Best Software Engineering Courses After 12th in Hindi

software-engineering-courses-after-12th-in-hindi-in-india
Software Engineering Courses after 12th in Hindi: Image Created at Canva

12वीं के बाद Software Engineering Course in India

12वीं कक्षा पास करने के बाद हर विद्यार्थी को अपने करियर की चिंता रहती है। ‌ ऐसे में जो विद्यार्थी टेक्नोलॉजी तथा कंप्यूटर में रुचि रखते हैं तो उनके Career के लिए Software Engineering Course एक अच्छा माध्यम साबित हो सकता है। ‌

इस आर्टिकल में आपको Software Engineering Course After 12th in Hindi, सॉफ़्टवेयर इंजीनियर क्या होता है, इंजीनियरिंग कोर्स फीस, सॉफ्टवेयर इंजीनियर सैलेरी इन इंडिया आदि विषय से संबंधित जानकारी हासिल होगी।

सॉफ्टवेयर इंजीनियर क्या होता है- Software Engineer Kya Hota Hai?

आप जो फोन या लैपटॉप, कंप्यूटर, टेबलेट इस्तेमाल करते हैं तो वह एक Software के माध्यम से ही ऑपरेट होता है।

यदि आपके मोबाइल या लैपटॉप में दिक्कत आती है तो इसे ठीक करने के लिए एक Software Developer या इंजीनियर की ही आवश्यकता होती है क्योंकि सॉफ्टवेयर इंजीनियर को ही प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के बारे में विस्तृत जानकारी होती है।‌

Programming Language उसे कहते हैं जिससे आपके सॉफ्टवेयर का संचालन होता है। यह एक प्रकार की कंप्यूटर की भाषा है जिसे सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए सीखना पड़ता है। सॉफ्टवेयर इंजीनियर ही लैपटॉप एवं मोबाइल में पाए जाने वाले ऐप का निर्माण करता है क्योंकि उसे कंप्यूटर की भाषाओं का ज्ञान होता है। ‌

Also Read…
Software Engineer Kaise Bane in Hindi | Most promising career after 12th!
Data Science क्या है | Data Scientist कैसे बनें?
Aviation Meaning in Hindi | Aviation Me Career Kaise Banaye
NFT Full Form in Hindi- NFT Kya Hai
ग्राफिक डिजाइनिंग एक बेहतरीन करियर ऑप्शन | Graphic Designer Kaise Bane

Most Opted Software Engineering Courses after 12th in Hindi

यदि आप सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना चाहते हैं तो आपको किसी भी Most Suitable Software Engineering Course को पूरा करना होगा। 12वीं के बाद Software Engineering करने के लिए बहुत से Course उपलब्ध हैं, इसलिए आपको इनके चयन में बेहद सावधानी बरतनी चाहिए।

वैसे आपको चिंतित होने की आवश्यकता नहीं है, क्योंकि नीचे हमने Most Popular Software Engineering Courses in India के बारे में बताया है। आप अपनी सुविधानुसार किसी भी कोर्स का चुनाव कर सकते हैं।

Bachelor in Computer Application (BCA)- 12वीं के बाद BCA Course

आमतौर पर विद्यार्थियों के लिए Software Engineer बनने की दिशा में सबसे उत्तम बैचलर इन कंप्यूटर एप्लीकेशन (BCA) कोर्स माना जाता है। भारत में कई सरकारी तथा गैर सरकारी विश्वविद्यालय मौजूद है जो बीसीए कोर्स करवाते हैं। ‌

BCA कोर्स करीब 3 वर्ष का होता है जिसमें डाटा स्ट्रक्चर, प्रोग्रामिंग लैंग्वेज C++, Java, नेटवर्किंग आदि कंप्यूटर की प्रोग्रामिंग से संबंधित ज्ञान दिया जाता है।

12 वीं के बाद BCA Course करने के बाद आप कंप्यूटर प्रोग्रामर, वेब डिजाइनर, एप्लीकेशन डिजाइनर, Game Developer, डेटाबेस एडमिनिस्ट्रेटर, बिजनेस एनालिस्ट, Information System Manager आदि फील्ड में अपना करियर बना सकते हैं।

बीसीए कोर्स करने के बाद कई बड़ी कंपनियों जैसे Wipro, Google, Microsoft आदि में भी सॉफ्टवेयर इंजीनियर या डेवलपर के रूप में अच्छी सैलरी पर नौकरी की जा सकती है। ‌BCA कोर्स की फीस रु. 30000 से रु. 80000 के मध्य होती है।

B.Tech in Computer Science Course after 12th

बीटेक इन कंप्यूटर साइंस (B.Tech CS) कोर्स के अंतर्गत कंप्यूटर से जुड़े उपकरणों के बारे में पढ़ाया जाता है। इसमें कंप्यूटर के हार्डवेयर तथा सॉफ्टवेयर दोनों ही प्रक्रियाओं के बारे में ज्ञान दिया जाता है।

