रेडियोलॉजी में कैरियर कैसे बनाएं | रेडियोलॉजिस्ट कैसे बनें

Radiology me Career कैसे बनायें: दोस्तों, शायद ही कोई होगा जिसने कभी hospital visit नहीं किया हो और उसे X-Ray, Ultrasound आदि के बारे में न पता हो। ये काम Radiology के अंतर्गत आते हैं और जो इन सब कामों मे involve होता है उसे Radiologist कहते हैं। अगर आप Radiology me Career बनाने की सोच रहे हैं तो आपको ये पोस्ट जरूर पढ़ना चाहिए।

Radiology me career कैसे बनायें।
Career in Radiology : Photo by MART PRODUCTION from Pexels

Radiology me Career kaise Banaye :

Radiology me career कैसे बनायें, ये जानने से पहले हमें ये जान लेना चाहिए कि Radiologist का काम क्या होता है? अगर आप इसके काम से वाकिफ हो गए तो आप जान सकते हैं कि Radiology me career बनाने के बाद आपको क्या काम करना होगा।

Radiologist का काम क्या होता है? What Radiologist Do?

Radiologist एक तरह का medical एक्सपर्ट होता है जो medical imaging technique का इस्तेमाल करते हुए, शरीर के अंदर की बीमारियों का पता लगाता है। आपको बता दें कि medical imaging में शरीर के अंदरूनी हिस्सों की तस्वीर ले कर, उसकी analysis की जाती है और इस analysis के आधार पर ही बीमारियों का पता लगाया जाता है। Medical Imaging की इसी technique को Radiology कहते हैं।

Medical Imaging में ली गई तस्वीर आम तस्वीरों से अलग होती है। उदाहरण के तौर पर आप ECG अथवा X-ray की image को ही ले लीजिए। ये तस्वीरें आम तस्वीरों से भिन्न होती हैं।

Radiology में प्रयोग हो रही तकनीक | Techniques used in Radiology

दोस्तों अभी आपने पढ़ा कि Radiology में Medical Imaging का इस्तेमाल होता है। शरीर के विभिन्न हिस्सों की images लेने के लिए अलग अलग मशीनों का इस्तेमाल होता है। Radiology के अंतर्गत इस्तेमाल की जा रही techniques का विवरण मैं आपके साथ साझा कर रहा हूँ

Ultrasound (अल्ट्रासाउण्ड): इस Term से तो आप भली भांति परिचित होंगे। इसे Ultrasonography (अल्ट्रासोनोग्राफी) या फिर सोनोग्राफी के नाम से भी जाना जाता है। इसकी मदद से पथरी (Stone), Gallbladder, और गर्भ की स्थिति और उससे सम्बन्धित बीमारियों का पता लगाया जाता है।

CT Scan (Computerised Tomography): इस विधि से हड्डियों की बीमारियों, आंतरिक चोटों की जानकारी, हृदय रोग, कैंसर आदि के बारे मे पता लगाया जाता है।

X-Ray: X-Ray का इस्तेमाल करके हम पता लगा सकते हैं कि शरीर की अंदर हड्डियों का fracture कहाँ हुआ है, पथरी कहाँ पर है, दांतों में क्या बीमारी है, Tumor की क्या स्थिति है आदि-आदि ।

MRI (Magnetic Resonance Imaging): इस तकनीक में Magnetic Field और Radio waves की मदद से शरीर के अंदरूनी हिस्सों की तस्वीर ली जाते हैं। MRI की मदद से Heart Diseases, Brain Anomalies, Breast Cancer, Lever आदि की बीमारियों का पता लगाने के लिए किया जाता है।

Radiologist on work
Photo by National Cancer Institute on Unsplash

इनके अतिरिक्त भी बहुत सी तकनीक हैं जो Radiology के अंतर्गत आती हैं जैसे कि Nuclear Imaging, Positron emission tomography (PET) और Fluoroscopy. जब आप Radiography me career बनाने के लिए कोर्स करेंगे तब आपको इन सभी Techniques के बारे में सिखाया जाएगा।

Radiology me Career बनाने की शुरुआत कब करें?

दोस्तों, अगर आप Radiology के क्षेत्र में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको 10वीं कक्षा में सोचना पड़ेगा। मैं ऐसा इसलिए कह रहा हूँ क्योंकि 10 वीं कक्षा के बाद ही आपको सोचना होता है कि 12 वीं विज्ञान से करें, आर्ट से करें या फिर कॉमर्स विषय से।

Radiology का कोर्स करने के लिए अभ्यर्थी को किसी भी मान्यता प्राप्त स्कूल से 12 वीं कक्षा, 50% अंकों के साथ विज्ञान विषय के साथ उत्तीर्ण की हुई होनी चाहिए। इसके बाद ही आप किसी भी अच्छे संस्थान से Radiology का Under Graduate Certificate Course कर सकते हैं।

Radiology me Career बनाने के लिए कौन कौन से Course उपलब्ध हैं?

