DHP Course क्या है- Diploma in Homeopathic Pharmacy in Hindi

DHP Course Details in Hindi: होम्योपैथी में करियर बनाने के इच्छुक छात्र Diploma in Homeopathic Pharmacy Course करते हैं। इसमें छात्रों को होम्योपैथी दवाइयों का प्रयोग करना एवं उनके फायदे और नुकसान के बारे में बताया जाता है।

इस कोर्स में बताया जाता है: Homeopathic Medicines कैसे बनाई जाती हैं, दवाईयों के लिए कच्चा माल कहाँ से मिलेगा, दवाईयों को स्टोर कैसे करें, मरीजों को कौन सी दवाई किस अनुपात में दें, होमियोपैथी दवाईयों का मानव शरीर पर प्रभाव एवं दुष्प्रभाव, अन्य जानकारी आदि।

इस कोर्स को कोई भी छात्र बारहवीं पास करने के बाद कर सकता है। इसके लिए उन्हें 12th में विज्ञान विषयों से पढ़ाई करनी होती है। Homeopathic Pharmacy Diploma Course करने के बाद छात्रों के पास करियर बनाने के कई अवसर होते हैं। वह किसी निजी या सरकारी हॉस्पिटल में नौकरी प्राप्त कर सकते हैं या फिर अपना खुद का होम्योपैथी मेडिकल स्टोर खोल सकते हैं।

हमारे देश के लाखों लोग होम्योपैथिक दवाओं का इस्तेमाल करना चाहते हैं। इससे आप अंदाजा लगा सकते हैं कि Homeopathic Pharmacy DHP Course का करियर स्कोप कितना अच्छा है।

dhp-diploma-in-homeopathic-pharmacy-course-kya-hai-dhp-course-details-in-hindi
Diploma in Homeopathic Pharmacy- DHP Course Kya Hai: Image Created at Canva

आज हम इस आर्टिकल में आपको Homeopathic Pharmacy Diploma Course की पूरी जानकारी देने वाले हैं। इस कोर्स में दाखिला लेने के लिए आपको किन योग्यताओं को पूरा करना होगा और कितनी फीस का भुगतान करना होगा इसके बारे में जानेंगे।

इसी के साथ DHP कोर्स करने के बाद आप प्रतिमाह कितनी सैलरी प्राप्त कर सकते हैं यह भी इसी लेख में बताएंगे।

DHP Course Details in Hindi- DHP क्या होता है

कोर्स का नामDHP
कोर्स का प्रकारडिप्लोमा
फुल फॉर्मडिप्लोमा इन होम्योपैथिक फार्मेसी
अवधिदो वर्ष
सेमेस्टरचार सेमेस्टर
योग्यतासाइंस स्ट्रीम से बारहवी पास
फीस₹50,000/- से ₹1,50,000/-
जॉबअसिस्टेंट, कंसल्टेंट्स, स्टाफ सेल्समैन, एडवाइजर
जॉब क्षेत्रअस्पताल, क्लीनिक, रिसर्च सेंटर,‌ मेडिकल कंपनी, मेडिकल स्टोर, मेडिकल एजेंसीज
सैलरी₹25,000/- से ₹40,000/- तक

Diploma in Homeopathic Pharmacy (DHP) Course Kya Hota Hai

Diploma in Homeopathic Pharmacy Course, 2 वर्षीय पैरामेडिकल Diploma कोर्स है। इसमें छात्रों को होम्योपैथी चिकित्सा और दवाओं के बारे में Details में सिखाया जाता है।

इसमें छात्रों को होम्योपैथिक दवाइयों के फायदे (Benefits of Homeopathic Medicines) और नुकसान के बारे में बताया जाता है। उन्हें सिखाया जाते है कि किस तरह से इन दवाओं द्वारा विभिन्न बीमारियों को ठीक किया जाता है और इन दवाईयों को किस तरह से बनाया जाता है।

Diploma in Homeopathic Pharmacy Course करने के बाद किसी भी छात्र को होम्योपैथी दवाओं का काफी अच्छा ज्ञान हो जाता है। इसके बाद वे विभिन्न निजी या सरकारी अस्पतालों, रिसर्च सेंटर्स और मेडिकल कंपनी में जॉब प्राप्त कर सकते हैं। अगर वो आगे की पढ़ाई जारी रखना चाहते हैं तो BHMS Course कर सकते हैं।

BHMS Course after 12th- होम्योपैथिक डॉक्टर कैसे बनें

DHP Course Full Form & Eligibility Criteria in Hindi

इस कोर्स का फुल फॉर्म, Diploma in Homeopathic Pharmacy होता है। यदि आप यह कोर्स करना चाहते हैं तो आपको नीचे बताई गई योग्यताओं को पूरा करना होगा।

