DPT Course Details in Hindi – फीस, एडमिशन, कॉलेज, जॉब, सैलरी

DPT दो वर्षीय डिप्लोमा लेवल Course है जिसमे छात्रों को फिजियोथेरिपी के बारे में पढ़ाया और सिखाया जाता है। जो छात्र बारहवीं कक्षा पास करने के बाद Physiotherapist बनना चाहते हैं उनके लिए DPT Course बहुत अच्छा माना जाता है क्योंकि इसे आप केवल दो वर्षो में पूरा करके मेडिकल के क्षेत्र में जॉब प्राप्त कर सकते हैं।

DPT Course में छात्रों को मानव शरीर की मांसपेशियों संबंधी परेशानियों को ठीक करना एवं व्यायाम की मदद से मांसपेशियों को स्वस्थ रखना सिखाया जाता है। ताकि वे कोर्स करने के बाद एक फिजियोथैरेपिस्ट के रूप में लोगो का इलाज कर सकें। यदि आपकी रुचि इस कोर्स में हैं तो इसके लिए आपको बारहवीं कक्षा विज्ञान विषय से पास करनी होगी।

12th के बाद DPT Course में किस तरह दाखिला ले सकते हैं इसके बारे में आज हम आपको बताएंगे। इसी के साथ हम, डीपीटी कोर्स की योग्यता, फीस, एडमिशन प्रोसेस के बारे में भी इस आर्टिकल में बताने वाले हैं।

यदि आप ये भी जानना चाहते हैं कि इस कोर्स के बाद आपको कौन कौन सी जॉब मिल सकती है, तो DPT Course Details in Hindi के इस लेख को अंत तक ध्यान से जरूर पढ़ें।

डीपीटी-कोर्स-क्या है-कैसे-करें-DPT-Course-kya-hai-details-in-hindi
DPT Course Kya Hai- Details in Hindi

DPT Course Details in Hindi – डीपीटी क्या है?

कोर्स का नाम(डीपीटी) DPT Course
Full Formडिप्लोमा इन फिजियोथेरेपी (Diploma in Physiotherapy)
कोर्स का प्रकारडिप्लोमा कोर्स
सेमेस्टरचार
अवधिदो वर्ष
योग्यतामान्यता प्राप्त विद्यालय से बारहवीं पास (न्यूनतम 45% अंको के साथ)
प्रवेश प्रक्रियामेरिट/प्रवेश परीक्षा
प्रवेश परीक्षाBCECE, CPPNEE, NILD CET, LPU NEST, IPU CET
फीसनिजी संस्थान : ₹50,000/- से ₹2,50,000/-
सरकारी संस्थान : ₹5,000/- से ₹20,000/-
जॉबरिहैबिलिटेशन स्पेशलिस्ट, रिसर्च असिस्टेंट,
कंसलटेंट, स्पोर्ट्स फिजियोथैरेपिस्ट,
डिफेंस फिजियोथैरेपिस्ट, प्रोफेसर, थेरेपी मैनेजर
सैलरी₹20,000 से ₹40,000 प्रति माह

DPT Kya Hai – DPT Meaning in Hindi

डिप्लोमा इन फिजियोथैरेपी एक Paramedical Course है जिसे कोई भी ऐसा छात्र कर सकता है जो मेडिकल के क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहता है। जो छात्र मांसपेशिय चोटों (Muscles Injury) से पीड़ित और ‌शारीरिक रूप से विकलांग लोगों का इलाज करना चाहता है, उसे DPT Course ज़रूर करना चाहिए।

ये भी पढ़ें…
CHO क्या है | CHO Full Form | All Details
Microbiology me career kaise banaye- Microbiologist kaise bane
MR: MR Full Form, MR Kaise Bane और Top 23 Institutes
Radiology me Career Kaise Banaye | Radiologist Kaise Bane

DPT Course Full Form in Hindi (DPT Physiotherapy)

DPT का फुल फॉर्म (डिप्लोमा इन फिजियोथैरेपी) Diploma in Physiotherapy है। जो भी छात्र, स्कूल की पढ़ाई पूरी करने के बाद यह कोर्स करना चाहते हैं उन्हें इस आर्टिकल में बताई गई योग्यताओं को पूरा करना होगा।

DPT Course की योग्यता (Eligibility Criteria & Qualification)

इस कोर्स की योग्यता का विवरण इस प्रकार है :

  • छात्र, किसी भी मान्यता प्राप्त विद्यालय से 12वीं कक्षा पास किया हुआ होना चाहिए।
  • 12वीं कक्षा में फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी विषय पढ़ा हुआ छात्र या कोर्स कर सकता है।
  • 12वीं कक्षा न्यूनतम 45% अंकों से पास होनी चाहिए।
  • छात्र की न्यूनतम उम्र 17 वर्ष होनी चाहिए।
  • सरकारी इंस्टिट्यूट में दाखिला लेने के लिए छात्र को एंट्रेंस टेस्ट पास करना होगा।

