BSC Cardiology Course Kya Hai – Full Details in Hindi

BSC Cardiology जिसे बीएससी कार्डियक टेक्नोलॉजी के नाम से भी जाना जाता है, तीन से चार वर्ष का स्नातक कोर्स है। इसका उद्देश्य Cardiac Technology का विकास करना है। जो भी छात्र स्वास्थ्य संबंधित विज्ञान में रूचि रखते हैं उन्हें इस कोर्स के बारे में ज़रूर विचार करना चाहिए।

इस कोर्स को पूर्ण करने वाले युवाओं को निजी और सरकारी दोनों ही तरह के संस्थानों में उच्च वेतन पर नौकरी करने का मौका मिलता है। Cardiac Technician Course करके आप अपने लिए एक बेहतर भविष्य का निर्माण कर सकते हैं।

मानव शरीर में हृदय से संबंधित बहुत सी बीमारियां होती हैं। इनका इलाज करने वाले डॉक्टर को हृदय विशेषज्ञ (Heart Specialist) कहा जाता है। ऐसे ही डॉक्टर्स की मदद के लिए कार्डियक टेक्नीशियन की जरूरत होती है।

Cardiac Care Technician, हृदय में होने वाले रोगों की जांच करते हैं। BSC Cardiology Course को करने वाले छात्रों को इसके लिए हृदय रोग संबंधित सभी उपकरणों का संचालन करना सिखाया जाता है।

अगर आप बीएससी कार्डियोलॉजी कोर्स करके एक अच्छी नौकरी प्राप्त करना चाहते हैं और अपना भविष्य सुरक्षित करना चाहते है तो आप इस लेख को अंत तक अवश्य पढ़िए। इस लेख में हमने आपको BSC Cardiology Course Me Kya Hota Hai इसके बारे में पूरी जानकारी दी है।

BSC Cardiology Course Details in Hindi- BSC Cardiology Kya Hai

bsc-cardiology-kya-hai-bsc-cardiology-course-details-in-hindi-cardiac-care-technician-course
BSC Cardiology Me Career Kaise Banaye: Image Taken from Canva
कोर्सअंडर ग्रेजुएट (स्नातक)
BSC Cardiology Full Formबैचलर ऑफ साइंस इन कार्डियोलॉजी
Course Durationतीन वर्ष से चार वर्ष
कोर्स की फीस2.5 से 3 लाख रुपये
एडमिशन प्रक्रियाएंट्रेंस एग्जाम/मेरिट के आधार पर
जॉब क्षेत्रप्राइवेट और सरकारी हॉस्पिटल, नर्सिंग होम, क्लीनिक, इंस्टिट्यूट
जॉब के पदइको कार्डियोग्राफर, आरवी स्पेशलिस्ट, आईसीयू असिस्टेंट, आरसीआई स्पेशलिस्ट, आरसीई, स्पेशलिस्ट, कैथ लैब टेक्नीशियन, नेफ्रोलॉजिस्ट, डायलिसिस टेक्नीशियन  
एवरेज सैलरी25 से 40 हजार रुपये प्रतिमाह

BSC Cardiology Course Kyon Kare

इस कोर्स का संबंध संबंध हृदय रोग के उपचार से है। यह कोर्स बहुत ही लोकप्रिय एवं प्रतिष्ठित माना जाता है। कार्डियक टेक्नीशियन की मांग कम नहीं हो रही बल्कि बढ़ती ही जा रही है।

बहुत से ऐसे कारण है जिनकी वजह से हृदय रोगियों को संख्या बढ़ती ही जा रही है। ऐसे में उनके इलाज के लिए Cardiologist के साथ साथ कार्डियक टेक्नीशियन की भी बहुत जरूरत है।

इससे आप अंदाजा लगा सकते है कि इस क्षेत्र में अगर आप अपना करियर बनाने का सोच रहे हैं तो आप बिल्कुल सही कर रहे हैं। अगर आप मिसी अच्छे संस्थान से सफलतापूर्वक यह कोर्स कर लेते हैं तो आप शीघ्र ही बहुत अच्छी नौकरी पा सकते हैं।   

यह कोर्स पूरा करने के बाद आप अगर एमएससी या पीएचडी कर लेते है तो आप बड़े बड़े शैक्षणिक संस्थानों में लेक्चरर और प्रोफेसर भी बन सकते हैं। याद रखिये, ये कोर्स आपको बेहतरीन सैलरी वाली मनपसंद जॉब दिलवा सकता है।

ये भी पढ़ें…
X Ray Technician Course Details after 12th: योग्यता, एग्जाम, फीस, सिलेबस, अवधि
OT Technician Course Details in Hindi- Fees, College, Duration, Salary की जानकारी
BSc Forestry Course Details- कोर्स की पूरी जानकारी Hindi में
ECG Technician Course Details in Hindi- ईसीजी टेक्नीशियन कैसे बनें
BNYS Course Details in Hindi- सामान्य Fees में अच्छा कैरियर!

