PGT, TGT, Primary Teacher Kaise Bane- Qualification क्या है?

Teacher Kaise Bane: हमारे देश के लाखों छात्र अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद एक शिक्षक के रूप में प्राइवेट या सरकारी विद्यालय में कार्यरत होना चाहते हैं। लेकिन सही जानकारी ना हो पाने के कारण वे यह समझ ही नहीं पाते कि उन्हें Teacher बनने के लिए क्या करना होगा।

Teacher अलग-अलग प्रकार के होते हैं, जैसे प्राइमरी टीचर, ग्रेजुएट टीचर, पोस्ट ग्रेजुएट टीचर आदि। इन सभी के लिए योग्यताएं भी अलग-अलग होती हैं। आप इनमें से किसी भी टीचर की जॉब प्राप्त करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको कुछ कोर्स करने होते हैं और साथ ही कुछ प्रतियोगी परीक्षाएं भी पास करनी होती हैं।

दोस्तों आज हम आपको बताएंगे कि आप 12वीं या फिर ग्रेजुएशन के बाद आप सरकारी और प्राइवेट स्कूल में Teacher Kaise Ban Sakte Hain (टीचर कैसे बन सकते हैं)? सरकारी और प्राइवेट स्कूल के टीचर को कितनी सैलरी मिलती है और इसके लिए उसे कौन सी प्रवेश परीक्षाएं पास करनी होती हैं इसके बारे में भी जानेंगे।

tgt-pgt-primary-government-sarkari-teacher-kaise-bane-in-hindi
TGT PGT Primary Teacher Kaise Bane: Image Created at Canva
Contents show

Teacher कौन होता है- What is Teacher in Hindi

किसी भी विद्यालय में टीचर वह व्यक्ति होता है जो कक्षा में अनुशासन और व्यवस्था बनाए रखते हुए छात्रों को शिक्षा प्रदान करता है। टीचर का काम होता है कि वह अपने प्रत्येक छात्र को उसके लक्ष्य तक पहुंचने के लिए उसका मार्गदर्शन करे।

किसी भी कक्षा में सरकार द्वारा तय किए गए पाठ्यक्रमों को छात्रों को सरल भाषा में समझाना और साल के अंत में होने वाली परीक्षा के लिए प्रत्येक विद्यार्थी को तैयार करना, यह एक अध्यापक की जिम्मेदारी होती है।

किसी भी स्कूल में तीन प्रकार के टीचर होते हैं:

  • प्राइमरी टीचर
  • टीजीटी टीचर
  • पीजीटी टीचर

1. Primary Teacher Banne Ke Liye Qualification- Kaise Bane

प्राइमरी टीचर उन्हें कहा जाता है जो कक्षा 1 से लेकर कक्षा 5 तक के विद्यार्थियों को पढ़ाते हैं। इसके लिए निम्न योग्यताओं को पूरा करना जरूरी है:

योग्यता

  • छात्र बारहवीं कक्षा, किसी भी स्ट्रीम से पास किया हुआ होना चाहिए।
  • बारहवीं में न्यूनतम 50% अंक लाना जरूरी है।
  • 12वीं के बाद D.El.Ed या चार वर्षीय B.Ed करके प्राइमरी टीचर बन सकता है।
  • छात्र को CTET या STET एग्जाम पास करना होगा।

2. TGT Teacher – (Full Form -Trained Graduate Teacher) Ke Liye Qualification

ट्रेंड ग्रेजुएट टीचर उन्हें कहा जाता है जो कक्षा 6 से लेकर कक्षा 10 तक के छात्रों को पढ़ाते हैं। ये टीचर बनने के लिए नीचे बताई गई योग्यताओं को पूरा करना होगा।

योग्यता

  • छात्र, न्यूनतम 50% अंक से बारहवीं पास किया हुआ होना चाहिए।
  • ग्रेजुएशन, किसी भी विषय से न्यूनतम 50% अंकों से पास होना होगा।
  • इसके बाद छात्र को दो वर्षीय बीएड कोर्स करना अनिवार्य है।
  • छात्र को CTET या STET एग्जाम पास करना होगा।

3. PGT Teacher (Full Form Post Graduate Teacher) Ke Liye Qualification Kya Hai

जो अध्यापक ग्यारवीं और बारहवीं कक्षा के छात्रों को पढ़ाते हैं उन्हे पोस्ट ग्रेजुएट टीचर कहा जाता है। यदि आपको भी पीजीटी टीचर बनना है तो निम्न योग्यताओं को पूरा करना अनिवार्य है।