DPT Course Duration – DPT Course कितने साल का होता है

डिप्लोमा इन फिजियोथैरेपी कोर्स केवल 2 वर्ष का होता है। इस कोर्स में छात्रों को 2 वर्षों तक फिजियोथैरेपी का थियोरेटिकल एंड प्रैक्टिकल नॉलेज दिया जाता है। डीपीटी कोर्स में सेमेस्टर परीक्षाएं ली जाती हैं।

एक साल में छात्र को दो बार परीक्षा देनी होती है। इस तरह दो साल में कुल चार सेमेस्टर होते हैं जिसमें दूसरे और चौथे सेमेस्टर में प्रैक्टिकल एग्जाम लिया जाता है। सभी परीक्षाएं पास करने वाले छात्रों को फिजियोथैरेपी में डिप्लोमा प्राप्त होता है।

DPT Course Fees Kitni Hai

डिप्लोमा इन फिजियोथैरेपी का यह कोर्स, आप प्राइवेट और गवर्नमेंट दोनों ही इंस्टिट्यूट से कर सकते हैं। निजी संस्थानों में फीस, सरकारी के मुकाबले थोड़ी ज्यादा होती है और यह सभी निजी कॉलेज में अलग-अलग होती है। इसके अलावा सरकारी इंस्टिट्यूट में आरक्षित वर्ग के छात्रों को फीस में छूट भी दी जाती है।

प्राइवेट इंस्टिट्यूट : यदि हम इस कोर्स के लिए निजी संस्थानों की न्यूनतम एवरेज फीस की बात करें तो यह ₹50,000/- से लेकर ₹2,50,000/- तक हो सकती है।

गवर्नमेंट इंस्टिट्यूट : यदि कोई छात्र यह Course, सरकारी संस्थान से करता है तो इसके लिए न्यूनतम एवरेज फीस ₹5000/- से ₹20,000/- तक हो सकती है।

DPT Course में एडमिशन कैसे लें

यह कोर्स आप निजी और सरकारी दोनों ही संस्थानों से कर सकते हैं। इस कोर्स में 2 तरीके से एडमिशन लिया जाता है पहला मेरिट लिस्ट के आधार पर और दूसरा प्रवेश परीक्षा के आधार पर। अलग-अलग इंस्टिट्यूट की प्रवेश प्रक्रिया अलग होती है।

इस कोर्स में एडमिशन लेने के लिए एप्लीकेशन फॉर्म हर साल मई या जून महीने में निकाले जाते हैं। गवर्नमेंट इंस्टिट्यूट में प्रवेश लेने की इच्छा रखने वाले छात्रों को एंट्रेंस एग्जाम पास करना ही पड़ता है। यदि आप डीपीटी कोर्स में एडमिशन लेना चाहते हैं तो नीचे बताए गए स्टेप्स को फॉलो करें।

  1. आप जिस इंस्टिट्यूट में दाखिला लेना चाहते हैं सबसे पहले उसकी ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर, यह चेक करें कि वहां पर एडमिशन प्रोसेस क्या है।
  2. प्रवेश प्रक्रिया की पूरी जानकारी लेने के बाद उस वेबसाइट पर अपने फोन नंबर और ईमेल आईडी का इस्तेमाल करते हुए रजिस्ट्रेशन पूरा करें।
  3. इसके बाद अपने यूजर आईडी और पासवर्ड से लॉगिन करके एडमिशन के लिए निकाले गए एप्लीकेशन फॉर्म में सभी जरूरी जानकारी ध्यान से भरें।
  4. 10वीं और 12वीं कक्षा में मिले अंकों को और स्कूल के बोर्ड एवं राज्य का नाम ध्यान से भरे।
  5. एप्लीकेशन फॉर्म के साथ मांगे गए सभी डाक्यूमेंट्स को स्कैन करके अपलोड करें।
  6. अपना पासपोर्ट साइज फोटो और क्लियर सिग्नेचर का फोटो इसके साथ अपलोड करें।
  7. जो भी डिटेल आपने भरी है उसे एक बार जांच लें और फॉर्म की फीस का पेमेंट करके सबमिट कर दे।
  8. अब कॉलेज द्वारा मेरिट लिस्ट निकाले जाने का इंतजार करें और लिस्ट में अपना नाम चेक करें।
  9. कॉलेज में जाकर एप्लीकेशन फॉर्म की हार्ड कॉपी के साथ सभी डाक्यूमेंट्स की फोटो कॉपी और फीस जमा करें।