BSC Cardiology Course Eligibility- Cardiac Care Technician Kaise Bane

अगर आप यह कोर्स करने की इच्छा रखते हैं तो आपके सबसे पहले नीचे बताए गई योग्यताओं को पूरा करना होगा। इन योग्यताओं को पूरा करने वाले विद्यार्थी, इस कोर्स में प्रवेश ले सकते हैं।

  • सबसे पहले आपको किसी भी मान्यता प्राप्त विद्यालय से बारहवीं कक्षा पास करनी होगी।
  • आपको दसवीं के बाद ही मेडिकल स्ट्रीम से पढ़ाई करनी होगी अर्थात बारहवीं में फिजिक्स केमिस्ट्री और बायोलॉजी लेना जरूरी है।
  • बारहवीं में आपके पास कम से कम 50% मार्क्स होने चाहिए। अगर आप सरकारी कॉलेज में एडमिशन लेना चाहते हैं तो आपको अच्छे अंकों से 12th Pass करना होगा।
  • इस कोर्स में एडमिशन लेने के लिए छात्र की न्यूनतम उम्र 17 वर्ष निर्धारित की गयी है।

BSC Cardiology Course Kaise Kare- एडमिशन कैसे लें

बीएससी कार्डियोलॉजी कोर्स करने के लिए आप प्राइवेट या सरकारी दोनों ही कॉलेज में एडमिशन ले सकते हैं। बहुत से कॉलेज और यूनिवर्सिटी, छात्रों का एडमिशन लेने के लिए मेरिट लिस्ट का इस्तेमाल करते हैं। इसके अलावा एंट्रेंस एग्जाम पास करने वाले छात्रों को भी कोर्स करने का मौका मिलता है।

अगर आप मेरिट के आधार पर यह कोर्स करना चाहते हैं तो आपको बहुत ही अच्छे अंकों से बारहवीं पास करना होगा। इसके बाद आपको ऐसे इंस्टीट्यूट के बारे में जानकारी लेनी होगी जहाँ इस विधि से छात्रों को प्रवेश दिया जाता है। आपको उस संस्थान में अपना नाम दर्ज करवाना होगा, तभी आपका नाम मेरिट लिस्ट में आ सकता है।

इसके अलावा आपको एंट्रेंस एग्जाम द्वारा एडमिशन लेना है तो हर साल इस कोर्स के लिए विभिन्न संस्थानों द्वारा एंट्रेंस टेस्ट कराए जाते हैं। अगर आप ये टेस्ट पास कर लेते हैं तो आराम से अपने मनपसंद कॉलेज में एडमिशन ले सकते हैं।

BSC Cardiology Course Entrance Exam List

विभिन्न सरकारी और निजी संस्थान, इस कोर्स के लिए एंट्रेंस एग्जाम का आयोजन करवाते हैं। किसी भी एग्जाम देने के लिए सबसे पहले आपको रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। उसके बाद आप एग्जाम में बैठ सकते हैं।

बैचलर ऑफ़ साइंस इन कार्डियोलॉजी कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आप नीचे बताए गए किसी भी एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी करके उसे पास कर सकते हैं। इसे बाद आप इंडिया के टॉप कॉलेजेस में एडमिशन ले सकते हैं।

NEET : यह एक राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा है। कुछ कॉलेज ऐसे हैं जिनमें एडमिशन लेने के लिए आपको 12th ke Baad NEET Exam पास करना होता है। Cardiology Course करने के लिए आप यह परीक्षा पास करके अच्छे संस्थानों में प्रवेश पा सकते हैं।

26 Best Books for NEET Entrance Examination in Hindi!

AIIMS : यह भी राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा है जो हर साल एक बार आयोजित की जाती है। अगर आप बीएससी कार्डियोलॉजी कोर्स करना चाहते हैं तो पहले आप एम्स की परीक्षा उत्तीर्ण कर सकते हैं।

SSSUTM : SSSUMT के द्वारा हर साल प्रवेश परीक्षा आयोजित होती है। इस परीक्षा को पास करने वाले छात्र विभिन्न स्नातक कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं।

