CHO क्या है | CHO Full Form | All Details

CHO क्या है | CHO Full Form | All Details: वर्तमान समय में नेशनल हेल्थ मिशन के तहत सभी राज्यों के ग्रामीण इलाकों में Community Health Officer को डॉक्टर के रूप में नियुक्त किया जा रहा है। इसका मुख्य उद्देश्य, प्राइमरी हेल्थ सेंटर के लोगों के लिए बेहतर से बेहतर चिकित्सा व्यवस्था उपलब्ध कराना है। इसी ऑफिसर को CHO (सीएचओ) कहा जाता है।  

what-is-the-full-form-of-cho-full-form-in-medical-english-hindi-nursing-cho-kya-hota-hai-cho-kya-hai-community-health-officer
What is the Full Form of CHO: Image Created at Canva

राज्य सरकार द्वारा सी एच ओ की नियुक्ति के लिए समय-समय पर वैकेंसी निकलती रहती है। इससे जो भी कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर बनना चाहते हैं वह इस प्रक्रिया में आवेदन करके शामिल होते हैं। आज के इस महत्वपूर्ण लेख में आपको CHO Kya Hota Hai और CHO Full Form से सम्बंधित पूरी जानकारी देंगे। इसलिए इस आर्टिकल को ध्यान से पढ़ें।

CHO क्या है | CHO Full Form | All Details

सीएचओ के लिए लगभग हर एक राज्य में भर्तियाँ निकलती रहती हैं। अगर आपने पहले से ही मेडिकल का कोई कोर्स कर रखा है तो आप इस पद के लिए आवेदन दे सकते हैं। बहुत से लोगों को नहीं पता होता कि वो मेडिकल फील्ड के सामान्य कोर्स करके भी अधिकारी बन सकते हैं। इस लेख में आप जानेंगे कि सीएचओ बनने के लिए कौन कौन से कोर्स मान्य हैं, जिनकी मदद से आप CHO Vacancy के लिए आवेदन दे सकते हैं।

CHO का फुल फॉर्म – CHO Full Form      

CHO का फुल फॉर्म ‘Community Health Officer’ है। इसको हिंदी में कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर के नाम से उच्चारित किया जाता है। वैसे इसका लोकप्रिय नाम CHO ही है।  हिंदी में CHO का फुल फॉर्म (अर्थ) ‘सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी’ होता है।

CHO Full Form in Medical FieldCommunity Health Officer
CHO Full Form in Hindiकम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर
CHO Full Form in EnglishCommunity Health Officer
CHO Full Form in Nursing FieldCommunity Health Officer

CHO Kya Hai | CHO Kya Hota Hai | What is CHO in Hindi

सीएचओ को आयुष्मान भारत योजना के तहत लाया गया था। हर राज्य भारत में प्राथमिक स्वास्थ्य व्यवस्था की देखभाल के लिए और स्वास्थ्य व्यवस्था मजबूत करने के लिए सी CHO Post निकाली जाती हैं।

मरीजों की देखभाल और ग्रामीण क्षेत्र के लोगों की छोटी मोटी बीमारियों का उचित उपचार के लिए उच्च केंद्रों में रेफर करने के क्षेत्र में यह अधिकारी अहम भूमिका निभाता है।

इस पद में स्वास्थ्य से जुड़े काम ANM, ASHA, और ग्राम प्रधान के साथ मिलकर करना रहता है। सभी राज्यों में इस ऑफिसर की तैनाती होती है। इस अधिकारी को Mid-level health provider भी कहते हैं।

जो उम्मीदवार सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी बनना चाहते हैं उनको मान्यता प्राप्त कॉलेज से नर्सिंग कोर्स करना रहता है और साथ ही साथ CHO Exam में उत्तीर्ण होना पड़ता है।

Also Read…
BSC Nursing Course Details- BSC Nursing Full Form, Fees, Duration हिंदी में
GNM Course Details in Hindi- GNM Full Form, योग्यता, फीस, करियर और वेतन
ANM Course Details in Hindi- ANM Full Form, Eligibility, Fees, Duration
DMLT Course Details in Hindi- DMLT Full Form, DMLT Course Fees in India
CMLT Ka Full Form Kya Hai | CMLT Course Details in Hindi

CHO के क्या कार्य हैं

ग्रामीण इलाकों में कम्युनिटी हेल्थ ऑफीसर स्वास्थ्य सेवा प्रदान करते हैं। गांव के मरीजों का इलाज करना, दुर्घटना स्थिति में व्यक्ति को प्राथमिक उपचार उपलब्ध कराना, ग्रामीण क्षेत्रों में ओपीडी का संचालन करना, स्वास्थ्य से जुड़े उपचार करना आदि इसके कार्य क्षेत्र में आता है।

सी एच ओ का कार्य, उचित समय पर बच्चों की बीमारियों का इलाज करना और इलाज के दौरान मरीजों से पूछताछ करना भी होता है, जिससे मरीजों की रिपोर्ट बनाने के लिए डाटा एकत्र किया जा सके।

