Diploma क्या होता है | 10वीं, 12वीं के बाद Diploma Kaise Kare

Diploma Kya Hota Hai: जब छात्र स्कूल में पढ़ रहे होते हैं तो वह प्लान बनाते हैं कि 10वीं या 12वीं के बाद उन्हें किस क्षेत्र में अपना करियर बनाना है। इस दौरान वे कई डिग्री और डिप्लोमा Course के बारे में सुनते या पढ़ते हैं। लेकिन किसी भी कोर्स की पूरी जानकारी ना हो पाने के कारण वह कन्फ्यूजन में रहते हैं कि उन्हें जिस क्षेत्र में अपना करियर बनाना है उसके लिए उन्हें कौन सा कोर्स करना चाहिए।

ऐसे ही छात्रों के लिए आज हम Diploma Kya Hota Hai और कैसे करें इसकी पूरी जानकारी लेकर आए हैं। साथ ही हम इस पर चर्चा करेंगे कि डिप्लोमा किसे करना चाहिए और इसके लिए कितनी फीस लगती है।

अगर कोई व्यक्ति डिप्लोमा करता है तो वह किन क्षेत्रों में कितनी सैलरी पर काम कर सकता है इसके बारे में भी इसी लेख में बताया गया है। इसीलिए अगर आप Diploma Course Kya Hai- Details in Hindi के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो लेख को अंत तक पढ़ें।

Contents show

Diploma Kya Hota Hai- What is Diploma Meaning in Hindi

diploma-kya-hota-hai-diploma-kaise-kare-diploma-meaning-in-hindi
Dipolma Kise Kahte Hain | What is Diploma Meaning in Hindi: Image created at Canva

यह एक तरह का सर्टिफिकेट कोर्स होता है, जो किसी कॉलेज या यूनिवर्सिटी द्वारा उन छात्रों को दिया जाता है जो वहां पर किसी भी विषय में अपनी पढ़ाई पूरी करते हैं। दरअसल यह Certificate उन छात्रों को मिलता है जो उस कॉलेज द्वारा उपलब्ध कराए गए किसी भी डिप्लोमा कोर्स में एडमिशन लेते हैं।

Diploma, 10वीं या 12वीं के बाद किया जाने वाला Short Term Course होता है। यह एक ट्रेनिंग कोर्स है जिसमें छात्रों को विभिन्न विषयों में Trained किया जाता है। 8वीं, 10वीं, 12वीं या ग्रेजुएशन के बाद एंट्रेंस एग्जाम देकर डिप्लोमा कोर्स में एडमिशन लिया जा सकता है।

विभिन्न इंस्टीट्यूट अलग-अलग क्षेत्रों में भविष्य बनाने के लिए डिप्लोमा कोर्सेज उपलब्ध करवाते हैं जैसे – इंजीनियरिंग, डिजाइनिंग, टीचिंग, मेडिकल इत्यादि। अधिकतर Technical Diploma Courses, Polytechnic Institutes द्वारा उपलब्ध कराए जाते हैं।

टेक्निकल क्षेत्र में डिप्लोमा (Diploma in Technical Field) प्राप्त करने के बाद छात्र Junior Engineer कहलाते हैं। इसके अलावा टीचिंग के क्षेत्र में डिप्लोमा करने वाले छात्र प्राइमरी स्कूल के टीचर बन सकते हैं।

ये भी पढ़ें:

