ECG Technician Course Details in Hindi- ईसीजी टेक्नीशियन कैसे बनें

आजकल चिकित्सा के क्षेत्र से संबंधित कई सारे कोर्स उपलब्ध हैं जिनके माध्यम से स्टूडेंट अच्छे कैरियर की शुरुवात कर रहे हैं। उनमें से ECG Technician एक अच्छा कैरियर विकल्प माना जाता है। आज इस लेख में इसी कोर्स के बारे में पूरी जानकारी मिलने वाली है। अगर आप भी Paramedical की फील्ड में ईसीजी टेक्नीशियन बनकर अपने कैरियर की शुरुआत करने की सोच रहे हैं तो लेख को अंत तक जरूर पढ़ें।

ECG Technician Course Details in Hindi के इस लेख में कोर्स से संबंधित सारी जानकारी दी गई है जैसे ईसीजी कोर्स क्या है, कोर्स में क्या सिखाया जाता है, कोर्स के फायदे क्या हैं, कोर्स करने के बाद कैरियर विकल्प क्या हैं, कोर्स में एडमिशन कैसे लें, कोर्स करने के बाद सैलरी कितनी होती है, इत्यादि। तो आइए जानते है ECG Course in Hindi को विस्तार से।

ecg-technician-course-details-in-hindi-ecg-technician-kya-hota-hai-ecg-full-form-in-hindi
Doctor smile photo created by creativeart – www.freepik.com

What is ECG Technician Course Details in Hindi | ECG Technician Kya Hota Hai

ईसीजी टेक्नीशियन, पैरामेडिकल की फील्ड का एक बहुत लोकप्रिय कोर्स होता है। इसे पूरा करने के बाद कैंडिडेट मेडिकल फील्ड में Technician के रूप में काम करने में सक्षम बन सकता है। यह कोर्स कुछ समय से काफी ज्यादा डिमांड में हैं क्योंकि जहां भी मेडिकल लैब या हॉस्पिटल में ECG Machine का इस्तेमाल होता है वहां हमेशा ईसीजी टेक्नीशियन की जरूरत पड़ती है।

ये भी पढ़ें:

BCA Course Details in Hindi- Full Form, Duration, Fees in India- हिंदी मेंGNM Course Details in Hindi- GNM Full Form, प्रवेश प्रक्रिया, योग्यता, करियर और वेतन
Radiology Course Details in Hindi- Radiology Meaning in HindiBNYS Course Details in Hindi- BNYS Full Form in Hindi

What is ECG Full Form in Hindi | ई सी जी का फुल फॉर्म

आपको बता दें कि ECG का फुल फॉर्म Electrocardiography (इलेक्ट्रोकॉर्डियोग्राफी) होता है। ईसीजी कोर्स के माध्यम से स्टूडेंट, ईसीजी मशीन यानि इलेक्ट्रोकॉर्डियोग्राफी की मशीन का इस्तेमाल करने की शिक्षा प्राप्त करता है। ECG Technician Course के और भी कई सारे फायदे एवं जानकारी आपको आगे लेख में मिलने वाले हैं।

What is ECG Technician Work | ईसीजी टेक्नीशियन के कार्य

ईसीजी टेक्नीशियन बनने के बाद उसके कार्यों की बात करें तो इसमें ईसीजी टेक्नीशियन, इलेक्ट्रो कार्डियोग्राफ मशीन के माध्यम से मरीज या किसी भी व्यक्ति के शरीर की धड़कन और नसों की इमेज डिजिटल तरीके से देख सकते हैं। यानि सरल भाषा में समझें तो मरीज की धड़कनों को हम ECG मशीन के द्वारा एक ग्राफ के रूप में देख सकते हैं एवं माप सकते हैं।

ईसीजी टेक्नीशियन का काम यहीं खत्म नहीं होता बल्कि उस मशीन में आ रही ईसीजी के रिपोर्ट को सही तरीके से तैयार करके डॉक्टर को देना भी होता है। इसके अलावा ईसीजी टेस्ट के दौरान मरीज की सुरक्षा एवं उसकी सुविधा का भी ध्यान रखना पड़ता है।