योग्यता

  • छात्र को पहले बारहवीं और फिर ग्रेजुएशन पास करना होगा।
  • इनमें न्यूनतम 50% अंक होने चाहिए।
  • इसके बाद किसी भी विषय से पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त करनी होगी।
  • पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद एक वर्षीय बीएड किया हुआ छात्र ही पीजीटी टीचर बन सकता है।
ये भी पढ़ें…
12th Ke Baad VFX में करियर। VFX Artist Kaise Bane?
Forensic Science Kya Hai | Forensic Scientist Kaise Bane
Software Engineer Kaise Bane in Hindi | Most promising career after 12th!
Film Script Writer Kaise Bane | How to become Film Script Writer in Hindi
नेत्र सहायक- Ophthalmic Technician Kaise Bane | How to become Ophthalmic Technician in Hindi

Teacher Banne Ke Liye Kya Kare (Teacher Kaise Bane)

दोस्तों, ये आर्टिकल पढ़ते हुए आप समझ ही गए होंगे की यदि टीचर बनना है तो बीएड करना ही होगा। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता की अपने  बारहवीं, ग्रेजुएशन या पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त की है, जब तक आप बीएड नहीं करते आप टीचर नहीं बन सकते हैं।

तो चलिए सबसे पहले जानते हैं B.Ed. क्या है और कैसे करें। अगर आप इसके बारे में विस्तार से जानना चाहते हैं तो हमारा यह आर्टिकल पढ़ सकते हैं: B Ed Course क्या है- योग्यता, फीस, अवधि Details in Hindi

B.Ed करने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए – समय कितना लगेगा

1.After 12th – जो छात्र बारहवीं के बाद टीचर बनना चाहते हैं उन्हे चार वर्ष का बीएड कोर्स करना पड़ता है। इसमें पहले तीन वर्ष, स्नातक स्तर की शिक्षा दी जाती है और अंत के एक वर्ष में टीचर की ट्रेनिंग दी जाती है। कोई भी बारहवीं पास छात्र यह कोर्स कर सकता है।

2. After Graduation – ग्रेजुएशन के बाद टीचर बनना है तो आपको बीएड करने में केवल दो वर्ष का समय लगता है। इसमें एक वर्ष छात्र को किसी भी विषय का सैद्धांतिक और प्रायोगिक ज्ञान दिया जाता है और एक वर्ष तक टीचर की ट्रेनिंग दी जाती है।

इस दौरान छात्र को विभिन्न स्कूलों में पढ़ाने का मौका मिलता है। इसके लिए आपको न्यूनतम 50% अंको से ग्रेजुएशन पास करना होगा।

3.After Post Graduation – पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद टीचर बनने के लिए छात्रों को मात्र एक वर्ष का समय लगता है। इस कोर्स में छात्र को केवल ट्रेनिंग लेने के लिए बीएड करना पड़ता है। बीएड करने के लिए उन्हें न्यूनतम 50% अंक से मास्टर डिग्री प्राप्त करनी होगी।

B.Ed Course Specialisation

प्राइमरी स्कूल का टीचर कक्षा 1 से 5 तक के विद्यार्थियों को सभी विषय पढ़ाता है। जबकि टीजीटी और पीजीटी टीचर, कक्षा 6 से लेकर 12 तक के छात्रों को केवल एक ही विषय पढाता है। इन छात्रों को पढ़ाने के लिए सभी विषयों के अलग अध्यापक होते हैं।

यदि आप कक्षा 6 से 12 तक के टीचर बनना चाहते हैं तो आपको पहले यह तय करना होगा कि आप किस विषय में सबसे अच्छी तरह से पढ़ा सकते हैं। उसके बाद ही आपको यह निर्णय लेना है कि आप ग्रेजुएशन के बाद B.Ed करते हुए किस विषय में कोर्स करेंगे। आप B.Ed में निम्नलिखित कोर्स कर सकते हैं?

  • B.Ed in Home Science
  • B.Ed in Mathematics
  • B.Ed in Computer science
  • B.Ed in Social science
  • B.Ed in Economics
  • B.Ed in Political science
  • B.Ed in Sanskrit
  • B.Ed in English
  • B.Ed in Hindi
  • B.Ed in Science
  • B.Ed in Chemistry
  • B.Ed in Physics
  • B.Ed in Biology

B.Ed के लिए Entrance Exam और Course Fees

बीएड कोर्स में आप कुछ निजी कॉलेज में डायरेक्ट एडमिशन भी ले सकते हैं। लेकिन कुछ निजी और सरकारी संस्थानों में एडमिशन के लिए एंट्रेस एग्जाम देना जरूरी होता है। आप इसके लिए निम्नलिखित में से कोई भी एग्जाम दे सकते हैं।