  • होम्योपैथी फार्मेसी कोर्स करने के लिए छात्र को किसी भी मान्यता प्राप्त विद्यालय से 12वीं कक्षा पास करनी होगी।
  • 12वीं कक्षा में फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी विषय लेकर पढ़ाई करना जरूरी है।
  • लेकिन जिन छात्रों ने विज्ञान के साथ गणित विषय से बारहवीं पास किया है वे भी इस कोर्स में दाखिला लेने योग्य माने जाते हैं।
  • छात्रों को 12वीं कक्षा में न्यूनतम 50% अंकों से पास होना होगा।
  • कुछ इंस्टिट्यूट में इस कोर्स में दाखिला लेने के लिए मेरिट लिस्ट तैयार कराई जाती है। मेरिट लिस्ट में आने वाले छात्रों का दाखिला इस कोर्स में हो जाता है।

Diploma in Homeopathic Pharmacy (DHP) Course Duration

यह कोर्स केवल 2 वर्ष का होता है। पहले वर्ष में थ्योरी और प्रैक्टिकल परीक्षाएं पास करने वाला छात्र द्वितीय वर्ष में प्रवेश ले सकता है।

2 वर्ष के इस डिप्लोमा कोर्स में सभी परीक्षाएं पास करने के बाद छात्र को इस कोर्स में डिप्लोमा प्राप्त होता है। इसमें होम्योपैथिक मेडिसिन के बारे में छात्रों को सैद्धांतिक और प्रायोगिक ज्ञान दिया जाता है।

DHP Course Ki Fees Kitni Hai

यह कोर्स आप प्राइवेट या गवर्नमेंट, किसी भी इंस्टिट्यूट से करते हैं तो आपको समान फीस नहीं देनी होती है। सभी इंस्टीट्यूट का फीस स्ट्रक्चर अलग-अलग होता है।

होम्योपैथिक का फार्मेसी डिप्लोमा कोर्स करने के लिए सभी छोटे बड़े संस्थानों की एवरेज फीस लगभग ₹50,000/- से ₹1,50,000/- तक हो सकती है। ये केवल Tuition Fees है, इसमें हॉस्टल और मेस की फीस शामिल नहीं है।

ये भी पढ़ें…
X Ray Technician Course Details after 12th: योग्यता, एग्जाम, फीस, सिलेबस, अवधि
OT Technician Course Details in Hindi- Fees, College, Duration, Salary की जानकारी
BSc Forestry Course Details- कोर्स की पूरी जानकारी Hindi में
ECG Technician Course Details in Hindi- ईसीजी टेक्नीशियन कैसे बनें
BNYS Course Details in Hindi- सामान्य Fees में अच्छा कैरियर!

  

Pharmacy Homeopathic Diploma Course में एडमिशन कैसे लें

इस कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आप दो तरीके अपना सकते हैं। पहले तरीके में आप ऐसे इंस्टिट्यूट में एडमिशन से ले सकते हैं जहां पर डायरेक्ट एडमिशन होता हो। इस तरह की प्रक्रिया में आप 12वीं कक्षा कम अंको से पास करके भी इन संस्थानों में एडमिशन ले सकते हैं।

कुछ ऐसे इंस्टिट्यूट हैं जो पहले 12वीं कक्षा में मिले हुए अंकों के आधार पर मेरिट लिस्ट तैयार करते हैं। इस तरह 12वीं के अंकों के हिसाब से छात्र को विभिन्न कॉलेज में एडमिशन मिलता है। आप यदि किसी अच्छे और बड़े इंस्टिट्यूट में दाखिला लेना चाहते हैं तो आपको अच्छे अंको से पास होना होगा।

जो छात्र बारहवीं में 80% से ज्यादा अंक लाते हैं, मेरिट के आधार पर उन्हें बहुत ही आसानी से एडमिशन मिल जाता है। इसके अलावा यदि आप 45% से 50% अंक भी लाए हैं तो भी कई प्राइवेट इंस्टिट्यूट में दाखिला मिलना संभव है।

DHP Course Subject & Syllabus Details in Hindi

जैसा कि हमने आपको पहले ही बताया कि Diploma in Homeopathic Pharmacy Course में 2 वर्षों का समय लगता है। पहले वर्ष में आपको निम्नलिखित विषय पढ़ने होते हैं:

DHP First Year Syllabus

  • (प्राथमिक मानव शरीर रचना और शरीर विज्ञान) Elementary Human Anatomy and Physiology
  • (परिचयात्मक होम्योपैथी जैव रसायन और 12 ऊतक उपचार) Introductory Homeopathy Bio-Chemistry and 12 Tissue Remedies
  • (चिकित्सालय विकृति विज्ञान और विष विज्ञान) Clinical Pathology and Toxicology
  • (होम्योपैथिक औषधि बनाने की विद्या फार्मास्यूटिकल रसायन विज्ञान) Homeopathic Pharmaceutics and Pharmaceutical Chemistry -1
  • (स्वास्थ्य शिक्षा और सामुदायिक फार्मेसी) Health Education and Community Pharmacy

ऊपर बताए गए विषयों में आपको थ्योरी और प्रैक्टिकल दोनों ही शिक्षा दी जाती है। फार्मेसी-होम्योपैथिक में डिप्लोमा लेने के लिए दूसरे वर्ष में निम्नलिखित विषय पढ़ने होते हैं:

DHP Second Year Syllabus

  • (होम्योपैथिक औषधि बनाने की विद्या फार्मास्यूटिकल रसायन विज्ञान भाग 2) Homeopathic Pharmaceutics and Pharmaceutical Chemistry -2
  • (प्राकृतिक स्रोतों से दवाओं का अध्ययन) Pharmacognosy
  • (औषधीय न्याय शास्त्र) Pharmaceutical Jurisprudence
  • (अस्पताल और चिकित्सालय ​​​​फार्मेसी) Hospital and Clinical Pharmacy
  • (दवा की दुकान और बिज़नेस प्रबंधन) Drug Store and Business Management

Diploma in Homeopathic Pharmacy Course कहाँ से करें- Top Institutes

वैसे तो फार्मेसी-होम्योपैथिक कोर्स करने के लिए हमारे देश, भारत में बहुत सारे अच्छे कॉलेज मौजूद हैं। इनमें से कुछ सरकारी हैं और कुछ प्राइवेट। आप अपने मनपसंद किसी भी इंस्टिट्यूट में दाखिला लेकर यह कोर्स कर सकते हैं। इस लेख में हम आपको दस ऐसे इंस्टिट्यूट का नाम बताएंगे जो डीएचपी कोर्स के लिए काफी बेहतर माने जाते हैं।

  • इंस्टीट्यूट ऑफ पैरामेडिकल साइंस एंड रिसर्च ग्रुप ऑफ़ इंस्टीट्यूट – लखनऊ, उत्तर प्रदेश
  • आर्यकुल ग्रुप ऑफ कॉलेज – लखनऊ, उत्तर प्रदेश
  • प्रतिक्षा इंस्टिट्यूट ऑफ़ फार्मेसी – गुवाहाटी, आसाम
  • महादेवा लाल स्क्रॉफ कॉलेज ऑफ फार्मेसी – औरंगाबाद, बिहार
  • कोलंबिया स्कूल ऑफ़ फार्मेसी – रायपुर, छत्तीसगढ़
  • आनंद फार्मेसी कॉलेज – आनंद, गुजरात
  • एमडी कॉलेज ऑफ फार्मेसी – गुड़गांव, हरियाणा
  • केशव कॉलेज ऑफ फार्मेसी – सालवान, हरियाणा
  • यूनाइटेड स्टेट्यूट ऑफ फार्मेसी – कुरुक्षेत्र, हरियाणा
  • सर्वोदय कॉलेज ऑफ़ फार्मेसी – चरखी दादरी, हरियाणा

डीएचपी कोर्स के बाद कहाँ जॉब मिलेगी

होम्योपैथिक के फार्मेसी कोर्स में डिप्लोमा प्राप्त करने के बाद नौकरी के अवसरों की कोई कमी नहीं रहती। यह कोर्स किया हुआ छात्र विभिन्न सरकारी एवं निजी हॉस्पिटल या क्लीनिक में नौकरी प्राप्त कर सकते हैं।

यदि यह कोर्स के बाद नौकरी मिलने में कठिनाई भी होती है, तो इस कोर्स का सबसे बड़ा फायदा यह है कि होम्योपैथिक दवाइयों का पूरा ज्ञान हो जाने के बाद कोई भी व्यक्ति अपना खुद का  मेडिकल स्टोर भी खोल सकता है।

होम्योपैथिक डिप्लोमा इन फार्मेसी कोर्स करने के बाद आप निम्नलिखित पदों पर जॉब प्राप्त कर सकते हैं