सॉफ्टवेयर पाठ्यक्रम के अंतर्गत Multimedia Application, सिस्टम सॉफ्टवेयर, डिजिटल इलेक्ट्रॉनिक्स, कंप्यूटर नेटवर्किंग आदि विषयों पर जानकारी दी जाती है।

बीटेक इन कंप्यूटर साइंस कोर्स के लिए 12वीं कक्षा में 60% अंक के साथ पास होना आवश्यक है। 12वीं कक्षा में फिजिक्स केमिस्ट्री और मैथमेटिक्स सब्जेक्ट का होना ज़रूरी है।

बीटेक इन कंप्यूटर साइंस कोर्स 4 साल की अवधि का होता है और बीटेक सीएस की फीस रु. 80,000 से रु. 4,00,000 के बीच होती है। ‌

B.Tech सीएस कोर्स करने के बाद विद्यार्थी सॉफ्टवेयर इंजीनियर, सॉफ्टवेयर डेवलपर, कंप्यूटर प्रोग्रामर, सिस्टम डिजाइनर आदि ऑप्शन को अपना करियर चुनकर बेहतरीन सैलरी पैकेज पर जॉब कर सकते हैं।

12th Ke Baad B.Tech in Information Technology

बीटेक इन इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी (B.Tech Information Technology) एक ग्रैजुएट लेवल का कोर्स है जिसे कक्षा बारहवीं के बाद किया जाता है। ‌B.Tech IT कोर्स में हार्डवेयर, सॉफ्टवेयर, इ-कॉमर्स तथा इलेक्ट्रॉनिक डाटा आदि विषयों पर जानकारी दी जाती है।

यह कोर्स 4 साल का होता है। B. Tech in Information Technology Course के लिए विश्वविद्यालयों में एंट्रेंस और मेरिट आधार पर दाखिला होता है।

बीटेक इन इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी (B.Tech IT) विद्यार्थी के पास 12वीं कक्षा में 50% अंक के साथ पास होना तथा 12वीं कक्षा में फिजिक्स केमिस्ट्री और गणित विषय का होना आवश्यक है।

बीटेक इन इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी कोर्स की न्यूनतम फीस 30,000 से अधिकतम 8,00,000 होती है।

B.Tech IT कोर्स करने के बाद  विद्यार्थी एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर डेवलपर, सिस्टम सॉफ्टवेयर डेवलपर, सिस्टम इंजीनियर और IT Analyst ऑप्शन को करियर के रूप में चुन सकते हैं।

B.Tech IT कोर्स करने के बाद विद्यार्थी की न्यूनतम 3,00,000 से लेकर अधिकतम 5,0,0000 तक की सैलरी हो सकती है।

Graduation Ke Baad MCA Course – Master in Computer Application

मास्टर इन कंप्यूटर एप्लीकेशन (MCA), Software Engineering Courses की दिशा में अन्य प्रमुख कोर्स है। ‌ एमसीए कोर्स भारत में कई सरकारी तथा गैर सरकारी विश्वविद्यालयों में उपलब्ध है।

MCA कोर्स के लिए विद्यार्थी को स्नातक स्तर पर 55% अंक के साथ पास होना चाहिए। MCA कोर्स में विश्वविद्यालयों में एंट्रेंस तथा मेरिट लिस्ट के आधार पर दाखिला होता है।

एमसीए कोर्स की फीस लगभग 10,000 से लेकर 2,40,000 हो सकती है।‌

MCA कोर्स करने के बाद विद्यार्थी Web Designer, प्रोग्राम मैनेजर, इंटरनेट एक्सपर्ट, हार्डवेयर इंजीनियर, सॉफ्टवेयर इंजीनियर, डेटाबेस मैनेजर आदि ऑप्शन को करियर के रूप में चुन सकता है। ‌

एमसीए कोर्स करने के बाद आपको लगभग 18,000 से 30,000 तक की सैलरी प्राप्त होती है।

Advanced Diploma in Computer Application (ADCA) Course

एडवांस डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन (ADCA) एक डिप्लोमा सर्टिफिकेट कोर्स है। एडीसीए कोर्स के अंतर्गत विद्यार्थियों को कंप्यूटर एप्लीकेशन तथा कंप्यूटर सिस्टम से जुड़ी जानकारी दी जाती है।

ADCA कोर्स की अवधि लगभग 1 साल की होती है। इस कोर्स के अंतर्गत MS Office, Web Designing, Photoshop, Microsoft आदि विषयों पर जानकारी दी जाती है। ‌

ADCA कोर्स की फीस न्यूनतम 3,000 से अधिकतम 4,000 तक होती है। इस कोर्स को करने के लिए लगभग दसवीं कक्षा पास होना जरूरी है। ‌

