Plastic Engineering Course करके प्लास्टिक इंजिनियर कैसे बनें

Plastic Engineering Diploma Course में प्लास्टिक से जुड़ी Science एवं इससे बनने वाले प्रोडक्ट की बनावट, डिजाइन इत्यादि से संबंधित ज्ञान दिया जाता है। Plastic Engineering and Technology Course, एक 3 वर्षीय डिप्लोमा प्रोग्राम है जिसे कोई भी विद्यार्थी दसवीं कक्षा पास करने के बाद कर सकता है। लगभग सभी पॉलिटेक्निक कॉलेज में यह कोर्स उपलब्ध है।

यदि कोई छात्र Plastic Engineering Diploma करता है तो वह विभिन्न कंपनियों में जूनियर इंजीनियर, इंजीनियर, सुपरवाइजर इत्यादि पदों पर नौकरी प्राप्त कर सकता है। ये तो आप भी जानते हैं कि Plastic का इस्तेमाल अलग अलग तरह के Product बनाने में किया जाता है और यह इस्तेमाल भी बहुत ज्यादा होता है। इसलिए इस क्षेत्र में Employment Opportunities की कोई कमी नहीं है।

यदि आप Diploma in Plastic Engineering Course में प्रवेश लेना चाहते हैं तो आपको इसकी पूरी जानकारी जैसे इसके लिए फीस और प्रवेश प्रक्रिया क्या होती है, यह कोर्स करने के बाद Plastic Engineer Kaise Bane, किन क्षेत्रों में जॉब प्राप्त कर सकते हैं? इन सब के बारे में पता होना चाहिए।

plastic-engineer-kaise-bane-diploma-in-plastic-engineering-course-details-in-hindi-kya-hai-kaise-kare
Diploma in Plastic Engineering Course Details – Plastic Engineer Kaise Ban Sakte Hain

प्लास्टिक डिप्लोमा कोर्स से जुड़े सभी प्रश्नों का उत्तर जानने के लिए हमारे इस लेख Plastic Engineering Course Details in Hindi को अंत तक जरूर पढ़ें।

Plastic Engineering Course Details in Hindi

कोर्स का नामPlastic Engineering Diploma Course
कोर्स का प्रकारडिप्लोमा कोर्स
अवधि3 वर्ष
योग्यतामान्यता प्राप्त विद्यालय से न्यूनतम 40% अंकों से दसवीं पास
सेमेस्टर6 सेमेस्टर
प्रवेश प्रक्रियाडायरेक्ट, मेरिट और एंट्रेंस एग्जाम
जॉब पदइंडस्ट्रियल इंजीनियर, प्लांट सुपरवाइजर, प्लांट मैनेजर, इंजीनियर, क्वालिटी कंट्रोल इंजीनियर
सैलरी₹15,000/- से ₹25,000/- प्रति माह

Plastic Engineer Kaise Bane- Course Eligibility (Qualification) in Hindi

यदि कोई भी छात्र इस कोर्स में दाखिला लेना चाहता है तो उसे कुछ योग्यताओं को पूरा करना पड़ता है। इस कोर्स के लिए योग्यताएं निम्नलिखित हैं –

  • छात्र, किसी भी मान्यता प्राप्त विद्यालय से दसवीं कक्षा पास करने के बाद इस कोर्स में प्रवेश ले सकता है।
  • यह कोर्स करने के लिए छात्र को दसवीं कक्षा, न्यूनतम 40% अंकों से पास करनी होती है।
  • डिप्लोमा इन प्लास्टिक कोर्स में दाखिला लेने के लिए छात्र की न्यूनतम उम्र 15 वर्ष होनी चाहिए।
  • अलग-अलग राज्यों में इसके लिए अलग प्रवेश परीक्षा आयोजित की जाती है, जिसे पास करके छात्र इस कोर्स में प्रवेश ले सकते हैं।

Diploma in Plastic Engineering Course Duration Kya Hai

डिप्लोमा इन प्लास्टिक टेक्नोलॉजी कोर्स केवल 3 वर्षों का होता है। जिसमें ज्यादातर सभी पॉलिटेक्निक इंस्टिट्यूट में समेस्टर परीक्षाएं ली जाती है।

इस कोर्स में कुल छह सेमेस्टर होते हैं। हर साल में दो सेमेस्टर परीक्षाएं, छात्र को पास करनी होती हैं तभी उसे अगले वर्ष में प्रवेश मिलता है।

ये भी पढ़ें:

Diploma in Plastic Engineering Course Fees- कोर्स की फीस कितनी है

किसी भी इंजीनियरिंग कोर्स के लिए सभी कॉलेजेस की फीस अलग-अलग होती है। उसी तरह इस कोर्स के लिए भी सभी इंस्टिट्यूट ,एक समान फीस नहीं लेते। आप यह कोर्स निजी या सरकारी किसी भी इंस्टिट्यूट से कर सकते हैं।