DPT Ke Liye Entrance Exam

  1. Bihar Combined Entrance Competitive Examination
  2. Combined Paramedical Pharmacy and Nursing Entrance Exam
  3. Indraprastha University Common Entrance Test
  4. Lovely Professional University National Entrance and Scholarship Test
  5. National Institute for Locomotor Disabilities Common Entrance Test
ये भी पढ़ें…
X Ray Technician Course Details after 12th: योग्यता, एग्जाम, फीस, सिलेबस, अवधि
OT Technician Course Details in Hindi- Fees, College, Duration, Salary की जानकारी
ECG Technician Course Details in Hindi- ईसीजी टेक्नीशियन कैसे बनें
BNYS Course Details in Hindi- सामान्य Fees में अच्छा कैरियर!

DPT Course Subject List

First YearSecond Year
इंट्रोडक्शन ऑफ फिजियोथैरेपीऑर्थोपेडिक्स
फिजियोलॉजीपैथोलॉजी
एनाटॉमीफार्माकोलॉजी
एलिमेंटल, बायोकेमेस्ट्री, पैथोलॉजी एंड माइक्रोबायोलॉजीमसाज मैनिपुलेशन एक्सरसाइज
एलिमेंटल नर्सिंगफिजिक्स ऑफ लाइट एंड लाइट थेरेपी
बायो मेडिकल वेस्ट मैनेजमेंटफिजिक्स ऑफ इलेक्ट्रिसिटी एंड इलेक्ट्रोथेरेपी
हाइजीन एंड सैनिटेशन, न्यूट्रिशन एंड सैनिटेशनमैनेजमेंट ऑफ मेडिकल इमरजेंसी
कम्युनिटी हेल्थ नर्सिंग एंड कम्युनिकेबल डिजीजहाइड्रो थेरेपी
एनाटॉमी एंड फिजियोलॉजी रिलेवेंट टू फिजियोथैरेपीएलीमेंट्री फिजिक्स एंड माइनर क्राफ्ट्स
मेडिकल एंड सर्जिकल नर्सिंगफिजिकल ड्रिल एंड योगा
डिजास्टर मैनेजमेंटमैनेजमेंट ऑफ सर्जिकल इमरजेंसी

Top Institute For DPT Course

  • किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी
  • मेवाड़ यूनिवर्सिटी, चितौड़गढ़
  • हिंदी इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज
  • मेडिकल कॉलेज कोलकाता
  • अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी
  • गुरु नानक देव यूनिवर्सिटी अमृतसर
  • केटीजी कॉलेज आफ फिजियोथैरेपी बैंगलोर
  • श्रीनिवास यूनिवर्सिटी
  • एसडीएम कॉलेज ऑफ फिजियोथेरेपी, धारवाड़
  • कस्तूरबा मेडिकल कॉलेज, मंगलुरु
  • ओंडा थाना महाविद्यालय

DPT Course Ke Baad Kya Kare

  • यह कोर्स करने के बाद आप किसी सरकारी या निजी फिजियोथेरेपी सेंटर में जॉब के लिए आवेदन कर सकते हैं।
  • यदि आप एक प्रोफेसर बनना चाहते हैं तो आप बैचलर इन फिजियोथैरेपी कोर्स करने के बाद टीचर ट्रेनिंग ले सकते हैं।
  • बीपीटी कोर्स के बाद यदि आप बैचलर इन फिजियोथैरेपी कोर्स में एडमिशन लेते हैं तो आपको सेकंड ईयर में प्रवेश मिल जाता है।
  • डिप्लोमा इन फिजियोथेरेपी कोर्स करने के बाद यदि आप सेल्फ एंप्लॉयड होना चाहते हैं तो आप खुद का फिजियोथैरेपी सेंटर भी खोल सकते हैं।
Also Read…
CNC Operator कैसे बनें : सीएनसी के 6 Best Points जो आपको जानने चाहिए।
Wine Tasting मे कैरियर कैसे बनाएं : 1 of the best job ever!
How to become Ice Cream Taster (कैसे बनें)?