  • Regional Institute Of Education Common Entrance Examination
  • Common University Entrance Test
  • Delhi University B.Ed Entrance Test
  • Uttar Pradesh B.Ed Entrance Test
  • Bihar B.Ed Common Entrance Test
  • Tezpur University Entrance Exam
  • Jharkhand B.Ed Entrance Examination

बीएड कोर्स की फीस कितनी है

सरकारी और निजी कॉलेज, इस कोर्स के लिए अलग अलग फीस लेते हैं। फीस इस हिसाब से भी कम या ज्यादा हो सकती है की आप बारहवीं के बाद यह कोर्स कर रहे हैं या ग्रेजुएशन के बाद, या फिर पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद।

चुने गए विषयों के आधार पर भी फीस कम या ज्यादा हो जाती है। जैसे हिंदी के लिए थोड़ी कम और बायोलॉजी के लिए कुछ ज्यादा फीस हो सकती है।

कुल मिलाकर यदि हम जानना चाहें कि न्यूनतम कितनी फीस में ये कोर्स कर सकते हैं, तो ये इस प्रकार है:

सरकारी कॉलेज :– ₹25,000/- से ₹50,000/-

निजी कॉलेज :– ₹1,50,000/- से ₹2,50,000/-

Teacher बनने के लिए एंट्रेस एग्जाम

जब आप अपनी पढ़ाई पूरी कर लेते हैं और इसके बाद टीचर बनना चाहते हैं तो पहले आपको टीचिंग के लिए सर्फिकेट प्राप्त करना होता है। यह सर्टिफिकेट एंट्रेस एग्जाम पास करने के बाद ही मिलता है। इस एग्जाम को TET कहा जाता है।

TET Full Form & Eligibility in Hindi

TET का फुल फॉर्म Teacher Eligibility Test है। यह दो प्रकार का होता है। पहला CTET और दूसरा STET चलिए इन्हे समझते हैं।

CTET : इसका फुल फॉर्म, Central Teacher eligibility Test होता है। यह राष्ट्र स्तर की परीक्षा है जिसे पास करके आप भारत के किसी भी राज्य में टीचर बनने के लिए आवेदन कर सकते हैं।

STET : इसका फुल फॉर्म, State Teacher Eligibility Test होता है। यह एक राज्य स्तरीय परीक्षा है जिसे पास करने से आप केवल राज्य के ही टीचर बन सकते हैं। जिस राज्य के लिए अपने परीक्षा पास की है उसमे वैकेंसी आने पर आप आवेदन कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें…
CTET Full Form in Hindi- CTET Exam Kya Hai, Eligibility, Exam Pattern, Career Scope
सरकारी अध्यापक- Government Teacher Kaise Bane in Hindi?
NTT Course क्या है- फुल फॉर्म, अवधि, फीस Details in Hindi
MSCIT Course Kya Hai: Full Form, Fees, Duration Details in Hindi
BFA Full Form in Hindi | BFA Course Details in Hindi | BFA Kya Hai?

TET के लिए क्वालिफिकेशन – Eligibility Criteria

टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट के लिए आवेदन करने से पहले आपको आपको कुछ योग्यताओं को पूरा करना होगा।

  • TET में दो पेपर होते है- पेपर 1 और पेपर 2. दोनों के लिए योग्यता अलग है।
  • पेपर 1 के लिए छात्र 12th + Bed किया हुआ होना चाहिए।
  • पेपर 2 के लिए छात्र ग्रेजुशन + बीएड किया हुआ होना चाहिए।
  • इस एग्जाम के लिए छात्र की उम्र 35 वर्ष से ज्यादा नहीं होनी चाहिए।

TET के लिए आवेदन कैसे करें

  • इसके लिए आपको टीईटी की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा।
  • वहां पर टीईटी एग्जाम के लिए दिए गए एप्लीकेशन फॉर्म पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपको रजिस्ट्रेशन का ऑप्शन मिलेगा।
  • रजिस्ट्रेशन पूरा करने के बाद आपको एप्लीकेशन फॉर्म भरना होगा।
  • इसके साथ मांगे गए सभी जरूरी डॉक्यूमेंट्स को अपलोड करें।
  • फॉर्म की फीस भरें, सबमिट करें और फॉर्म का प्रिंट निकाल लें।