यदि हम इस कोर्स के लिए प्राइवेट और सरकारी दोनों ही संस्थानों की एवरेज फीस की बात करें तो यह कम से कम इतनी हो सकती है –

  • निजी संस्थान – ₹45,000/- से ₹70,000/- तक
  • सरकारी संस्थान ₹15,000/- से ₹45,000/- तक

Diploma in Plastic Technology Course Me Admission Kaise le

इस कोर्स में एडमिशन, आप तो तरीकों से ले सकते हैं- पहला दसवीं में मिले अंकों के आधार पर और दूसरा होता है एंट्रेंस एग्जाम देकर। कुछ प्राइवेट इंस्टीट्यूट में दसवीं में मिले अंकों के आधार पर मेरिट लिस्ट तैयार की जाती है, इसके बाद छात्रों का एडमिशन विभिन्न कॉलेजेस में होता है।

जो छात्र गवर्नमेंट इंस्टिट्यूट में दाखिला लेना चाहते हैं उन्हें राज्य स्तरीय प्रवेश परीक्षा पास करनी पड़ती है। जिसके बाद उन्हें सरकारी संस्थानों में दाखिला मिलता है। सभी संस्थानों के लिए प्रवेश प्रक्रिया अलग-अलग होती है। यदि आप इस कोर्स में प्रवेश लेना चाहते हैं तो निम्नलिखित स्टेप्स को फॉलो कर सकते हैं।

  • गवर्नमेंट इंस्टिट्यूट में दाखिला लेने के लिए आपको पहले एंट्रेंस एग्जाम के लिए आवेदन करना होगा।
  • इसके लिए आप सेंट्रल इंस्टीट्यूट ऑफ प्लास्टिक इंजीनियरिंग की ऑफिशल वेबसाइट पर जा सकते हैं।
  • यहां आपको कोर्स के लिए कराए जाने वाले एंट्रेंस एग्जाम का एप्लीकेशन फॉर्म मिलेगा।
  • इस फॉर्म को भर के आप एग्जाम के लिए आवेदन कर सकते हैं।
  • यह एग्जाम देने के कुछ समय बाद इंस्टीट्यूट द्वारा रिजल्ट घोषित किया जाएगा।
  • इसके बाद आपको कॉलेज में जाकर एडमिशन संबंधी अन्य प्रक्रिया को पूरा करना होगा।
  • इस तरह आप इस कोर्स में दाखिला ले सकते हैं।

Diploma in Plastic Engineering Semester Wise Syllabus in Hindi

सेमेस्टर 1सेमेस्टर 2
बेसिक्स ऑफ मैकेनिकल इंजीनियरिंगएनवायरमेंट कंजर्वेशन एंड हजार्ड मैनेजमेंट
कंप्यूटर प्रोग्रामिंग एंड यूटिलाइजेशनबेसिक्स ऑफ इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग
इंजीनियरिंग फिजिक्सपॉलीमर केमेस्ट्री
बेसिक पॉलीमर केमेस्ट्रीइंजीनियरिंग ग्रैफिक्स एंड ड्रॉइंग
इंजीनियरिंग मैथमेटिक्सवर्कशॉप
सेमेस्टर 3सेमेस्टर 4
कंप्रीहेंशन ट्रांसफर एंड इंजेक्शन मोल्डिंग ऑफब्लू रोटेशनल एंड थर्मोफॉर्मिंग प्रोसेस
पॉलीमर केमेस्ट्रीप्रोसेस इंस्ट्रूमेंटेशन एंड मेंटेनेंस
टेक्नोलॉजी फॉर इंजेक्टिंग मोल्डिंगप्लास्टिक एक्सट्रूजन टेक्नोलॉजी
मोल्ड फैब्रिकेशन टेक्नोलॉजीहाइड्रॉलिक एंड न्यूमेटिक सिस्टम
बेसिक मोल्ड डिजाइनडिजाइन ऑफ इंजेक्टिंग मोल्ड
प्लास्टिक मैटेरियल्स 
सेमेस्टर 5 और 6
सेकेंडरी प्रोसेसिंग टेक्निक्समोल्ड फैब्रिकेशन टेक्नोलॉजी
डिजाइन फॉर ब्लो एंड थर्मोफॉर्मिंग मोल्ड्सप्लास्टिक टेस्टिंग एंड क्वालिटी मैनेजमेंट
इंडस्ट्रियल मैनेजमेंटइंडस्ट्रियल विजिट एंड ट्रेनिंग
प्रोजेक्ट वर्क 

Top 10 Institute for Plastic Diploma Course- कहाँ से करें

यह कोर्स, गवर्नमेंट और प्राइवेट दोनों में ऐसे किसी भी इंस्टीट्यूट से किया जा सकता है। सबसे पहले हम विभिन्न राज्यों में स्थित टॉप गवर्नमेंट इंस्टिट्यूट की लिस्ट देखेंगे –