Radiology मे प्रमुखतः 4 तरह के courses उपलब्ध हैं। अपनी आवश्यकता के अनुसार आप किसी भी कोर्स का चयन कर सकते हैं।

  • Certificate Course (सर्टिफिकेट कोर्स)
  • Diploma Course (डिप्लोमा कोर्स)
  • Undergraduate Course (अंडरग्रेजुएट कोर्स)
  • Postgraduate Course (पोस्टग्रेजुएट कोर्स)

Certificate Courses:

इस कोर्स की अवधि 6 माह से लेकर 1 साल की होती है।

  • Certificate in Radiography (सर्टिफिकेट इन रेडिओग्राफी)
  • Certificate in Radiography Diagnostic (सर्टिफिकेट इन रेडिओग्राफी डायगनोस्टिक)
  • Certificate in radiology Assistant (सर्टिफिकेट इन रेडिओलोजी असिस्टेंट)

Diploma Courses:

इस कोर्स की अवधि 2 वर्ष की है।

  • Diploma in Radio diagnostic Technology (डिप्लोमा इन रेडियो डायगनोस्टिक टेक्नोलॉजी)
  • Diploma in Radiography and Radiotherapy (डिप्लोमा इन रेडिओग्राफी एण्ड रेडियोथेरेपी)

Undergraduate Courses:

इस कोर्स की अवधि 3 वर्ष की है।

  • BSc in Radiography (बीएससी इन रेडियोग्राफी)
  • BSc in Medical Radiotherapy Technology (बीएससी इन मेडिकल रेडियोथेरेपी टेक्नोलॉजी)

Postgraduate Courses:

  • MSc in Radiology (एम एस सी इन रेडियोलॉजी)
  • Postgraduate Diploma in Radiotherapy (पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन रेडियोथेरेपी)
  • Postgraduate Diploma in Radiodiagnosis (पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन रेडियोडायग्नोसिस)
  • Postgraduate Diploma in Ultra-sonography and X-Ray Radiography (पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन अल्ट्रा सोनोग्राफी एण्ड एक्स-रे रेडियोग्राफी)
  • MS / MD in Radiodiagnosis (एम एस / एम डी इन रेडियोडायग्नोसिस)

Radiology में कोर्स करने के लिए क्या योग्यता चाहिए | Eligibility Criteria for Radiology Course

India में बहुत सारे संस्थान हैं जो Radiology मे कोर्स ऑफर करते हैं। कोर्स के टाइप के अनुसार सभी संस्थानों नें प्रवेश लेने से पहले eligibility criteria फ़िक्स कर रखें हैं, जिसकी जानकारी नीचे दी गई है :

Certificate Course के लिए Eligibility Criteria

  • Radiology में certificate course करने या diploma करने के लिये अभ्यर्थी को विज्ञान विषय के साथ 12 वीं कक्षा में उत्तीर्ण होना चाहिए।

Undergraduate Radiology Course के लिए Eligibility Criteria

  • Undergraduate Radiology Course करने के लिये अभ्यर्थी को Physics, Chemistry और Biology विषय के साथ 12 वीं कक्षा में उत्तीर्ण होना चाहिए।
  • Radiology में BSc करने के लिए अभ्यर्थी को 12 वीं कक्षा में 50% अंकों के साथ परीक्षा उत्तीर्ण की हुई होनी चाहिए।
  • कुछ राज्यों में उपरोक्त criteria के साथ State Level Entrance Exam भी आयोजित किया जाता है। इसमें पास होने के बाद ही आपको दाखिले के लिए बुलाया जाता है।

Postgraduate Radiology Course के लिए Eligibility Criteria

  • Postgraduate Radiology Courses हेतु दाखिला, डिप्लोमा अथवा Undergraduate Program मे अर्जित किए गए अंकों के आधार पर लिया जा सकता है।
  • उपरोक्त दशा में अभ्यर्थी के डिप्लोमा अथवा Undergraduate Program में कम से कम 50% अंक होने चाहिए।
  • Radiology में MD अथवा MS करने के लिए न्यूनतम योग्यता MBBS+1 वर्ष की इंटर्नशिप है। इसके साथ ही अभ्यर्थी को इस Course में दाखिले के लिए प्रवेश परीक्षा भी पास करनी होगी।

Radiology me Career बनाने के लिए Best Institutes

India मे बहुत से सरकारी एवं प्राइवेट कॉलेज हैं जहाँ Radiology के कोर्स उपलब्ध हैं। आप Radiology me career बनाने के लिए कहीं से भी उपयुक्त course का चयन कर सकते हैं। मैं आपकी जानकारी के लिए India के कुछ top colleges और institutes के नाम दे रहा हूँ, आप इनमें भी radiology का course कर सकते हैं।

