CG Patwari Syllabus 2022: Exam Pattern- पटवारी कैसे बनें

CG Patwari Syllabus 2022, Exam Pattern, Patwari Kaise Bane, How To Become Patwari, Qualifications for Patwari Exam, Age Limit for Patwari Exam, Patwari Exam Syllabus in Hindi, Patwari Exam Ki Taiyari Kaise Kare?

आजकल के समय में लगभग हर व्यक्ति सरकारी नौकरी का सपना देखता है। दरअसल सरकारी नौकरी  की सैलरी, सुख सुविधाएं और नौकरी के बाद की पेंशन लोगों को अपनी तरफ आकर्षित करती है। परंतु सरकारी नौकरी पाने के लिए एक उचित मार्गदर्शन का होना आवश्यक है। किसी भी सरकारी नौकरी के लिए  परीक्षा पास करना भी जरूरी है।

ऐसे में पटवारी बनने के लिए भी आपको राज्य बोर्ड की  परीक्षा पास करनी होगी। लेकिन यदि आप नहीं जानते हैं कि पटवारी बनने के लिए किस प्रक्रिया का पालन करना होगा तो इस आर्टिकल के साथ अंत तक जुड़े रहे। हमारा विश्वास कीजिए हम आपको पटवारी परीक्षा कैसे पास करें और पटवारी कैसे बने संबंधित पूरी जानकारी देने में सक्षम होंगे।

cg-patwari-syllabus-patwari-kaise-bane
Photo by RODNAE Productions from Pexels

पटवारी क्या होता है- Meaning of Patwari in Hindi

Meaning of Patwari in Hindi- लेखपाल
पटवारी कैसे बने की जानकारी लेने से पहले आपको पटवारी क्या है? के बारे में जरूर पता होना चाहिए।  दरअसल पटवारी को लेखपाल के नाम से भी जाना जाता है और यह रेवेन्यू डिपार्टमेंट का ऑफिसर होता है। पटवारी की नियुक्ति ग्रामीण क्षेत्र में की जाती है क्योंकि इसका प्रमुख कार्य ग्रामीण एरिया का रिकॉर्ड रखना होता है।

मतलब कि पटवारी गांव में बेची और खरीदी जाने वाली जमीन के साथ-साथ खेती-बाड़ी से संबंधित जानकारी मुहैया करवाने में भी प्रमुख योगदान देता है। इसके अतिरिक्त पटवारी या लेखपाल residence proof, income certificate और जाति प्रमाण पत्र बनवाने में भी मदद करता है।

ये भी पढ़ें:

पटवारी क्या काम करता है?

एक पटवारी की नियुक्ति गांव में होने के आधार पर उसे कई गांव की जमीन का ब्यौरा रखना होता है। ऐसे में जमीन की जानकारी के अलावा भी पटवारी को कई काम करने होते हैं। अगर गांव में कोई भी भूमि खरीदी और बेची जाती है तो इसका रिकॉर्ड भी पटवारी के पास रहता है।

किसानों की फसल का बीमा प्रदान करने के लिए भी पटवारी द्वारा सहायता की जाती है। साथ ही किसी भी तरह की प्राकृतिक आपदा में पटवारी ही सरकार से मदद मुहैया कराता है। जमीन को दूसरे व्यक्ति के नाम स्थानांतरित करने के लिए भी पटवारी की जरूरत होती है।

Patwari Kaise Bane (How To Become Patwari in Hindi)

पटवारी बनने के लिए सबसे पहले तो आपके पास उचित शैक्षिक योग्यता होनी चाहिए। इसके बाद विभिन्न स्टेट गवर्नमेंट द्वारा पटवारी पद के लिए समय-समय पर भर्ती निकाली जाती है। इस भर्ती में शामिल होने के लिए अभ्यर्थी को सबसे पहले फॉर्म जमा करना होता है। उसके बाद पटवारी भर्ती की परीक्षा ली जाती है और इस परीक्षा को उत्तीर्ण करने के उपरांत पटवारी पद के लिए चयन किया जाता है। आइए जानते हैं कि  पटवारी बनने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए।