TET Exam Syllabus और Exam Pattern क्या है

TET में हिंदी, इंग्लिश, गणित, बाल विकास और अध्यापन, पर्यावरणीय शिक्षा और सामाजिक विज्ञान सभी विषय से 30-30 प्रश्न पूछे जाते हैं, जिसमें प्रत्येक प्रश्न एक अंक का होता है। ये एग्जाम 180 अंको का होता है जिसमें कुल 180 सवाल होते हैं।

TET Exam में आपसे वही सवाल पूछे जाते हैं जो अपने अपने स्कूल में पढ़े होते हैं।  इसमें सभी मल्टीपल चॉइस सवाल पूछे जाते हैं। यह टेस्ट कंप्यूटर पर ही लिया जाता है। टेस्ट पास करने के बाद आपका इंटरव्यू भी लिया जाएगा।

इंटरव्यू का ये नियम साल 2022 से ही लागू किया गया है। इसके बाद आपको इस एग्जाम को पास करने का सर्टिफिकेट  दिया जायेगा। तब आप किसी भी स्कूल में टीचर वैकेंसी आने पर जॉब के लिए आवेदन करने के बाद Teacher Ki Naukri प्राप्त कर पायेंगे।

Teacher Ki Salary Kitni Hoti Hai

दोस्तों, टीचर बनने के इच्छा रखने वाले छात्रों के मन में ये सवाल जरूर आता होगा की आखिर एक Teacher Ko Kitni Salary Milti Hai? प्राइवेट संस्थानों में टीचर की सैलरी बहुत ज्यादा नहीं होती।

लेकिन एक सरकारी टीचर को शुरू से ही बहुत अच्छी तनख्वाह पर काम मिलता है। इसलिए ज्यादातर छात्र सरकारी टीचर (Government Teacher) ही बनना चाहते हैं। सैलरी की बात करें तो सरकारी टीचर की शुरुआती सैलरी 3 लाख से 3.5 लाख प्रति वर्षहोती है।

FAQs | प्राइवेट और सरकारी टीचर कैसे बनें?

टीचर बनने के लिए कितनी पढ़ाई करनी पड़ती है?

इसके लिए बारहवीं पास भी आवेदन कर सकता है और मास्टर डिग्री वाला छात्र भी आवेदन कर सकता है। लेकिन इनके साथ आपको बीएड करना जरूरी है तभी आप टीचर बन सकते हैं।

टीचर बनने के लिए उम्र क्या होनी चाहिए?

टीचर बनने लिए किसी भी व्यक्ति की न्यूनतम उम्र 18 वर्ष और अधिकतम उम्र 40 वर्ष हो सकती है।

आयु सीमा इस हिसाब से अलग हो सकती है कि आप कौन से टीचर बनना चाहते हैं। जैसे  प्राइमरी और टीजीटी टीचर की अधिकतम उम्र 35 वर्ष और पीजीटी की 40 वर्ष होनी चाहिए।

बारहवीं पास करने के बाद टीचर बनने के लिए क्या करना चाहिए?

बारहवीं पास करने के बाद टीचर बनने के लिए आप डिप्लोमा इन एलिमेंट्री एजुकेशन कर सकते हैं। ये दो वर्ष का कोर्स है।

चूंकि सरकार नियमों में बदलाव करती रहती है, इसलिए अगर आप टीचिंग में अपना भविष्य सुरक्षित करना चाहते हैं तो चार वर्षो का बीएड कोर्स करना सही रहेगा।

क्या आप बिना डिग्री किये शिक्षक बन सकते हैं?

जी नहीं, आप बिना डिग्री किये हुए, सरकारी शिक्षक नहीं बन सकते हैं। टीचर बनने के लिए आपको पढ़ाई पूरी करनी होगी और इसकी ट्रेनिंग भी लेनी होगी।

निष्कर्ष

दोस्तों, आज Teacher Kaise Bane के इस लेख में, हमने आपको बताया कि किस तरह आप एक प्राइमरी पीजीटी या टीजीटी टीचर बन सकते हैं। यदि आप चाहते हैं की आप प्राइमरी और टीजीटी दोनों ही के लिए आवेदन कर सकें तो आपको ग्रेजुएशन और बीएड दोनों करना चाहिए। इस तरह आपको टीचर बनने के ज्यादा अवसर मिलेंगे।

टीचर बनना एक बहुत ही गर्व की बात होती है क्योंकि यही वो व्यक्ति होता है जो देश के छात्रों को एक सभ्य नागरिक बनाने  में मदद करता है। इसलिए अगर आप टीचर बनने का सोच रहे हैं तो आपको इसके लिए पूरी तैयारी करनी चाहिए।

Sharing Is Caring:
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x