आपको यह काम काफी सरल लग रहा होगा पर आपको बता दें कि यह काम थोड़ा सा मुश्किल है। इसलिए ईसीजी टेक्नीशियन कोर्स के माध्यम से इन सभी विषयों पर विस्तार से जानकारी एवं प्रशिक्षण दिया जाता है। इस कोर्स में एडमिशन और इसके योग्यता के बारे में हम आगे पढ़ने वाले हैं।

Types of ECG Technician Course Hindi | ईसीजी कोर्स के प्रकार

चिकित्सा के क्षेत्र में बढ़ती उन्नति को देखते हुए हर एक चीज को इस फील्ड में सिखाने के लिए अलग अलग स्पेशल कोर्स करवाए जाते हैं। ईसीजी टेक्नीशियन कोर्स भी उनमें से एक खास कोर्स माना जाता है। इसे मुख्यत: दो भागों में विभाजित किया गया है।

  • सर्टिफिकेट इन ईसीजी टेक्निशियन (Certificate in ECG Technician)
  • डिप्लोमा इन ईसीजी टेक्निशियन (Diploma in ECG Technician)

आपको जानकारी के लिए बता दें कि सर्टिफिकेट कोर्स के मुकाबले डिप्लोमा इन ईसीजी टेक्निशियन कोर्स को इस क्षेत्र में ज्यादा महत्व दिया जाता है। और इसमें समय और फीस भी ज्यादा लगती है।

ECG Technician Course Benefits in Hindi | कोर्स के फायदे

ईसीजी टेक्नीशियन कोर्स के कई सारे फायदे हैं। इस कोर्स के माध्यम से स्टूडेंट या कैंडिडेट ईसीजी मशीन के बारे में संपूर्ण जानकारी प्राप्त कर पता है। चिकित्सा क्षेत्र में ईसीजी तकनीक काफी ज्यादा महत्व रखती है। इस कोर्स को पूरा करने के बाद स्टूडेंट या कैंडिडेट को जॉब के लिए ज्यादा चक्कर काटने की जरूरत नहीं पड़ती है।

इस कोर्स के बाद कॉलेज या संस्था द्वारा 6 महीने की इंटर्नशिप करवाई जाती है, जिसमें कैंडिडेट के परफॉरमेंस और टैलेंट को देख कर उसी हॉस्पिटल या किसी दूसरे हॉस्पिटल में जॉब दे दी जाती है। इसके अलावा और भी कई सारे क्षेत्रों में जॉब के अवसर प्रदान किए जाते हैं। यानि कुल मिलाकर ईसीजी टेक्नीशियन कोर्स करने के कई सारे फायदे हैं।

ECG Technician Course Eligibility | ECG Technician Kaise Bane in Hindi

ईसीजी टेक्नीशियन कोर्स में प्रवेश करने के लिए कुछ योग्यताओं का होना अनिवार्य है। इन योग्यताओं के बिना आप यह कोर्स नहीं कर सकते हैं। योग्यताओं और शर्तों का विवरण नीचे दिया गया है:

  • स्टूडेंट या कैंडिडेट को किसी भी मान्यता प्राप्त कॉलेज या स्कूल से 10 वीं या 12 वीं पास करना होगा।
  • 10 वीं पास कैंडिडेट को सिर्फ़ सर्टिफिकेट ईसीजी टेक्नीशियन कोर्स में ही एडमिशन मिल सकता है।
  • 12 वीं पास स्टूडेंट को डिप्लोमा ईसीजी टेक्नीशियन कोर्स के योग्य माना जाता है।
  • स्टूडेंट को 12 वीं में कम से कम 45 प्रतिशत अंक प्राप्त होने चाहिए।
  • 12 वीं में कोई खास विषय का होना अनिवार्य नहीं है।
  • स्टूडेंट किसी भी विषय में 12 वीं पास होना चाहिए।
  • स्टूडेंट या कैंडिडेट की उम्र कम से कम 17 वर्ष होना अनिवार्य है।
  • स्टूडेंट शारीरिक रूप से स्वस्थ होना चाहिए।
  • एडमिशन के लिए प्रवेश परीक्षा पास करना अनिवार्य है।