Diploma करने के लिए योग्यता- डिप्लोमा कैसे करें

Engineering में डिप्लोमा कैसे करें
कोई भी छात्र अगर इंजीनियर बनना चाहता है। तो वह कम समय में इंजीनियरिंग कोर्स पूरा करने के लिए डिप्लोमा कर सकता है। इसके लिए छात्र को किसी भी मान्यता प्राप्त विद्यालय से दसवीं कक्षा पास करनी होगी। 10वीं में न्यूनतम 45% अंक लाना जरूरी है।
Teaching में डिप्लोमा कैसे करें
जो छात्र डिप्लोमा कोर्स करके टीचर बनना चाहते हैं उन्हें किसी भी मान्यता प्राप्त विद्यालय से पहले 12वीं पास करनी होगी। किसी भी विषय से न्यूनतम 40% अंक लाकर 12वीं पास किया हुआ छात्र Teaching में डिप्लोमा कर सकता है।
Medical में डिप्लोमा कैसे करें
मेडिकल क्षेत्र में अपना करियर बनाने के लिए अगर कोई डिप्लोमा करना चाहता है तो उसे पहले 12वीं कक्षा बायोलॉजी विषय लेकर पास करनी होगी। इसी के साथ 12वीं कक्षा में न्यूनतम 50% अंक लाना जरूरी है।
Designing में डिप्लोमा कैसे करें
अलग-अलग प्रकार के डिप्लोमा Designing Course करने के लिए छात्र का किसी भी विद्यालय से 12 वीं पास होना जरूरी है। 12वीं कक्षा में न्यूनतम 45% अंक होने चाहिए।

Diploma Kitne Saal Ka Hota Hai- Course Duration in Hindi

जैसा कि हमने आपको ऊपर बताया है कि आप किसी भी विषय में डिप्लोमा कर सकते हैं। इसमें सबकी अवधि अलग-अलग होती है। पॉलिटेक्निक और आईटीआई संस्थानों द्वारा डिप्लोमा कोर्सेज उपलब्ध कराए जाते हैं। सभी आईटीआई और पॉलिटेक्निक कोर्स की अवधि 6 महीने से लेकर 3 साल तक की होती है।

आईटीआई डिप्लोमा कोर्स की Duration: – अगर केवल आईटीआई कोर्स की बात करें तो यह बहुत ही कम समय में पूरा हो जाता है। आईटीआई के अंदर 6 माह से 2 वर्ष तक के कोर्स  शामिल हैं। किसी विद्यार्थी को आईटीआई का सर्टिफिकेट प्राप्त करने के लिए कितना वर्ष लगेगा, यह इस बात पर निर्भर करता है कि उसने किस Trade में एडमिशन लिया है।

पॉलिटेक्निक डिप्लोमा कोर्स की Duration:-  इसे करने में ज्यादातर 3 वर्ष तक का समय लगता है। 10वीं या 12वीं के बाद पॉलिटेक्निक में एडमिशन लेने के लिए एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी करनी पड़ती है।  डिप्लोमा करने के बाद यदि कोई छात्र 4 वर्षीय डिग्री कोर्स में एडमिशन लेना चाहता है तो उसे सीधा द्वितीय वर्ष में प्रवेश मिल जाता है।

डिप्लोमा कोर्स की फीस – Diploma Course Fees information in Hindi

किसी भी विषय में डिप्लोमा कोर्स किया जा सकता है। सभी कॉलेज विषय के अनुसार ही फीस लेते है। आईटीआई और पॉलीटेक्निक दोनो में ही डिप्लोमा कोर्स के लिए अलग अलग फीस ली जाती है।

अगर हम डिप्लोमा कोर्स के लिए एवरेज फीस की बात करें तो ये रु. 50,000/- से शुरू हो कर रु. 1,00,000/- तक भी हो सकती है। डिप्लोमा कोर्स निजी और सरकारी दोनो ही संस्थानों में उपलब्ध है। दोनो संस्थानों में फीस अलग अलग ली जाती है।

