Sheep Farming in India | Sheep Farming Business Plan in Hindi

Rate this post

Sheep Farming in India, Sheep Farming, Sheep Farming Business, Sheep Farming Business Plan, Sheep Farming Business Plan in Hindi, Sheep Rearing, Sheep Rearing in India

वैसे तो भेड़ पालन का व्यवसाय (Bhed palan ka business) कोई नया व्यवसाय नहीं है। भारत में सदियों से लोग पारंपरिक रूप से कुछ पारंपरिक व्यवसायों को अपनाते रहे हैं। इन्हीं में से एक है भेड़ पालन (Sheep Farming in India). वैसे तो भारत में लाखों की संख्या में लोग पशुपालन से जुड़े हुए हैं। वह भिन्न-भिन्न प्रकार के पशुओं का पालन करते हैं जैसे गाय, भैंस, बकरी इत्यादि और उनके दूध और मांस आदि को बेचकर लाभ भी प्राप्त करते हैं।

परंतु भेड़ पालन मैं कुछ खास विशेषताएं हैं जो आपको बहुत कम निवेश पर एक अच्छा व्यवसाय शुरू करने का अवसर प्रदान करती है। भेड़ पालन के व्यवसाय sheep farming business plan in India से आप कम आमदनी में अधिक लाभ कमा सकते हैं। क्योंकि भेड़ की ऊन, मांस तथा दूध आदि की मांग बड़ी मात्रा में बाजार में मौजूद है। ऐसे में भेड़ पालन करना फायदे का सौदा साबित हो सकता है।

आज के इस लेख में हम आपको Sheep Farming in India के विषय में पूरी जानकारी देंगे कि आप कैसे भेड़ पालन व्यवसाय शुरू कर सकते हैं, कितनी आमदनी आपको प्राप्त हो सकती है और कौन सी बातें आपको ध्यान रखना जरूरी हैं? तो यदि आप भी Sheep Farming Business Plan जानने की इच्छा रखते हैं या ऐसा करने के विषय में कुछ सोच रहे है तो इस लेख को ध्यान से पढ़ें।

ये भी पढ़ें:

sheep-farming-in-india-sheep-farming-business-plan-in-hindi
Photo by Maria Orlova from Pexels

Sheep Farming in India- Sheep Farming Business Plan in Hindi

भारत में कुछ लोग पारंपरिक रूप से घरेलू उपयोग के लिए और कुछ अन्य लोग व्यवसायिक तौर पर आधुनिक तकनीकों का इस्तेमाल करके भेड़ पालन करते हैं। भेड़ से बड़ी मात्रा में फाइबर यानी कि ऊन और मांस जैसे कई उत्पादों की प्राप्ति होती है। भारत में मूल रूप से भेड़ पालन जम्मू कश्मीर में देखा जा सकता है। भेड़ एक छोटे आकार वाला और ऐसा जानवर है जो अधिकतर शांत रहना पसंद करती है।

जब कोई व्यक्ति व्यवसायिक दृष्टिकोण से फर्म स्थापित कर भेड़ पालन करता है तो इसे ही sheep farming business कहां जाता है। वर्तमान समय में यह व्यवसाय काफी मुनाफे वाला साबित हो रहा है। भारत में मुख्य रूप से डेक्कन, बेल्लारी, मेरिनो, बैनर,हसन,चेविओट, रामबोइलेट, साउथ डाउन जैसी भेड़ की नस्लों का उपयोग व्यावसायिक रूप से किया जा रहा है क्योंकि यह व्यवसायिक दृष्टि से काफी अच्छी नस्ल की भेड़ मानी जाती हैं।

Merino नस्ल की भेड़ अपनी ऊन लिए काफी प्रसिद्ध हैं। इसके अलावा Suffolk नस्ल की भेड़ अपने पतले और दुर्गंधहीन मासं तथा खाल के कारण काफी प्रसिद्ध है।

यदि आप भी Sheep Farming Business करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको एक फर्म की आवश्यकता पड़ती है। परंतु यह जरूरी नहीं कि आप बड़े स्तर पर ही भेड़ पालन कर सकते हैं। यह आपकी भेड़ों की संख्या पर और आपके व्यवसाय के स्तर पर निर्भर करता है कि आपको कितनी बड़ी फर्म स्थापित करनी होगी और उसी के हिसाब से आपका निवेश भी तय होता है।

Sheep Farming Business in India (भेड़ पालन का व्यवसाय कैसे करें)

