इस कोर्स को पूरा करने के पश्चात स्टूडेंट या कैंडिडेट को अच्छे कैरियर के लिए चिंता करने की जरूरत नहीं पड़ती है। बी एड कोर्स के बाद मिलने वाले अच्छे कैरियर एवं जॉब अवसरों का विवरण नीचे दिया गया है।

  • निजी प्राइमरी स्कूल
  • गृह अध्यापन
  • शिक्षा परामर्शदाता
  • कोचिंग केंद्र
  • पब्लिशिंग हाउस
  • रिसर्च एंड डेवलपमेंट एजेंसी
  • स्कूल और कॉलेज
  • शिक्षक
  • प्रशासक
  • सहायक डीन
  • सामग्री लेखक
  • सलाहकार
  • पारा शिक्षक
  • शिक्षा शोधक, आदि।

ये भी पढ़ें:

Best Cinematography Course करके Cinematographer कैसे बनें ?एक्टिंग में कैरियर कैसे बनाएं | Actor Kaise Bane in Hindi

B Ed Course Salary

B Ed Course डिग्री धारकों को अच्छी एवं सम्मानजनक सैलरी मिलती है। शुरुआत में स्कूल के शिक्षक, कॉलेज के शिक्षक आदि पदों में औसत अनुसार लगभग ₹15,000 से लेकर ₹25,000 तक प्रति माह वेतन मिल सकता है। इस क्षेत्र में अनुभव के साथ वेतन में भी वृद्धि होती है।

आपको बता दें कि अगर आपको सरकारी शिक्षक के पद में नौकरी मिलती है तो आपको ₹35,000 से लेकर ₹60,000 तक प्रति माह वेतन दिया जाता है। कुल मिलाकर B.Ed Course ग्रेजुएशन के बाद एक अच्छा कैरियर विकल्प कहा जा सकता है। शिक्षण में रुचि रखने वाले स्टूडेंट इस कोर्स का चयन कर सकते हैं।

निष्कर्ष

उम्मीद है B Ed Course Details in Hindi- B Ed Full Form के इस लेख से आपको कोर्स के बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त हुई है। लेख में शामिल जानकारी आपके बेहतर कैरियर को शेप देने में मददगार रहेगी। अगर आपके मन में इस कोर्स से सम्बंधित कुछ प्रश्न हैं जो इस लेख में शामिल नहीं किये गए हैं तो आप हमें कमेंट करके ज़रूर बताएं जिससे हम आपकी मदद कर सकें।

Sharing Is Caring:

Leave a Comment