पटवारी के लिए योग्यता

  • पटवारी यानी कि सरकारी राजस्व अधिकारी की नौकरी लेने के लिए 10वीं, 12वीं और ग्रेजुएशन की डिग्री होनी जरूरी है।
  • इसके अलावा कई राज्य बोर्ड कंप्यूटर डिप्लोमा अनिवार्य रूप से डिमांड करते हैं।
  • पटवारी बनने के लिए उम्मीदवार का भारत निवासी होना भी आवश्यक है। दरअसल यदि आप भारत के नागरिक हैं, तभी आप पटवारी परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं।

पटवारी के लिए कितनी पढ़ाई चाहिए? (Qualifications for Patwari Exam)

पटवारी के लिए योग्यता की बात की जाए तो यह हर राज्य द्वारा अलग-अलग निर्धारित की जाती है। कई राज्य में बारहवीं कक्षा पूर्ण करने के उपरांत आप पटवारी परीक्षा के लिए योग्य माने जाते हैं। बल्कि विभिन्न राज्य पटवारी भर्ती हेतु ग्रेजुएशन की डिग्री को आवश्यक रखते हैं। अभ्यर्थी अपनी इच्छा अनुसार 12वीं और ग्रेजुएशन की डिग्री में आर्ट्स, कॉमर्स, साइंस और मैथ में से कोई भी सब्जेक्ट चुन सकता है।

इसके अलावा कई स्टेट में Basic Computer Course (Course on Computer Concepts) का सर्टिफिकेट भी मांगा जाता है। पटवारी परीक्षा के लिए बेसिक कंप्यूटर कोर्स के अलावा कंप्यूटर डिप्लोमा भी किया जा सकता है। इसके अतिरिक्त यदि आपने बीसीए, बीएससी कंप्यूटर साइंस या B.E की डिग्री प्राप्त की है तो आपको अलग से कंप्यूटर डिप्लोमा सर्टिफिकेट की आवश्यकता नहीं होगी।

पटवारी बनने के लिए आयु सीमा (Age Limit For Patwari Exam)

पटवारी पद के लिए आवेदन करते समय आवेदन कर्ता की आयु minimum 18 और maximum 40 साल तक निर्धारित की जाती है। हालांकि सरकार द्वारा जाति और आरक्षित कोटे के आधार पर आयु सीमा में छूट देने का भी प्रावधान है।

ये भी पढ़ें:

पटवारी पेपर पैटर्न (Patwari Exam pattern)

पटवारी एग्जाम पैटर्न लगभग हर राज्य में एक जैसा ही होता है। परंतु इनमें थोड़ी बहुत विभिनता देखी जा सकती है। अधिकतर राज्य द्वारा पटवारी परीक्षा ऑफलाइन माध्यम से ही ली जाती है जिसमें ऑब्जेक्टिव टाइप प्रश्न पूछे जाते हैं। हालांकि कई राज्य पटवारी परीक्षा को ऑनलाइन माध्यम से भी आयोजित करते हैं।

पटवारी परीक्षा को 5 भाग में  बांटा जाता है जिसके अंतर्गत General Knowledge, Quantitative Aptitude, Hindi, Panchayati Raj System, और Computer etc शामिल हैं। अधिकतर राज्य में यह परीक्षा 100 अंक की होती है। 100 अंक की इस परीक्षा को हल करने के लिए 90 मिनट का समय दिया जाता हैं।