उचित समय पर मरीजों की जांच करना तथा मरीजों की स्थिति के अनुसार चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराना भी सी एच ओ के कार्य में आता है। इसके साथ ही साथ इसका काम मरीजों के आसपास स्वच्छता की जांच करना और साफ़- सफाई की निगरानी रखना होता है।

सी एच ओ के अन्य कार्य इस प्रकार हैं

  • राष्ट्रीय स्वास्थ्य कार्यक्रम
  • स्वास्थ्य सामग्री देखभाल।
  • ओपीडी आधार कार्य।
  • रोग देखभाल।
  • टीम लीडर।
  • बायो मेडिकल वेस्ट कंट्रोल।
  • परिवार नियोजन इत्यादि।

यह सभी कार्य कम्युनिटी हेल्थ ऑफीसर का होता है।

CHO  के लिए योग्यता- Eligibility

आइए जानते हैं सी एच ओ पद के लिए क्या योग्यताएं होनी चाहिए:

  • उम्मीदवार को सबसे पहले मान्यता प्राप्त संस्थान या कॉलेज से BSc Nursing, GNM Nursing, BAMS, Post Basic Nursing की डिग्री होनी चाहिए।
  • हर राज्य में अलग-अलग उम्र सीमा तय की गई है, परंतु इसमें महिला या पुरुष की अधिकतम आयु 35 वर्ष होनी चाहिए।
  • उम्मीदवार को स्वास्थ्य क्षेत्र में कम से कम 2 वर्ष का एक्सपीरियंस होना अनिवार्य है। मानसिक तौर पर उम्मीदवार बिल्कुल ठीक होना चाहिए।

इसके अलावा आपको बता दें की इस पद की नौकरी के लिए एप्लीकेशन फॉर्म भी भरा जाता है। यह फीस अधिकतम रु. 200/- से रु. 500/- के बीच में होती है। आरक्षित लोगों के लिए इस फीस में छूट मिलती है।

कुछ राज्यों में इस पद के लिए उम्मीदवार से एक्सपीरियंस भी माँगा जाता है। इस स्थिति में, सी एच ओ पद के लिए आयु की कोई लिमिट नहीं होती। इसका मतलब है कि अगर आपके पास एक्सपीरियंस है तो आप एग्जाम में appear हो सकते हैं।

CHO Kaise Bane

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत आने वाली यह एक महत्वपूर्ण पोस्ट है, जो ग्रामीण क्षेत्र के लोगों के लिए बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करवाते हैं।

किसी भी उम्मीदवार को CHO बनने से पहले मान्यता प्राप्त बोर्ड से इंटरमीडिएट की पढ़ाई पूरी करनी होती है। इसमें आप किसी भी सब्जेक्ट (साइंस, आर्ट, कॉमर्स) से पढ़ाई कर सकते हैं।

इंटरमीडिएट की पढ़ाई पूरी करने के बाद उम्मीदवार को BSc Nursing, GNM Nursing, BAMS, आदि में से कोई भी एक कोर्स करना रहता है।

अगर आप BSc Nursing कर रहे हैं तो आपको उसमें Physics Chemistry और Biology subject लेना अनिवार्य होता है।

ऑनलाइन फॉर्म भरने के बाद इसकी परीक्षा आयोजित की जाती है। इस परीक्षा में चाइल्ड हेल्थ नर्सिंग, मेडिकल सर्जिकल नर्सिंग, कम्युनिटी हेल्थ नर्सिंग, बेसिक एनाटॉमी एवं फिजियोलॉजी आदि विषयों से जुड़े सवाल पूछे जाते हैं।

CHO की परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद उम्मीदवार को 6 महीने की ट्रेनिंग दी जाती है। हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर में ट्रेनिंग के पश्चात उम्मीदवार को नौकरी मिल जाती है। दोस्तों आपको बता दूं की हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर का चयन आप अपने हिसाब से कर सकते हैं।

फॉर्म भरते समय आपको हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर का चयन करना रहता है। ट्रेनिंग के दौरान आपकी क्लास भी 3 घंटे की होगी। आपको बता दें कि आपका वेतन ट्रेनिंग के दौरान भी दिया जाएगा।

CHO Ki Salary

सी एच ओ के बारे में हम जान चुके हैं। हमने यह भी बताया की परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद 6 महीने की ट्रेनिंग होती है और इसमें ट्रेनिंग के दौरान वेतन मिलता है।

CHO- कम्युनिटी हेल्थ ऑफीसर की सैलेरी रु. 25000 प्रतिमाह होती है।  इसके अलावा अगर आप अच्छा काम करते हैं तो आप को प्रोत्साहन राशि के रूप में  रु. 15000 अतिरिक्त दिए जाते हैं। सी एच ओ की सैलरी अलग-अलग राज्यों अलग अलग होती है।