इन सभी नियमों और शर्तों के साथ ही स्टूडेंट या कैंडिडेट को ईसीजी टेक्नीशियन कोर्स के योग्य माना जाता है।

ECG Technician Course Entrance Exam – Admission Details in Hindi

ईसीजी टेक्नीशियन कोर्स में एडमिशन लेने के लिए स्टूडेंट को सबसे पहले 10 वीं या 12 वीं पास करने के बाद कॉलेज द्वारा आयोजित ईसीजी टेक्नीशियन के एंट्रेंस एग्जाम (प्रवेश परीक्षा) के लिए आवेदन देना पड़ता है। प्रवेश परीक्षा में सफल होने के बाद कॉलेज द्वारा मेरिट लिस्ट पब्लिश की जाती है। इस मेरिट लिस्ट में स्टूडेंट या कैंडिडेट का नाम ज़रूरी है, नाम आने के बाद ही उन्हें एडमिशन दिया जाता है।

आपको बता दें कि 10 वीं के बाद सर्टिफिकेट ईसीजी टेक्नीशियन कोर्स के लिए एंट्रेंस एग्जाम यानि प्रवेश परीक्षा के बिना ही डायरेक्ट एडमिशन मिल सकता है। लेकिन 12 वीं के बाद डिप्लोम ईसीजी टेक्नीशियन कोर्स के लिए प्रवेश परीक्षा पास करना अनिवार्य होता है। आप इस प्रवेश परीक्षा के लिए ऑनलाइन एवं ऑफलाइन दोनों तरीके से आवेदन दे सकते हैं। आवेदन के दौरान आपको कुछ फीस देनी पड़ सकती है, जिसका कोर्स की फीस से कोई संबंध नहीं है।

ECG Technician Course Duration in Hindi | कोर्स की अवधि

ecg-technician-course-details-in-hindi-ecg-technician-kya-hota-hai-ecg-full-form-in-hindi-ecg-technician-course-hindi
Photo by Towfiqu barbhuiya on Unsplash

जैसा की आपने पहले पढ़ा कि इस कोर्स को दो भागों में बांटकर स्टूडेंट को पढ़ाया जाता है। इन दोनों भागों की अलग अलग मान्यता होती है। सर्टिफिकेट ईसीजी टेक्नीशियन कोर्स को पूरा करने में 1 साल का समय लगता है। जिसमें 2 सेमेस्टर होते हैं।

डिप्लोमा ईसीजी टेक्नीशियन कोर्स को पूरा करने में 2 साल का समय लगता है। जिसमें 4 सेमेस्टर होते हैं। और इसके आखिर में 6 महीने के लिए इंटर्नशिप भी करवाई जाती है ताकि स्टूडेंट ने प्रशिक्षण के दौरान जो भी शिक्षा प्राप्त की है उसका practically अनुभव ले सके और इस क्षेत्र में सक्षम बन सके।

ECG Technician Course Fees in India | ईसीजी टेक्नीशियन कोर्स की फीस

आपको बता दें कि इस कोर्स की फीस हर एक कॉलेज में अलग अलग होती है। सरकारी कॉलेजों और प्राइवेट कॉलेजों की फीस में काफी अंतर होता है। प्राइवेट कॉलेज हमेशा ही कुछ प्रतिशत ज्यादा फीस लेते हैं।

सामान्यत: ईसीजी टेक्नीशियन कोर्स की फीस लगभग ₹40,000 से लेकर ₹70,000 तक प्रति वर्ष होती है। इसमें प्राइवेट कॉलेजों में सरकारी कॉलेजों के मुकाबले ज्यादा फीस ली जाती है। कुछ कॉलेजों में जाति प्रमाण पत्र और गरीबी प्रमाण पत्र के आधार पर फीस में कुछ प्रतिशत की छूट भी दी जाती है।

ECG Technician Course Syllabus and Subjects | ईसीजी टेक्नीशियन कोर्स के मुख्य विषय