सबसे खास बात कि पटवारी परीक्षा में गलत उत्तर देने पर भी नेगेटिव मार्किंग नहीं होती है। वैसे भी पटवारी परीक्षा, सिविल परीक्षा की तरह ज्यादा मुश्किल नहीं होती है। परंतु वर्तमान समय में पटवारी परीक्षा में बहुत ज्यादा प्रतिस्पर्धा चल रही है। ऐसे में आप अच्छी प्रैक्टिस और तैयारी करने के उपरांत आसानी से इस परीक्षा में सफलता प्राप्त कर सकते हैं।

पटवारी एग्जाम में अधिकतम अंक प्राप्त करने वाले उम्मीदवार का चयन मेरिट लिस्ट के लिए किया जाता है। पटवारी परीक्षा की अंतिम मेरिट लिस्ट तैयार हो जाने के उपरांत अगला चरण डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन और इंटरव्यू का होता है। इन दोनों स्टेप्स को पूरा करने के बाद ही अभ्यर्थी को पटवारी की ट्रेनिंग प्रदान की जाती है।

पटवारी परीक्षा सिलेबस (CG Patwari Syllabus in Hindi)

cg-patwari-syllabus-patwari-kaise-bane-how-to-become-patwari-in-hindi
Photo by Fotos on Unsplash

Patwari Exam Ki Taiyari Kaise Kare:
पटवारी चयन परीक्षा की तैयारी के लिए सही सिलेबस की जानकारी होना जरूरी है। पटवारी परीक्षा में हिंदी विषय से ग्रामर संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं जैसे कि संधि, काल और शब्द त्रुटि आदि। मैथमेटिक्स विषय से अनुपात, नंबर सिस्टम, समय और कार्य संबंधित प्रश्न आते हैं। अभ्यर्थी को मैथमेटिक्स पर अपनी अच्छी पकड़ बनाने का हर संभव प्रयास करना चाहिए।

कंप्यूटर नॉलेज का पटवारी परीक्षा में अहम योगदान होता है। कंप्यूटर नॉलेज में विद्यार्थी की कंप्यूटर बेसिक, इनपुट और आउटपुट डिवाइस, एमएस वर्ड, एमएस एक्सेल आदि संबंधित नॉलेज चेक की जाती है। जीके और करंट अफेयर में राज्य के जनरल नॉलेज, इंडियन हिस्ट्री, केमिस्ट्री, भारतीय संविधान, स्पोर्ट्स, करंट अफेयर्स जैसे सब्जेक्ट शामिल होते हैं।

पटवारी परीक्षा के panchayat system subject में भारत की पंचायती राज प्रणाली के आरंभ से लेकर सभी प्रकार के अनुच्छेद के बारे में पूछा जाता है। इसके अतिरिक्त अंग्रेजी विषय में अभ्यर्थी की बेसिक नॉलेज को चेक करने के लिए spelling, word meaning और ग्रामर से जुड़े प्रश्न पूछे जाते हैं।

Patwari Exam Syllabus in Hindi

SubjectMarks
Reasoning and Mental Ability, Numerical30
General Knowledge, Current Affairs, General Science, Political Science, Indian Geography25
Culture, Geography, History, State Politics20
General English and Hindi15
Computer Knowledge10

Note: हर राज्य की पटवारी परीक्षा का पैटर्न लगभग एक जैसा होता है। परंतु marks distribution में अंतर देखा जा सकता है। इसलिए marks distribution संबंधित ज्यादा जानकारी लेने के लिए स्टेट बोर्ड की ऑफिशियल वेबसाइट पर विजिट करें।

ये भी पढ़ें:

पटवारी परीक्षा की तैयारी कैसे करें- How to Prepare for Patwari Exam in Hindi

Patwari Pariksha Ki Taiyari Kaise Kare – CG Patwari Syllabus 2022
कोई भी विद्यार्थी जो पटवारी बनना चाहता है उसे सबसे पहले ग्रेजुएशन में अच्छे अंक प्राप्त करने होंगे। इसके उपरांत पटवारी परीक्षा की तैयारी करने के लिए निम्नलिखित बातों का ध्यान रखें।