Sheep Farming in India: ऐसा बिल्कुल नहीं है की भेड़ पालन का व्यवसाय करना कोई बहुत मुश्किल काम है। अगर आप भी चाहें तो भेड़ पालन का व्यवसाय बड़ी ही आसानी से कर सकते हैं। हम आपको बता दें कि इसके लिए कोई योग्यता होना आवश्यक नहीं है। यदि आप अनपढ़ हैं तो भी आप इस व्यवसाय को बड़ी ही सरलता से कर सकते हैं।

इसके लिए आपको केवल कुछ अच्छी नस्ल की भेड़, कुछ जमीन और उनके लिए चारे जैसी चीजों की आवश्यकता पड़ती है। कहने का तात्पर्य यह है की Sheep Rearing and Farming Business बहुत अधिक निवेश की मांग नहीं करता। यहां कम निवेश करने से भी आप व्यवसाय की शुरुआत कर सकते हैं और अच्छी आमदनी प्राप्त कर सकते हैं।

इस लेख में हम आपको क्रमानुसार यह बता रहे हैं की भेड़ पालन का व्यवसाय (Sheep Farming Business Plan in Hindi) कैसे किया जा सकता है।

Sheep Farming Business Planning (Sheep Farming in India)

इसके लिए आपको सबसे पहले एक रणनीति बनाने की आवश्यकता है। आपको यह तय करने की जरूरत होती है कि आप अपने व्यवसाय में कितना निवेश करने के लिए तैयार हैं। इसके अलावा आपको यह भी निश्चित करना होता है कि आपको कौन-कौन सी मशीनों का उपयोग करना है और कौन कौन से प्रोडक्ट का निर्माण करना है। इसी अनुसार आप आगे की प्रक्रिया पूरी कर सकते हैं। इसलिए यदि आप भेड़ पालन का व्यवसाय करना चाहते हैं तो हम आपको पहले इसकी Strategy बनाने की सलाह देंगे।

Selection of Suitable Place (उचित जगह का चुनाव)

जब आप अपने व्यवसाय के लिए एक रणनीति विकसित कर लेते हैं तो उसके पश्चात आपको जमीन की आवश्यकता पड़ती है जहां आप अपना व्यवसाय शुरू कर सकें। यदि आपके पास खुद की जमीन है तो यह काफी अच्छा है, नहीं तो आप जमीन किराए पर भी ले सकते हैं।

परंतु जमीन लेते समय या जमीन के चुनाव के समय एक बात का विशेष ख्याल रखें कि आप ऐसे स्थान का चुनाव करें जहां से मार्केट नजदीक हो और रोड अच्छी हो ताकि आपको ट्रांसपोर्टेशन में कोई दिक्कत ना आ सके। इसके अलावा जगह ऐसी होनी चाहिए जहां बहुत अधिक भीड़-भाड़ में हो।

भेड़ की नस्लों का चुनाव बेहद महत्वपूर्ण है (Sheep Farming in India)

यदि आपने एक अच्छी जमीन भी चुन ली है तो अब आप अपने व्यवसाय को आगे बढ़ाने के लिए भेड़ की उस नस्ल का चुनाव करें जिसका पालन (Sheep Rearing) आप करना चाहते हैं। इसके लिए आप किसी पशु विशेषज्ञ से मिल सकते हैं और उनसे बातचीत कर सकते हैं।

पशु विशेषज्ञ से सलाह ले कर आप समझ सकते हैं कि आपके स्थान की जलवायु के हिसाब से कौन सी भेड़ की नस्ल बेहतर रहेगी। हम आपको बता दें कि भारत में विश्व की भेड़ों की जनसंख्या का 4% हिस्सा मौजूद है। यहां पर अनेक प्रकार की नस्लें हैं जो शुष्क, पथरीले और पहाड़ी क्षेत्रों में पाई जाती हैं।

एक फार्म की करें स्थापना (Sheep Farming in India)

अब आपके पास एक रणनीति भी है और जमीन भी तथा आपने नस्लों का चुनाव भी कर लिया है, तो अब आप अपना एक फार्म स्थापित कर सकते हैं। फॉर्म के लिए आपको करीब 1000 से 1200 sqft भूमि की आवश्यकता पड़ती है।

ऐसा जरूरी नहीं कि आपको इतनी ही बड़ी भूमि चाहिए। यह आपकी भेड़ों की संख्या पर निर्भर करता है और इस बात पर निर्भर करता है कि आप कितने बड़े व्यवसाय की शुरुआत कर रहे हैं। यदि आपका Business काफी बड़ा है तो आपको काफी बड़ी जगह की आवश्यकता पड़ेगी, लेकिन यदि आप छोटे स्तर पर शुरुआत कर रहे हैं तो आप छोटी जगह से भी काम चला सकते हैं।