एडीसीए कोर्स करने के बाद Data Entry, कंप्यूटर ऑपरेटर, साइबर कैफे, वेब डिजाइनर आदि ऑप्शन को चुनकर जॉब कर सकते हैं। ‌ADCA कोर्स करने के बाद उम्मीदवार को कम से कम 15,000 की न्यूनतम सैलरी प्राप्त हो जाती है। ‌

Diploma in Computer Application (DCA)- Course details in Hindi

डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन (DCA) कोर्स एक सर्टिफिकेट डिप्लोमा कोर्स है जिसमें Computer Application, सिस्टम तथा सॉफ्टवेयर से संबंधित जानकारी दी जाती है। ‌ DCA कोर्स 6 महीने से लेकर 1 साल तक का होता है।

इस कोर्स के अंतर्गत MS Office, Internet Application, Operating System आदि विषयों पर जानकारी दी जाती है। डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन या डीसीए की फीस 5000 से लेकर ₹25000 तक होती है।‌

डीसीए कोर्स करने के लिए विद्यार्थी को कम से कम 10 वीं पास होना जरूरी है। डीसीए कोर्स करने के बाद विद्यार्थी कंप्यूटर ऑपरेटर तथा डाटा एंट्री ऑप्शन को जॉब के रूप में चुन सकते हैं।

डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन कोर्स करने के बाद विद्यार्थी को कम से कम ₹15,000 तक की जॉब आसानी से प्राप्त हो जाती है। ‌

Also Read…
कार मैकेनिक (Car Mechanic) कैसे बनें | How to become a professional car mechanic?
PLC Programmer कैसे बनें?
इंडस्ट्रियल डिजाइनिंग में कैरियर कैसे बनाएं | 10 Best College for Industrial Designing In India
CNC Operator कैसे बनें : सीएनसी के 6 Best Points जो आपको जानने चाहिए।
Fire Safety Engineering में कैरियर कैसे बनाएं- फायर सेफ्टी इन हिंदी

After 12th Software Engineering Courses Eligibility- योग्यता

यदि आप सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना चाहते हैं तो आपको निम्नलिखित योग्यताओं को पूरा करना होगा:-

  • सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कोर्स के लिए भारत में कम से कम 12 वीं कक्षा पास होना जरूरी है।
  • 12वीं कक्षा में रसायन विज्ञान, गणित और भौतिक विज्ञान आदि विषय शामिल होने चाहिए। ‌
  • 12वीं कक्षा में कम से कम 50% अंक आने चाहिए। ‌
  • एमसीए कोर्स के लिए विद्यार्थी को स्नातक स्तर पर 55% अंक के साथ पास होना चाहिए।

Top Colleges for Software Engineering Courses after 12th in Hindi

भारत के पॉपुलर सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कॉलेज इस प्रकार हैं:

  • Indian Institute of Technology -Mumbai
  • Indian Institute of Technology -Roorkee
  • Indian Institute of Technology – Delhi
  • Indian Institute of Technology Kanpur
  • Sharda University – Greater Noida
  • PSG College of Software Engineering – Coimbatore
  • Indian Institute of Information Technology – Allahabad
  • Birla Institute of Technology
  • National Institute of Technology – Durgapur
  • Motilal Nehru Institute of Technology – Allahabad
  • Manipal University
  • Abdul Kalam Institute of Technology
  • Rajiv Gandhi Technological University – Bhopal
  • Devi Ahilya University – Indore
  • LNCT – Bhopal
  • Madras Institute of Technology
  • Indian Institute of Technology – Indore
  • G.L.A University – Mathura
  • Rohilkhand University
  • Samrat Ashoka Institute of Technology
  • Indian Institute of Technology -Banaras

Job Salary after Software Engineering Courses in India

सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के बाद सैलरी, कोर्स तथा एक्सपीरियंस पर डिपेंड करती है। ‌हालांकि सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के बाद प्रारम्भिक सैलरी लगभग रु. 3,00,000 से लेकर रु. 5,00,000 तक सालाना सैलरी हो सकती है।

निष्कर्ष- Software Engineering Courses after 12th Standard

दोस्तों, आज का समय Computer का है। सभी जगह Digitalisation हो रहा है। ऐसे में अगर आप 12वीं के बाद Software Engineering Course करते हैं तो निश्चित तौर पर आप 3 से 4 वर्षों में अपना बेहतरीन कैरियर बना सकते हैं।

इस क्षेत्र में हर तरह के Software Engineering Courses उपलब्ध हैं। कोर्स का खर्च, उसके फायदे, और अपनी ज़रूरतों के हिसाब से आप किसी भी उपयुक्त कोर्स का चयन कर सकते हैं।        

 ‌

Sharing Is Caring:
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x