  • पटवारी परीक्षा की अच्छी तैयारी के लिए उचित टाइम टेबल जरूर बनाएं।
  • सबसे महत्वपूर्ण बात कि पिछले वर्षों के पेपर से परीक्षा पैटर्न को समझने की कोशिश करें।
  • टाइम टेबल के अनुसार प्रतिदिन ज्यादा से ज्यादा प्रैक्टिस करें।
  • पटवारी परीक्षा का रजिस्ट्रेशन शुरू होते ही ऑनलाइन आवेदन जरूर करें।
  • पटवारी परीक्षा की तैयारी के लिए अच्छी किताबों के साथ-साथ इंटरनेट की मदद भी ली जा सकती हैं।
  • साप्ताहिक मॉक टेस्ट जरूर सॉल्व करें ताकि आप वार्षिक परीक्षा में टाइम मैनेजमेंट का भी ख्याल रख सके।
  • पटवारी परीक्षा के सिलेबस को समझते हुए सभी सेक्शन को बराबर से महत्व दें।

पटवारी को कितनी सैलरी मिलती है?

पटवारी एक सरकारी राजस्व अधिकारी होता है जिसकी नियुक्ति चरण C के अंतर्गत की जाती है। पटवारी की 1 महीने की सैलरी कितनी होती है? के बारे में बात की जाए तो यह 5200 रुपए से लेकर 20200 रुपए तक निर्धारित की गई है।

इस मासिक तनख्वाह के अलावा पटवारी को अलग से कई प्रकार के भत्ते के रूप में सुविधाएं दी जाती हैं। वैसे भी हर राज्य में पटवारी की सैलरी अलग-अलग होती है। ऐसे में पटवारी की तनख्वाह के बारे में उचित आंकड़े बता पाना मुश्किल है।

ये भी पढ़ें:

FAQs (Frequently Asked Questions)

पटवारी मतलब क्या होता है?

पटवारी को लेखपाल भी कहा जाता है। यह राजस्व विभाग में ग्राम स्तर का अधिकारी होता है।

लेखपाल और पटवारी में क्या अंतर है?

लेखपाल और पटवारी दोनों एक ही हैं। अलग अलग राज्यों में इन्हें अलग नामों से भी जाना जाता है। इसे कानूनगो भी कहा जाता है।

पटवारी के क्या काम होते हैं?

ग्राम स्तर पर पटवारी का काम आय प्रमाण पत्र, निवास प्रमाण पत्र, जाति प्रमाण पत्र आदि इशू करना है। साथ ही जमीन की खरीद, रजिस्ट्री और बिक्री से सम्बंधित प्रक्रियाओं में भी इसका योगदान होता है।

पटवारी के कामों का निरीक्षण कौन करता है?

राजस्व विभाग के उच्च अधिकारीयों एवं विशेष परिस्थितियों में सरकारी जांच दल द्वारा पटवारी के कामों का निरीक्षण किया जाता है।

निष्कर्ष

तो दोस्तों, आज के इस महत्वपूर्ण आर्टिकल में हमने आपको Patwari Kaise bane, पटवारी बनने के लिए कौन सी परीक्षा देनी पड़ती है?, पटवारी की सैलरी, Patwari Pariksha Ki Taiyari Kaise Kare – CG Patwari Syllabus आदि के बारे में पूरी जानकारी विस्तार से उपलब्ध करवाई है।

हम आशा करते हैं कि आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी CG Patwari Syllabus 2022 Exam Pattern- Patwari Kaise Bane अच्छी लगी होगी। यदि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया हो तो कृपया इसे अपने दोस्तों के साथ ज्यादा से ज्यादा साझा करें ताकि हर व्यक्ति तक पटवारी परीक्षा कैसे पास करें संबंधित सभी जानकारी पहुंच सके।

ये भी पढ़ें:

Sharing Is Caring:

Leave a Comment