खान-पान का रखें खयाल

आपके व्यवसाय को चलाने के लिए आपकी भेड़ों का स्वस्थ होना आवश्यक है। इसके लिए आपको उनकी उचित फीडिंग का ध्यान रखना होगा। आप उन्हें उच्च गुणवत्ता वाला और पौष्टिक भोजन उपलब्ध कराएं। इसके लिए आप उन्हें पौष्टिक घास, पौधे आदि खिलाएं। इसके अलावा आप उनके लिंग और आयु के अनुसार उन्हें फीडिंग कराएं।

ये भी पढ़ें:

Sheep farming business profit (भेड़ पालन व्यवसाय करने के क्या हैं फायदे)

sheep-farming-in-india-sheep-rearing-in-india
Image By: Pixabay

अगर आपके दिमाग में भेड़ पालन के व्यवसाय को करने का ख्याल है तो आप इसे जरूर करें क्योंकि भेड़ पालन व्यवसाय (Sheep Farming in India) करने से आपको कुछ विशेष लाभ प्राप्त होते हैं जो अन्य Business से थोड़े अलग हैं जैसे:

  • भेड़ एक ऐसा पशु है जो आपको कई तरह के उत्पाद उपलब्ध कराता है। मतलब कि यदि आप भेड़ पालन करते हैं तो आप एक साथ कई तरीके के उत्पादों का उत्पादन कर सकते हैं। जैसे कि आप भेड़ से दूध भी प्राप्त कर सकते हैं। इसके अलावा आप भेड़ से मांस भी प्राप्त कर सकते हैं जिसकी विदेशों में भी भारी मांग है। इसका निर्यात भी किया जाता है और भारत में भी इसकी काफी मांग है। इसके अलावा आप इनसे ऊन भी प्राप्त कर सकते हैं जिसकी मांग बाजार में बड़ी मात्रा में उपलब्ध है।
  • भेड़ पालन (Sheep Rearing in India) का एक विशेष लाभ यह भी है कि इसमें आपको बहुत अधिक निवेश की आवश्यकता नहीं होती है और आप कम निवेश में भी व्यवसाय को शुरू कर सकते हैं।
  • इसके अलावा भेड़ पालन के व्यवसाय में किसी विशेष Skill की आवश्यकता भी नहीं होती। इस व्यवसाय में कोई महिला या वृद्ध व्यक्ति भी कार्य कर सकता है। क्योंकि इसमें बहुत अधिक श्रम लगाने की आवश्यकता नहीं पड़ती, बस कुछ स्थाई श्रम की जरूरत होती है।
  • भेड़ के झुंड का विकास बड़ी तेजी से होता है मतलब इनकी प्रजनन शक्ति काफी अच्छी होती है जिससे आपका व्यवसाय वृद्धि प्राप्त करेगा क्योंकि आपकी भेड़ों की संख्या में वृद्धि से आपके व्यवसाय की वृद्धि निश्चित है।
  • इसके अतिरिक्त भेड़ और बकरी ऐसे पशु है जो अपने आप को जलवायु के अनुकूल ढालने में सक्षम होते हैं जिससे इनके लिए विशेष व्यवस्था करने की आवश्यकता नहीं पड़ती।
  • भेड़ के उत्पादों के साथ साथ भेड़ से प्राप्त अपशिष्ट को किसान खेत में खाद लगाने में उपयोग में ला सकते हैं।
  • भेड़ों के लिए बहुत अधिक चारे की भी आवश्यकता नहीं होती यह बहुत कम चारे का सेवन करती हैं और अधिक Profit देती हैं।
  • भेड़ पालन के लिए आपको बहुत अधिक जगह की भी आवश्यकता नहीं होती है। आप अपनी इच्छा के अनुसार व्यवसाय शुरू कर सकते हैं। चाहें तो आप बड़ा Sheep Rearing Business शुरू कर सकते हैं और चाहें तो आप छोटे स्तर पर शुरू कर सकते हैं।
  • इसके अलावा भेड़ से प्राप्त products की बिक्री में अधिक समस्या का सामना नहीं करना पड़ता क्योंकि इसके Consumers बड़ी मात्रा में उपलब्ध होते हैं। वर्तमान समय में Sheep Farming ग्रामीण रोजगार का एक साधन बना हुआ है।

Sheep Farming Business Investment

Sheep Farming in India: यह इस बात पर निर्भर करता है कि आपका व्यवसाय कितना बड़ा है। यदि आप का Business अत्यधिक बड़ा है तो आपको निश्चित ही अधिक निवेश की आवश्यकता होगी। लेकिन यदि आपका व्यवसाय छोटा है तो आप कम निवेश में भी कार्य कर सकते हैं।