  • स्टाफ
  • सेल्समैन
  • कंसलटेंट
  • एडवाइजर
  • मैनेजर
  • असिस्टेंट

Job Area After Diploma in Homeopathic Pharmacy Course

  • प्राइवेट हॉस्पिटल
  • गवर्नमेंट हॉस्पिटल
  • रिसर्च सेंटर
  • क्लिनिक्स
  • मेडिकल एजेंसीज
  • मेडिकल स्टोर्स
  • मेडिकल कंपनी

Top Recruiters

  • आईसीआईसी बैंक
  • इलाहाबाद बैंक
  • एक्सिस बैंक
  • मारुती सुजुकी
  • एअरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया
  • रिलायंस इंडस्ट्रीज

DHP Course Ke Baad Salary Kitni Milegi

होम्योपैथिक से फार्मेसी में डिप्लोमा प्राप्त करने के बाद आपको कितनी सैलरी मिलेगी यह पूरी तरह से ही इस बात पर निर्भर करता है कि आप किस कंपनी में, किस पद पर नौकरी कर रहे हैं।

आपकी सैलरी, इस बात पर भी निर्भर करती है कि आपको काम का कितना अनुभव है। अनुभव के साथ नौकरी का पद और सैलरी दोनों ही बढ़ जाते हैं। इस कोर्स के बाद एवरेज सैलेरी ₹25,000/- से ₹40,000/- तक हो सकती है।

ये भी पढ़ें…
CHO क्या है | CHO Full Form | All Details
नेत्र सहायक- Ophthalmic Technician Kaise Bane | How to become Ophthalmic Technician in Hindi
Microbiology me career kaise banaye- Microbiologist kaise bane
MR: MR Full Form, MR Kaise Bane और Top 23 Institutes
Radiology me Career Kaise Banaye | Radiologist Kaise Bane

Diploma in Homeopathic Pharmacy (DHP) Course Ke Baad Kya Kare

  • होम्योपैथिक से फार्मेसी में डिप्लोमा प्राप्त करने के बाद यदि आप जॉब करना चाहते हैं तो ऊपर बताए गए पदों के लिए आवेदन कर सकते हैं।
  • आप होम्योपैथी में और भी ज्यादा बेहतर करियर बनाने के लिए अन्य बैचलर या मास्टर डिग्री कोर्स कर सकते हैं। आप BHMS Course करके और भी बेहतर कैरियर बना सकते हैं।  
  • यह कोर्स करने के बाद आप खुद का होम्योपैथिक मेडिकल स्टोर खोल सकते हैं।

FAQs- Diploma in Homeopathic Pharmacy (DHP) Course in Hindi

डीएचपी क्या होता है?

डीएचपी का मतलब होम्योपैथिक डिप्लोमा इन फार्मेसी होता है। यह पैरामेडिकल डिप्लोमा लेवल कोर्स है। यह कोर्स करने के बाद कोई भी छात्र विभिन्न सरकारी एवं निजी दवा कंपनियों में जॉब प्राप्त कर सकता है।

डीएचपी का फुल फॉर्म क्या है?

डीएचपी का फुल फॉर्म डिप्लोमा इन होम्योपैथिक फार्मेसी है। छात्र, 12 वीं कक्षा विज्ञान विषय से पास करने के बाद, इस मेडिकल डिप्लोमा प्रोग्राम में प्रवेश ले सकते हैं।

डीएचपी कोर्स कितने समय का होता है?

फार्मेसी में होम्योपैथिक डिप्लोमा कोर्स केवल 2 वर्षों का रहता है। इस कोर्स के प्रत्येक वर्ष में कुल पांच विषय होते हैं। इसमें छात्रों को थ्योरी और प्रैक्टिकल, दोनों ही तरह के एग्जाम पास करने होते हैं।

निष्कर्ष – डिप्लोमा इन होम्योपैथिक फार्मेसी कोर्स क्या होता है?

दोस्तों आज हमने DHP Course Details in Hindi के इस लेख में आपको होम्योपैथिक-फार्मेसी में डिप्लोमा कोर्स कैसे करें ये बताया है। उम्मीद है हमारे द्वारा लिखा गया यह लेख पढ़ने के बाद इस कोर्स से जुड़े सभी प्रश्नों का जवाब आपको मिल गया होगा।

कम समय में, मेडिकल क्षेत्र में अपना करियर बनाने की इच्छा रखने वाले छात्र यह कोर्स करना पसंद करते हैं। जिन छात्रों की रूचि होम्योपैथिक दवाइयों को जानने के बारे में होती है उनके लिए डीएचपी कोर्स काफी अच्छा माना जाता है।

यदि आपको यह लेख पसंद आया है तो इसे अपने उन दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें, जो यह कोर्स करने के बारे में सोच रहे हैं या फिर यह कोर्स कर रहे हैं।

Sharing Is Caring:
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x