DPT Ke Baad Job Profile aur Salary

डीपीटी पूरा करने के बाद छात्र विभिन्न निजी और सरकारी संस्थानों में जॉब प्राप्त कर सकते हैं। यह कोर्स करने के बाद आगे ग्रेजुएशन और टीचर ट्रेनिंग लेकर छात्र स्कूल और कॉलेज में पढ़ा भी सकते हैं। इसके अलावा विभिन्न हेल्थ केयर सेंटर, फिजियोथेरेपी सेंटर या किसी फार्मा इंडस्ट्री में आसानी से नौकरी के लिए आवेदन कर सकते हैं।

यदि आप फिजियोथेरेपी में डिप्लोमा के आधार पर नौकरी करते हैं तो शुरुआत में आपकी सैलरी ₹20,000/- से ₹40,000/- प्रति माह तक हो सकती है। इसके बाद जब आपको कुछ वर्षों का अनुभव हो जाता है तो आप पचास हजार रुपए या इससे ज्यादा भी, हर महीने कमा सकते हैं। डीपीटी कोर्स के बाद यदि जॉब पदों और शुरुआती सैलरी की बात करें तो यह इस प्रकार है।

जॉबएवरेज वेतन प्रतिमाह
रिहैबिलिटेशन स्पेशलिस्ट₹53,522/-
थेरेपी मैनेजर₹37,500/-
रिसर्च असिस्टेंट₹27,653/-
कंसलटेंट₹24,510/-
स्पोर्ट्स फिजियोथैरेपिस्ट₹29,531/-
डिफेंस फिजियोथैरेपिस्ट₹25,500/-
प्रोफेसर₹27,600/-
Source: Internet

FAQs- Diploma in Physiotherapy Course Kya Hai

क्या फिजियोथैरेपिस्ट डॉक्टर बन सकता है?

किसी भी फिजियोथेरेपिस्ट को अपने नाम के आगे डॉक्टर लगाने का अधिकार नहीं है। यदि कोई भी फिजियोथेरेपिस्ट ऐसा करता है तो इस बात को गैरकानूनी माना जाएगा।

ऐसा व्यक्ति व्यायाम के द्वारा मांसपेशियों से जुड़ी किसी भी परेशानी को ठीक कर सकता है लेकिन खुद को एक डॉक्टर के रूप में पेश करने का अधिकार किसी फिजियोथेरेपिस्ट को नहीं है।

डीपीटी कोर्स क्या होता है?

यह एक डिप्लोमा कोर्स है जिसकी फुल फॉर्म डिप्लोमा इन फिजियोथेरेपी है। इस कोर्स का हिंदी में मतलब बहुत डिप्लोमा इन भौतिक चिकित्सा होता है। इसमें छात्रों को फिजियोथेरेपी करने के विभिन्न तरीके सिखाए जाते हैं।

डीपीटी कोर्स 2 वर्षों का कोर्स है जिसमें कुल 4 समेस्टर परीक्षा होती हैं। जिसमें थ्योरी और प्रैक्टिकल दोनों ही परीक्षाएं शामिल है।

फिजियोथैरेपी डिग्री कब तक के लिए होती है?

फिजियोथेरेपी में आप सर्टिफिकेट, डिप्लोमा, डिग्री या मास्टर डिग्री कोई भी कोर्स कर सकते हैं। सभी कोर्स के लिए समय अलग-अलग लगता है। इसमें आपको 6 माह से लेकर 3 साल तक का अलग-अलग कोर्स मिलेगा।

आप अपनी सुविधा और पसंद अनुसार किसी भी कोर्स में दाखिला ले सकते हैं। एक बार यदि आप कोई सर्टिफिकेट या डिग्री प्राप्त कर लेते हैं तो वह जीवन भर के लिए मान्य होता है।

कराची यूनिवर्सिटी में डीपीटी कोर्स के लिए कितना प्रतिशत चाहिए ?

यदि आप पाकिस्तान के वासी हैं और पाकिस्तान में डिप्लोमा इन फिजियोथैरेपी कोर्स करना चाहते हैं तो करांची यूनिवर्सिटी में दाखिला लेने के लिए आपको 12वीं कक्षा न्यूनतम 50% अंकों से पास करना होगा। इसके बाद आपको कराची यूनिवर्सिटी में आसानी से एडमिशन मिल सकता है।

निष्कर्ष

दोस्तों आज हमने आपको डिप्लोमा इन फिजियोथैरेपी कोर्स (DPT Course Details in Hindi) के बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिश की है। यह कोर्स मेडिकल फील्ड में करियर बनाने के लिए एक बेहतरीन कोर्स है। इस कोर्स को करके आप बीस से पच्चीस हजार प्रति माह की सैलरी पर कोई भी अच्छी जॉब प्राप्त कर सकते हैं।

डीपीटी कोर्स करने के बाद यदि आपको जॉब ढूंढने में परेशानी का सामना करना पड़े तो आप सेल्फ एंप्लॉयड फिजियोथैरेपिस्ट भी बन सकते हैं। यह इस कोर्स को करने का सबसे बड़ा फायदा है। उम्मीद है आपको हमारे द्वारा दी गई है जानकारी पसंद आई होगी।

Sharing Is Caring:
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x