कम्युनिटी हेल्थ ऑफीसर के रूप में 6 वर्ष अच्छा काम करने के पश्चात  इस पोस्ट को परमानेंट कर दिया जाता है। इसके अलावा 6 वर्ष पूरा करने के बाद प्रतियोगिता परीक्षा में पास हो कर आप प्रमोशन भी पा सकते हैं।

कम्युनिटी हेल्थ ऑफीसर की सैलरी कर्नाटक राज्य में ₹32500 प्रति माह है। छत्तीसगढ़ में कम्युनिटी हेल्थ ऑफीसर की सैलेरी 31500 प्रतिमाह है।

उत्तर प्रदेश में ₹25000 प्रति माह कम्युनिटी हेल्थ ऑफीसर की सैलेरी है। और महाराष्ट्र एवं मध्य प्रदेश में ₹40000 प्रति माह कम्युनिटी हेल्थ ऑफीसर की सैलेरी है।

Also Read…
MR: MR Full Form, MR Kaise Bane और Top 23 Institutes
बैक्टेरियोलोजिस्ट कैसे बनें | How to become Bacteriologist?
नेत्र सहायक- Ophthalmic Technician Kaise Bane | How to become Ophthalmic Technician in Hindi
Physiotherapy में कैरियर कैसे बनाएं | Best Physiotherapy Colleges In India
Radiology me Career Kaise Banaye | Radiologist Kaise Bane

CHO Syllabus

1. Nursing subject details

  • सामुदायिक फार्मेसी और स्वास्थ्य शिक्षा।
  • क्लीनिक फार्मेसी और अस्पताल।
  • शरीर क्रिया विज्ञान एवं मानव संरचना विज्ञान।
  • सामुदायिक फार्मेसी एवं स्वास्थ्य शिक्षा।
  • नर्सिंग के बुनियादी।
  • नर्सिंग प्रबंधन।
  • नर्सिंग में कंप्यूटर।
  • जीव रसायन।
  • नर्सिंग के medical-surgical।
  • कीटाणु विज्ञान।
  • सामुदायिक स्वास्थ्य नर्सिंग।
  • मनोविज्ञान।
  • पर्यावरण स्वच्छता।
  • मानसिक स्वास्थ्य इत्यादि।

2. अंग्रेजी विवरण और सामान्य जागरूकता

  • Current affair and Latest General Awareness.
  • Indian history.
  • News.
  • Indian geography.
  • International sports.
  • Indian parliament.
  • Latest civics.
  • General science.
  • Famous place in India.
  • Latest economic update.
  • Famous day and dates.
  • Latest trending news.
  • Time distance.
  • Fill in the blanks.
  • Sentence improvements.
  • Simple interest.
  • Joining sentence etc.

3. सामान्य योग्यता विवरण

  • अनुपात और अनुपात।
  • औसत।
  • अंकगणित तर्क।
  • समस्या को सुलझाना।
  • समय और दूरी।
  • आयाम।
  • लाभ हानि।
  • वर्क्स एंड टाइम्स इत्यादि

CHO बनने की उम्र सीमा क्या है- CHO Age Limit

सी एच ओ अधिकारी बनने के लिए उम्मीदवार की आयु सीमा राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन द्वारा न्यूनतम 18 वर्ष और अधिकतम 45 वर्ष के मध्य राखी गयी है।

भारत के सभी राज्यों में इसके अलावा ओबीसी, एसटी और एससी वर्ग के उम्मीदवार को आयु में 5 वर्ष की छूट दी जाती है।

CHO क्या परमानेंट नौकरी है?

भारत आयुष्मान योजना के तहत नई गाइडलाइन में कहा गया है कि कम्युनिटी हेल्थ ऑफीसर के रूप में यदि कोई व्यक्ति 6 साल तक कार्य करता है या 6 वर्ष का कार्यकाल पूरा करता है तो उस व्यक्ति को परमानेंट कर दिया जाता है। इसके अलावा वह व्यक्ति 6 वर्ष का कार्यकाल पूरा करके आयोजित प्रतियोगिता में भाग लेकर प्रमोशन भी प्राप्त कर सकता है।

सी एच ओ की नौकरी एक सरकारी नौकरी होती है। कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर पद की नियुक्ति, संविदा के तौर पर की जाती है। कभी कभी कुछ राज्यों में इस की नियुक्ति परमानेंट बेसिस पर भी होती है।  

FAQs– What is the Full Form of CHO

कम्युनिटी हेल्थ ऑफीसर का हिंदी अर्थ क्या है? या हिंदी में क्या कहते हैं ?

सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी।

सी एच ओ का फुल फॉर्म क्या है?

Community Health officer

सी एच ओ की सैलरी कितनी होती है?

सी एच ओ की शुरुआती सैलरी रु. 25000 है।

सी एच ओ कौन है?

सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी।      

Sharing Is Caring:
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x