डिप्लोमा कोर्स किसे करना चाहिए- Diploma Karne Ke Fayde

  • जो छात्र थ्योरी से ज्यादा प्रैक्टिकल ट्रेनिंग में विश्वास रखते हैं और प्रैक्टिकल नॉलेज प्राप्त करने में interested हैं उन्हें डिप्लोमा कोर्स जरूर करना चाहिए।
  • डिप्लोमा कोर्स करने के बाद छात्र, निजी और सरकारी क्षेत्र में नौकरी प्राप्त कर सकते हैं। विभिन्न क्षेत्रों में डिप्लोमा कोर्सेज किए हुए छात्रों को उच्च सैलरी पर नौकरी मिलती है।
  • यदि कोई छात्र किसी भी प्रकार का टेक्निकल डिप्लोमा कोर्स करता है तो इसके बाद वह बीटेक के द्वितीय वर्ष में सीधे प्रवेश ले सकता है इसलिए डिप्लोमा कोर्स करना बहुत फायदेमंद है।
  • डिप्लोमा कोर्स करने की सबसे बड़ी खासियत यह है कि इसे आप दसवीं के बाद भी कर सकते हैं और इन्हें पूरा करने में ज्यादा समय भी नहीं लगता। इसलिए जो छात्र कम समय में अच्छी नौकरी प्राप्त करना चाहते हैं वह इस कोर्स को ज़रूर करते हैं।

डिप्लोमा के लिए कौन कौन से Entrance Exam देने होते हैं

सभी राज्यों में छात्रों को डिप्लोमा कोर्सेज में एडमिशन देने के लिए अलग-अलग प्रवेश परीक्षाएं आयोजित की जाती हैं। 10वीं या 12वीं के बाद कोई भी छात्र इन प्रवेश परीक्षाओं के लिए आवेदन कर सकता है।

आप जिस राज्य में रहते हैं उस राज्य के Diploma Course Entrance Exam के लिए तैयारी करके परीक्षा पास कर सकते हैं। इसके बाद आपका एडमिशन किसी भी अच्छे पॉलिटेक्निक कॉलेज में हो जाएगा। यह प्रवेश परीक्षाएं निम्नलिखित है।

Entrance ExamFull Form in HindiEligibility
HP PATहिमाचल प्रदेशकिसी भी मान्यता प्राप्त विद्यालय से 35% अंकों से दसवीं पास
PECEझारखंड
MP PPTमध्य प्रदेश
TS POLYTECतेलंगाना
AP POLYCETआंध्र प्रदेश
ASSAM PATआसाम
APJEEअरुणाचल प्रदेश
DCECEबिहार
JKPETजम्मू एंड कश्मीर

डिप्लोमा कैसे करें- डिप्लोमा कोर्सेज में एडमिशन कैसे लें

डिप्लोमा कोर्सेज में एडमिशन दो तरह से होता है- पहला, 10वीं या 12वीं में मिले अंकों के आधार पर मेरिट लिस्ट तैयार की जाती है और दूसरा एंट्रेंस एग्जाम लेने के बाद एडमिशन दिया जाता है।

सभी राज्यों में और संस्थानों में एडमिशन की प्रक्रिया अलग-अलग होती है। डिप्लोमा कोर्सेज के लिए प्रवेश परीक्षा का आवेदन या फिर संस्थानों में एडमिशन लेने के लिए आवेदन आप ऑनलाइन माध्यम से भी कर सकते हैं। इसके लिए आपको निम्नलिखित स्टेप्स को फॉलो करना होगा।

  • जिस संस्थान में आप प्रवेश लेना चाहते हैं उससे संबंधित बोर्ड की ऑफिशल वेबसाइट पर जाएं।
  • वहां जाकर आपको कोर्स के आवेदन के लिए एप्लीकेशन फॉर्म मिलेगा।
  • एप्लीकेशन फॉर्म में पूरी जानकारी भरकर अप्लाई करें।
  • फॉर्म के साथ जरूरी दस्तावेजों को जोड़ना ना भूलें।
  • यदि उस संस्थान द्वारा एडमिशन लेने के लिए प्रवेश परीक्षा आयोजित की जाती है तो आपको पहले परीक्षा के लिए आवेदन कर के परीक्षा पास करनी होगी।
  • संस्थान द्वारा मेरिट लिस्ट तैयार किए जाने के बाद आपको काउंसलिंग के लिए बुलाया जा सकता है। इसके बाद आपका एडमिशन पूर्ण हो जाएगा।

ये भी पढ़ें:

डिप्लोमा के लिए कौन कौन से कोर्स होते हैं- List of Diploma Course in Hindi

इंजीनियरिंग डिप्लोमा कोर्स
डिप्लोमा इन सिविल इंजीनियरिंगडिप्लोमा इन कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग
डिप्लोमा इन ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंगडिप्लोमा इन केमिकल इंजीनियरिंग
डिप्लोमा इन पैट्रोलियम इंजीनियरिंगडिप्लोमा इन मैकेनिकल इंजीनियरिंग
डिप्लोमा इन टैक्सटाइल इंजीनियरिंगडिप्लोमा इन इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग
डिप्लोमा इन माइनिंग इंजीनियरिंगडिप्लोमा इन एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग
टीचिंग डिप्लोमा कोर्स
एडवांस डिप्लोमा इन नर्सरी टीचर ट्रेनिंगनर्सरी टीचर ट्रेनिंग ऑनलाइन डिप्लोमा कोर्स
डिप्लोमा इन नर्सरी टीचर ट्रेनिंगडिप्लोमा इन एलीमेंट्री एजुकेशन
डिजाइनिंग डिप्लोमा कोर्स
डिप्लोमा इन फैशन डिजाइनडिप्लोमा इन इंटीरियर डिजाइन
एडवांस्ड डिप्लोमा इन फैशन डिजाइनएडवांस्ड डिप्लोमा इन इंटीरियर डिजाइन
पोस्ट ग्रैजुएट डिप्लोमा इन फैशन डिजाइनडिप्लोमा इन टैक्सटाइल डिजाइन
डिप्लोमा इन ज्वेलरी डिजाइनडिप्लोमा इन एनीमेशन एंड मल्टीमीडिया
मेडिकल डिप्लोमा कोर्स
डिप्लोमा इन डायलिसिसडिप्लोमा इन रेडियोलॉजी
डिप्लोमा इन मेडिकल लब टेक्निशियनडिप्लोमा इन इइजी एंड इएमजी टेक्निशियन
डिप्लोमा इन ओटी टेक्निशियनडिप्लोमा इन फिजियोथैरेपी

Diploma Ke Baad Kya Kare Job – कहाँ नौकरी करें

अपनी रुचि अनुसार किसी भी विषय में डिप्लोमा कोर्स करने के बाद आप विभिन्न क्षेत्रों में जॉब प्राप्त कर सकते हैं। डिप्लोमा होल्डर्स के लिए निजी और सरकारी संस्थानों में नौकरी प्राप्त करने के अवसरों की कोई कमी नहीं होती।

पॉलिटेक्निक से किसी भी ट्रेड में टेक्निकल कोर्स किये हुए छात्र, बड़ी बड़ी कंपनी में जूनियर इंजीनियर के रूप में कार्यरत हो सकते हैं। इसके अलावा मेडिकल कोर्स करके आप किसी भी हॉस्पिटल या नर्सिंग होम में नौकरी कर सकते हैं। टीचिंग में डिप्लोमा करने के बाद किसी भी निजी या सरकारी स्कूल में प्राइमरी टीचर के रूप में नियुक हो सकते हैं।

डिप्लोमा करने के बाद सैलरी कितनी मिलेगी- Salary Details

जैसा कि हमने आपको पहले ही बताया है, डिप्लोमा कोर्स किया हुआ छात्र निजी और सरकारी क्षेत्रों में जॉब प्राप्त कर सकता है। डिप्लोमा करने के बाद शुरुआत में ही सैलरी बहुत ज्यादा नहीं होती, लेकिन काम और अनुभव के अनुसार व्यक्ति का प्रमोशन होता है और इस तरह उन्हें उच्च वेतन पर जॉब मिल जाती है।

किसी भी क्षेत्र में डिप्लोमा किए हुए व्यक्ति की शुरुआती सैलरी की बात करें तो यह ₹20,000/- से ₹25,000/- के बीच में होती है। लेकिन तीन-चार सालों के अनुभव के बाद यह सैलरी ₹35,000/- से ₹40,000/- तक हो जाती है। इस तरह आप अंदाजा लगा सकते हैं कि डिप्लोमा होल्डर को किसी काम का जितना ज्यादा अनुभव होता है सैलरी भी उसी हिसाब से मिलती है।

FAQs | Polytechnic Diploma Kya Hai- Diploma Meaning in Hindi

डिप्लोमा कोर्स से क्या होता है?