Top Institute for BSC Cardiology Course

सरकारी और निजी दोनों ही संस्थान यह कोर्स उपलब्ध कराते हैं। आज हम आपको इंडिया में मौजूद ऐसे टॉप निजी और सरकारी कॉलेजेस एवं यूनिवर्सिटी के नाम बताएंगे जिनमें आप एडमिशन लेकर बीएससी कार्डियोलॉजी कोर्स पूरा कर सकते हैं।

  • सविता मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (कांचीपुरम)
  • एमआईएमएस कॉलेज ऑफ एलाइड हेल्थ कॉलेज (मालापुरम)
  • जेएसएस मेडिकल कॉलेज (मैसूर)
  • मणिपाल एकेडमी ऑफ हायर एजुकेशन
  • येनेपोया मेडिकल कॉलेज (मंगलौर)
  • गवर्नमेंट विल्लुपुरम मेडिकल कॉलेज
  • आर्म्ड फोर्स मेडिकल कॉलेज
  • लोकमान्य तिलक म्युनिसिपल मेडिकल कॉलेज
  • गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज
  • जे.आई.पी.एम.ई.आर (पुडुचेरी)

BSC Cardiology Course Fees

बीएससी कार्डियोलॉजी कोर्स करने वाले छात्रों को हर साल 20 से 40 हजार रूपए फीस जमा करनी पड़ती है। ये फीस अलग अलग कॉलेज और यूनिवर्सिटी के लिए कम या ज्यादा हो सकती है।

Cardiac Technology Course, 3 से 4 वर्ष का होता है। कुछ कॉलेज में आपको ये कोर्स चार वर्ष का भी मिलेगा। अगर आप पूरे कोर्स की फीस देखें तो ये रु. 1,00,000 से लेकर रु. 2,50,000 तक हो सकती है।

BSC Cardiology Course Syllabus

First year

  • एनाटोमी
  • कार्डियक फिजियोलॉजी
  • बायो केमेस्ट्री
  • पैथोलॉजी
  • माइक्रोबायोलॉजी
  • फार्माकोलॉजी
  • मेडिकल इलेक्ट्रॉनिक्स ऑफ कार्डियक टेक्नोलॉजी
  • फंडामेंटल्स ऑफ कंप्यूटर्स

Second Year

  • बेसिक्स ऑफ़ इलेक्ट्रोकार्डियोग्राम
  • एक्सरसाइज ऑफ इलेक्ट्रोकार्डियोग्राम
  • ईको एंड हॉल्टर रिकॉर्डिंग
  • बायोमैटिरियल एंड आर्टिफिशियल ऑर्गन

Third Year

  • कार्डियक कैथराइजेशन बेसिक्स
  • कार्डियक कैथराइजेशन पार्ट 2
  • कार्डियक कैथराइजेशन पार्ट 3
  • हॉस्पिटल एंड पेशेंट रिलेशन मैनेजमेंट
ये भी पढ़ें…
CHO क्या है | CHO Full Form | All Details
नेत्र सहायक- Ophthalmic Technician Kaise Bane | How to become Ophthalmic Technician in Hindi
Microbiology me career kaise banaye- Microbiologist kaise bane
MR: MR Full Form, MR Kaise Bane और Top 23 Institutes
Radiology me Career Kaise Banaye | Radiologist Kaise Bane

Cardiology Jobs after BSC Course

कार्डियोलॉजी से बीएससी करके आपको, बहुत सारे अलग अलग क्षेत्रों में काम करने का मौक़ा मिलता है। यहाँ आपको सैलरी भी बहुत अच्छी मिल जाती है और आपकी स्किल्स के अनुसार काम भी मिलता है।

आप Government और Private Hospital एवं Nursing Home में जॉब कर सकते हैं। अगर आप BSC करने के बाद मास्टर्स की डिग्री प्राप्त कर लेते हैं तो आप और भी उच्च पद प्राप्त कर सकते हैं। यह कोर्स पूर्ण करके आपको निम्नलिखित पदों पर नौकरी करने के अवसर मिलते हैं:

  • इको कार्डियोग्राफर
  • रजिस्टर्ड वैस्कुलर स्पेशलिस्ट
  • आईसीयू असिस्टेंट
  • रजिस्टर्ड कार्डियोवैस्कुलर इनवेसिव स्पेशलिस्ट
  • रजिस्टर्ड कार्डियक इलेक्ट्रोफिजियोलॉजी स्पेशलिस्ट
  • कैथ लैब टेक्नीशियन
  • नेफ्रोलॉजिस्ट
  • डायलिसिस टेक्नीशियन
  • कार्डियोलॉजिस्ट
  • मेडिकल सोनोग्राफर