आपके मन में एक सवाल आ रहा होगा की इस कोर्स में क्या पढ़ाया जाता है। तो आपको बता दें कि भिन्न भिन्न कॉलेजों में कुछ विषयों को कम या ज्यादा करके पढ़ाया जाता है। इस कोर्स के दौरान पढ़ाए जाने वाले मुख्य विषयों का विवरण नीचे बताया जा रहा है:

  • बायोकेमिस्ट्री
  • ह्यूमन एनाटॉमी
  • रेस्पिरेट्री सिस्टम
  • सेल
  • कार्डियोवैस्कुलर सिस्टम
  • कार्डियोवैस्कुलर डिजीज
  • कार्डियोवैस्कुलर डायग्नोस्टिक
  • स्केलेटल सिस्टम
  • माइक्रोबायोलॉजी
  • इक्विपमेंट्स, आदि।

ये कुछ प्रमुख विषय हैं जिनके बारे में ईसीजी टेक्नीशियन कोर्स में विस्तार से पढ़ाया जाता है एवं प्रशिक्षण दिया जाता है।

Top College for ECG Technician Course in India | कोर्स के लिए प्रमुख कॉलेज

वैसे तो पूरे भारत में कई सारे बेहतरीन कॉलेज हैं जिनमें ईसीजी टेक्नीशियन कोर्स करवाया जाता है। इनमें से कुछ प्रमुख नाम नीचे दिए गए हैं।

  • इंडियन मेडिकल इंस्टिट्यूट ऑफ जालंधर
  • इंस्टीट्यूट आफ एलाइड हेल्थ साइंस कोलकाता
  • दिल्ली पैरामेडिकल एंड मैनेजमेंट इंस्टीट्यूट
  • हमदर्द इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस एंड रिसर्च दिल्ली
  • नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ साइंस एंड रिसर्च दिल्ली
  • रूहेलखंड मेडिकल कॉलेज बरेली
  • एरा मेडिकल कॉलेज लखनऊ

ये कुछ प्रमुख कॉलेजों के नाम उदाहरणस्वरूप दिए गए हैं। इनके अलावा इंडिया में और भी कई सारे कॉलेज एवं संस्थान मौजूद हैं जिनमें ईसीजी टेक्नीशियन कोर्स आयोजित किया जाता है। उन कॉलेजों में आप अपनी सुविधानुसार एडमिशन ले सकते हैं और अपने कैरियर को आगे बढ़ा सकते हैं।

ECG Technician Course Salary in Hindi | ईसीजी टेक्नीशियन कोर्स के बाद कितनी सैलरी मिलती है

ECG Technician Course Details जानने के बाद अब बारी आती है सैलरी की। कोर्स करने के बाद अगर भारत में नौकरी लगती है तो इसकी सैलरी औसत अनुसार एक फ्रेशर कैंडिडेट को लगभग 8 हजार रुपए से लेकर 20 हजार रुपए तक प्रति माह मिल जाती है। कई बार अलग अलग पदों के जॉब में अलग अलग वेतन होता है। इस क्षेत्र में कैंडिडेट के अनुभव और काम करने के तरीके के साथ साथ उनके वेतन में भी वृद्धि होती है।

ये भी पढ़ें:

MR: MR Full Form, MR Kaise Bane और Top 23 InstitutesBAMS Full Form in Medical in Hindi: 12वीं के बाद BAMS में करियर कैसे बनायें- Top 20 College

निष्कर्ष

कुल मिलाकर ईसीजी टेक्नीशियन कोर्स एक अच्छा कैरियर विकल्प माना जा सकता है। इस कोर्स में स्टूडेंट के लिए “डिप्लोमा इन ईसीजी टेक्निशियन” कोर्स का चयन करना फायदेमंद साबित होगा, क्योंकि सर्टिफिकेट कोर्स के मुकाबले डिप्लोमा कोर्स को ज्यादा महत्व दिया जाता है।

साथियों, हमें उम्मीद है कि आपको हमारा यह पोस्ट ‘ECG Technician Course Details in Hindi’ पसंद आया होगा। इस कोर्स के बारे में विस्तृत जानकारी के लिए आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं। हम माँगी गयी जानकारी को इस पोस्ट में शामिल कर लेंगे।  

Sharing Is Caring:

Leave a Comment