डिप्लोमा एक अल्पकालिक कोर्स होता है जो बहुत ही कम समय में छात्रों को किसी विशेष विषय या क्षेत्र में माहिर होने के लिए प्रशिक्षण देता है।

इस कोर्स को 10वीं या 12वीं के बाद किया जा सकता है। किसी भी विषय में डिप्लोमा किये हुए छात्र महीने का ₹20,000 से ₹25000 शुरुआत में ही कमाने लगते हैं।

डिप्लोमा करने का क्या फायदा है?

डिप्लोमा करने का सबसे बड़ा फायदा यह है कि आप बहुत से टेक्निकल कोर्स, केवल दसवीं पास करने के बाद ही कर सकते हैं। इन कोर्स के लिए फीस भी बहुत ज्यादा नहीं ली जाती है।

जो भी छात्र कम समय में किसी क्षेत्र में करियर बनाना चाहते हैं उनके लिए डिप्लोमा कोर्स बेहतरीन माना जाता है।

डिप्लोमा में कौन सा कोर्स होता है?

डिप्लोमा में अलग-अलग तरह के कोर्स होते हैं जिनकी अवधि 6 महीने से लेकर 3 साल तक की होती है। कोई भी छात्र जो इंजीनियर, टीचर या डिजाइनर बनना चाहते हैं वह किसी भी ट्रेड में डिप्लोमा कर सकते हैं।

जिस तरह आप किसी भी विषय में डिग्री प्राप्त कर सकते हैं बिल्कुल उसी तरह किसी भी विषय में डिप्लोमा प्राप्त किया जा सकता है।

डिप्लोमा कब किया जाता है?

डिप्लोमा में बहुत सारे कोर्सेज अवेलेबल होते हैं जिन्हें आप 10वीं या 12वीं के बाद कर सकते हैं। आप आईटीआई या पॉलिटेक्निक से डिप्लोमा कर सकते हैं, दोनों के लिए योग्यताएं अलग-अलग होती हैं।

बहुत से छात्र कम समय में जॉब प्राप्त करने के लिए दसवीं के बाद डिप्लोमा कोर्स करना पसंद करते हैं।

निष्कर्ष- Diploma Kya Hota Hai

आज हमने आपको Diploma Kya Hota Hai और कैसे करें इसकी पूरी जानकारी इस आर्टिकल में दी है। डिप्लोमा कोर्स 2 से 3 वर्ष में पूरा हो जाता है और इसके बाद बहुत ही अच्छी सैलरी पर विभिन्न क्षेत्रों जैसे रेलवे, ऑटोमोबाइल कंपनीज, हॉस्पिटल, स्कूल्स कहीं पर भी जॉब प्राप्त की जा सकती है।

ज्यादातर वही छात्र डिप्लोमा कोर्सेज करना पसंद करते हैं जिनके पास नौकरी का इंतजार करने के लिए ज्यादा समय नहीं होता, क्योंकि यदि कोई दसवीं के बाद भी यह कोर्स करता है तो उसे 2 से 3 वर्ष का समय लगता है। इसके बाद वह किसी भी अच्छी कंपनी में जॉब प्राप्त कर सकते हैं।

इसलिए अगर आप भी कम समय में खुद को जॉब करने योग्य बनाना चाहते हैं। तो आपको डिप्लोमा कोर्स करने के बारे में सोचना चाहिए। इस कोर्स के बारे में अधिक जानकारी लेने के लिए आप हमें कमेंट करके सूचित कर सकते हैं। ऐसे ही अन्य कैरियर आप्शन के लिए हमारे ब्लॉग को ज़रूर विजिट करें।  

Sharing Is Caring:
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x