Salary after BSC Cardiology Course

एक कार्डियक टेक्नीशियन अलग अलग हॉस्पिटल या नर्सिंग होम में जॉब कर सकता है। वह अगर चाहे तो शैक्षणिक संस्थानों में टीचर के रूप में भी कार्य कर सकता है। आप किस क्षेत्र में कार्यरत हैं, सैलरी इसी हिसाब से अलग अलग हो सकती है।

कार्डियोलॉजी का कोर्स करने के बाद आप ऊपर बताए गए विभिन्न पदों पर काम करते हैं। इन पदों में वेतन अलग अलग होता है। अगर साधारण तौर पर देखा जाए तो एक Cardiac Technician Ki salary, रु. 25 हजार से 40 हजार प्रतिमाह होती है।

पद का नामअनुमानित वार्षिक सैलरी
असिस्टेंट प्रोफेसररु. 4.5 लाख़
कंसलटेंट नेफ्रोलोजिस्टरु. 5.8 लाख़
पोस्टडाक्टरल एसोसिएटरु. 5.8 लाख़
कैथ लैब टेक्नीशियनरु. 6.0 लाख़
आईसीयू इन्तेंसिविस्टरु. 6.3 लाख़
मेडिकल सोनोग्राफररु. 6.5 लाख़
कार्डियोलोजिस्टरु. 9.0 लाख़
ईको कार्डियोग्राफररु. 10.0 लाख़
कार्डियोवैस्कुलर इनवेसिव स्पेशलिस्टरु. 12.0 लाख़

Top Recruiters

  • फोर्टिस हॉस्पिटल
  • अपोलो हॉस्पिटल
  • मैक्स हॉस्पिटल
  • AIIMS अस्पताल
  • मनिपाल हॉस्पिटल
  • लीलावती हॉस्पिटल
  • मूलचंद हॉस्पिटल
  • बी एल के सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल
  • नानावती हॉस्पिटल
  • एशियन हार्ट इंस्टिट्यूट
  • मैक्स क्योर हॉस्पिटल
  • कॉन्टिनेंटल हॉस्पिटल

FAQs- BSC Cardiology Course Details in Hindi

1. कार्डियक टेक्नीशियन क्या होता है?

कार्डियक टेक्नीशियन ऐसे ट्रेंड प्रोफेशनल्स होते हैं जो हृदय रोग से संबंधित विभिन्न उपकरणों के संचालन का ज्ञान रखते हैं। इनका काम, हार्ट ट्रीटमेंट के दौरान कार्डियोलॉजिस्ट की मदद करना होता है। हृदय से संबंधित सभी टेस्ट करना इनका काम होता है।

2.कार्डियोलॉजी में बीएससी क्या है?

BSC in Cardiology, एक स्नातक कोर्स है। जिसे पूरा करने में तीन वर्ष का समय लगता है। बारहवीं साइंस स्ट्रीम से पास करने के बाद कोई भी छात्र इसमें एडमिशन ले सकता है और एक सफल कार्डियक टेक्नीशियन बन सकता है।

3. क्या कार्डियोलॉजी के लिए NEET Exam जरूरी है

अगर अपने नीट की परीक्षा पास कर ली है तो आपको किसी भी कॉलेज में एडमिशन आसानी से मिल जाता है। लेकिन कार्डियोलॉजी के लिए नीट परीक्षा पास करनी ही होगी, ऐसा बिल्कुल भी ज़रूरी नहीं है।

आप अन्य एंट्रेंस एग्जाम देकर भी एडमिशन ले सकते है या फिर 12th में मेरिट के बेस पर यह कोर्स कर सकते हैं।

4. मैं कार्डियक केयर टेक्नीशियन कैसे बनूंगा?

अगर आप कार्डियक केयर टेक्नीशियन बनना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको 10+2, साइंस स्ट्रीम से पास करना होगा जिसमें आपको कम से कम 50% अंक लाना अनिवार्य है।

इसके बाद आप बीएससी कार्डियोलॉजी कोर्स कर सकते हैं। इसके बाद आपको  6 Months का इंटर्नशिप करना होगा, फिर आप किसी भी हॉस्पिटल में जॉब के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

निष्कर्ष- Career in BSC Cardiology in Hindi

आज आपने इस लेख में BSC Cardiology Course Details in Hindi के बारे में जाना कि किस तरह आप यह कोर्स करके अलग अलग क्षेत्रों में जॉब प्राप्त कर सकते हैं।

मेडिकल फील्ड में करियर बनाने के इच्छुक छात्रों के लिए यह कोर्स बेहतर ऑप्शन साबित हो सकता है। हॉस्पिटल में बतौर टेक्नीशियन के रूप में काम करने की इच्छा रखने वाले छात्र यह कोर्स जरूर करें।

Sharing Is Caring:
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x