  • AIIMS-Delhi (आल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस- दिल्ली)
  • आर्मड फोर्सेस मेडिकल कॉलेज, पुणे
  • डा. बी आर अम्बेडकर मेडिकल कॉलेज, बैंगलुरु
  • गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज, सूरत
  • कलिंग इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस, भूबनेश्वर
  • महाराज अग्रसेंन कॉलेज, अगरोहा
  • इंदिरा गांधी मेडिकल कॉलेज, शिमला
  • महात्मा गांधी मेडिकल कॉलेज एण्ड हॉस्पिटल, जयपुर
  • स्टेनली मेडिकल कॉलेज, चेन्नई
  • स्कूल ऑफ मेडिकल साइंस एण्ड रिसर्च, ग्रेटर नोएडा
  • क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज, लुधियाना
  • मैसूर मेडिकल कॉलेज एण्ड रिसर्च इंस्टिट्यूट, मैसूर
  • पेसिफिक मेडिकल कॉलेज एण्ड हॉस्पिटल, उदयपुर
  • टाटा मेमोरियल हॉस्पिटल, मुम्बई
  • कोयंबटूर मेडिकल कॉलेज, कोयंबटूर

Radiology में जॉब का क्या स्कोप है | Job Scope for Radiologist

A person is thanking to the manager after getting the job as Radiologist
Photo by fauxels from Pexels

वर्तमान में India और Abroad सभी जगह Radiologist की भरपूर डिमांड है। अगर केवल India की बात करें तो लगभग सभी जगह हॉस्पिटल और diagnostic center बहुत तेजी से खुल रहे हैं। इस वजह से Radiology me career बनाना अब बेहद आसान हो गया है।

Radiology में Course complete करके आप किसी भी हॉस्पिटल में अपना आवेदन दे सकते हैं। आप चाहें तो बैंक से लोन ले कर अपना खुद का diagnostic सेंटर भी खोल सकते हैं।

अगर आपने Radiology में किसी अच्छे विषय पर specialization किया है, तब तो आपके लिए Radiology me career बनाना बहुत आसान है। अकेले India में 69000 से भी ज्यादा प्राईवेट और सरकारी हॉस्पिटल हैं। आपको निश्चित तौर पर किसी न किसी हॉस्पिटल में जॉब जरूर मिल जाएगी।

Radiology me career बनने के बाद सैलरी कितनी मिलेगी | Salary of Radiologist

Radiology, कैरियर की दृष्टि से एक बहुत अच्छा विकल्प है। इसमे 10+2 के बाद से ही career बनाने के लिए course उपलब्ध हैं और जॉब के श्रोत भी भरपूर हैं। Radiology me Career बनने की बाद salary कितनी मिलेगी, यह आपकी job के nature पर निर्भर करता है। साथ ही अगर आपकी qualification का लेवल graduate अथवा postgraduate है तो सैलरी बहुत ही अच्छी मिलती है।

उदाहरण के तौर पर मान लीजिए आपने Radiology से MD किया है तो आपकी salary का structure कुछ इस तरह रहेगा:

  • अगर आप प्राईवेट या सरकारी मेडिकल कॉलेज में Teaching के क्षेत्र में जाते हैं तो आपकी एक माह की सैलरी Rs. 1.0 लाख से लेकर 2.0 लाख तक हो सकती है। आपका अनुभव आपको अधिक सैलरी दिलाने में एक महत्वपूर्ण रोल अदा करता है।
  • बड़े बड़े कॉर्पोरेट हॉस्पिटल मे सैलरी काफ़ी अच्छी मिलती है। इसकी राशि Rs. 2.5 लाख से 3.0 लाख तक जा सकती है।
  • आप नामी गिरामी प्राईवेट लैबोरेटरी मे जॉब करके भी लाखों रुपये कमा सकते हैं।
  • खुद का diagnostic सेंटर खोलकर और consultation देकर आप चाहें तो आराम से 8 से 10 लाख रुपये प्रति माह कमा सकते हैं। वैसे यह सब आपकी मेहनत, आपकी Reputation, Hospitals के साथ आपका affiliation और Radiology के टेस्ट कराने वाले मरीजों की संख्या पर निर्भर करता है।

तो दोस्तों, आपने इस पोस्ट मे पढ़ा कि कैसे आप Radiology me Career बना सकते हैं। इसमें सबसे अच्छी बात ये है कि आप हर एक लेवल पर Radiology का कोर्स कर सकते हैं, चाहे वो 10+2 हो, graduation हो या post-graduation हो। कोर्स कम्प्लीट करने के बाद जॉब के अच्छे अवसर भी आसानी से उपलब्ध है।

वैसे भी मेडिकल का क्षेत्र आवश्यक सेवाओं में आता है और इसमे जॉब की कभी कमी नहीं होगी। Radiology में आप अपना career बनाके अच्छी सैलरी पा सकते हैं।

ये भी पढ़ें: एक्टिंग में कैरियर कैसे बनायें

One Response

  1. Yogendra Singh September 26, 2021

Leave a Reply