Farm cost – 1.5 लाख से 2 लाख
Feed cost – 20 हजार से 50 हजार
Other – 20 हजार से 50 हजार

इस प्रकार कुल निवेश के लिए करीब ₹2 लाख से ₹3 लाख तक की आवश्यकता आपको पड़ सकती है।
यदि निवेश के लिए आपके पास धन की कमी है तो आप सरकार से लोन भी ले सकते हैं। भारत सरकार भेड़ पालन (Sheep Farming in India) के लिए मुद्रा लोन प्रदान करती है। इसके लिए आपको आवेदन करना होता है और यह बताना होता है कि आप कितने बड़े व्यवसाय की शुरुआत कर रहे हैं।

आपको अपने बैंक को यह बताना होगा कि आप Sheep farming business Plan in India के अंतर्गत किस तरह से भेड़ पालन का बिज़नेस करने की सोच रहे हैं। आपको बैंक को ये भी बताना होगा कि Sheep Farming Business करने के लिए आपको कितने धन की आवश्यकता है। इस प्रकार के विवरण को भरने के पश्चात आप बैंक की शर्तों को पूरा करने के पश्चात भारत सरकार से लोन प्राप्त कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें:

कुछ खास बातों का रखें विशेष ध्यान

किसी भी व्यवसाय में लापरवाही नुकसानदायक साबित हो सकती है। इसी प्रकार यदि आप भेड़ पालन का व्यवसाय कर रहे हैं और आप लापरवाही करते हैं तो आपको अपने व्यवसाय में नुकसान उठाना पड़ सकता है। इसलिए आप कुछ बातों का विशेष रूप से ध्यान रखें जैसे:

  • गर्मियों या बरसात के मौसम के आने से पहले अपनी भेड़ों से उतार लें क्योंकि गर्मी आने पर ऊन न उतारने से उन्हें अधिक गर्मी लग सकती है और वह बीमार पड़ सकती है।
  • उन्हें अच्छा साफ सुथरा आवास और पौष्टिक आहार उपलब्ध कराएं।
  • भेड़ों में कई प्रकार की बीमारियां हो जाते हैं जैसे Anthrax’s, Parasite, tetanus, internal, pregnancy toxemia इत्यादि। इसलिए इस प्रकार की बीमारियों से अपनी भेड़ों को बचा कर रखें और उन्हें इन बीमारियों से बचाव के लिए टीके लगवाए तथा समय-समय पर यदि आप उनके मल की जांच कराते हैं और पशु विशेषज्ञ से परामर्श करते हैं तो यह भी उनके स्वास्थ्य के लिए अच्छा रहता है।
  • इसके अलावा आप अपनी भेड़ों के मेमनो का विशेष ध्यान रखें, उन्हें समय पर दूध उपलब्ध कराएं ताकि वह बीमार न पड़े।

कुछ विशेष सलाह

  • व्यवसाय की शुरुआत में कम भेड़ रखें और कुछ अनुभव प्राप्त कर लें।
  • व्यवसाय शुरू करने से पहले किसी नजदीकी sheep farming में जाएं और हो सके तो इससे संबंधित प्रशिक्षण प्राप्त करें।
  • नस्ल के चुनाव के लिए पशु विशेषज्ञ से परामर्श लें
  • यदि किसी एक भेड़ को कोई बीमारी हो जाती है तो उसे बाकी भेड़ों के झुंड से कुछ समय के लिए दूर रखें जब तक वह पूरी तरह ठीक ना हो जाए।
  • गर्भधारण के समय भेड़ का और बच्चे का विशेष ध्यान रखें और उन्हें पौष्टिक आहार उपलब्ध कराएं।

यदि आप उपरोक्त बातों का ध्यान रखते हैं तो निश्चित रूप से आप भेड़ पालन के व्यवसाय sheep farming business को कर लाभ कमा सकते हैं।

इस लेख के माध्यम से हमने आपको Sheep Farming in India, Sheep Farming Business Plan in Hindi, Sheep Rearing in India के बारे में पूरी जानकारी प्रदान की है। हमें उम्मीद है इस जानकारी का लाभ आपको इस व्यवसाय को शुरू करने में अवश्य होगा। परंतु फिर भी यदि आप अतिरिक्त जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आप अपने नजदीकी कृषि विभाग केंद्र या पशुपालन केंद्र से संपर्क कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें:

Sharing Is Caring:

Leave a Comment