  • सेंट्रल इंस्टीट्यूट ऑफ प्लास्टिक इंजीनियरिंग- चेन्नई
  • सेंट्रल इंस्टीट्यूट ऑफ प्लास्टिक इंजीनियरिंग- हैदराबाद
  • सेंट्रल इंस्टीट्यूट ऑफ प्लास्टिक इंजीनियरिंग- भुवनेश्वर
  • सेंट्रल इंस्टीट्यूट ऑफ प्लास्टिक इंजीनियरिंग- हाजीपुर
  • सेंट्रल इंस्टीट्यूट ऑफ प्लास्टिक इंजीनियरिंग- बैंगलोर
  • सेंट्रल इंस्टीट्यूट ऑफ प्लास्टिक इंजीनियरिंग- गुवाहाटी
  • सेंट्रल इंस्टीट्यूट ऑफ प्लास्टिक इंजीनियरिंग- अमृतसर

इन इंस्टीट्यूट्स में दाखिला लेने के लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम पास करना पड़ता है।

जो छात्र प्राइवेट इंस्टिट्यूट में दाखिला लेना चाहते हैं तो इसके लिए टॉप इंस्टिट्यूट की लिस्ट निम्नलिखित है:

Diploma in Plastic Engineering ke Baad Kya Kare

  • प्लास्टिक ट्रेड से डिप्लोमा कोर्स करने के बाद आप किसी भी कंपनी का अप्रेंटिसशिप प्रोग्राम ज्वाइन कर सकते हैं। इससे आपको अनुभव प्रमाण पत्र मिलेगा और काम के लिए सैलरी भी दी जाएगी।
  • यह कोर्स करने के बाद आप आगे की पढ़ाई जारी रखने के लिए इसी ट्रेड में बैचलर डिग्री प्राप्त कर सकते हैं।
  • बैचलर डिग्री के बाद आप Masters भी कर सकते हैं।
  • यह कोर्स पूरा करने के बाद आप विभिन्न डिप्लोमा लेवल टेक्निकल गवर्नमेंट जॉब के लिए आवेदन कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें

Diploma in Plastic Engineering Course के बाद Salary कितनी मिलती है

चूंकि यह एक डिप्लोमा लेवल कोर्स है, इसलिए शुरुआत में कोर्स करने के बाद जॉब मिलती है तो सैलरी बहुत ज्यादा नहीं होती। लेकिन दो-तीन वर्षों के अनुभव के बाद आपका प्रमोशन होता है और आप काफी अच्छी सैलरी प्राप्त करने लगते हैं।

विभिन्न निजी एवं सरकारी कंपनियों में Diploma in Plastic Technology Course किए हुए व्यक्ति की एवरेज सैलेरी की बात करें तो यह ₹15,000/- से लेकर ₹25,000/- प्रति माह हो सकती है।

Diploma in Plastic Engineering Course Ke Baad Job Kahan Milegi

यह कोर्स करने के बाद आप बड़ी बड़ी निजी एवं सरकारी कंपनियों में इंजीनियरिंग की जॉब प्राप्त कर सकते हैं। चलिए देखते हैं कि दसवीं के बाद डिप्लोमा इन प्लास्टिक टेक्नोलॉजी कोर्स करने के बाद आप किन पदों नौकरी कर सकते हैं।

  • प्रोडक्ट डिजाइन इंजीनियर
  • इंडस्ट्रियल इंजीनियर
  • प्लांट सुपरवाइजर
  • प्लांट मैनेजर
  • प्लास्टिक पार्ट मोल्ड डिजाइन इंजीनियर
  • क्वालिटी कंट्रोल इंजीनियर
  • प्रोडक्शन इंजीनियर

FAQs | Plastic Engineering Course Kya Hai

प्लास्टिक इंजीनियर की सैलरी कितनी होती है?

एक प्लास्टिक इंजीनियर की सैलरी निजी एवं सरकारी संस्थानों में कुछ अलग अलग हो सकती है। अगर हम एक एवरेज सैलेरी की बात करें तो यह है ₹25,000/- से लेकर ₹30,000/- प्रति माह तक हो सकती है।

क्या प्लास्टिक इंजीनियरिंग एक अच्छा करियर है?

यह कोर्स करने वाले छात्रों को अपने करियर के लिए परेशान नहीं होना चाहिए। आप सब यह बात तो जानते ही हैं कि प्लास्टिक का इस्तेमाल हर क्षेत्र में होता है इससे कई तरह के प्रोडक्ट्स बनाए जाते हैं।

विभिन्न प्लास्टिक निर्माण फर्म में हमेशा Plastic Engineer की जरूरत होती ही है। इसलिए हम कह सकते हैं कि यह एक अच्छा करियर है।

मुझे प्लास्टिक इंजीनियर बनने के लिए क्या करना होगा?

यदि आप प्लास्टिक इंजीनियर बनना चाहते हैं तो आपके पास अलग-अलग ऑप्शन अवेलेबल हैं। आप चाहें तो दसवीं कक्षा पास करने के बाद प्लास्टिक ट्रेड से डिप्लोमा कोर्स में प्रवेश ले सकते हैं।

लेकिन अगर आपने 12वीं किया हुआ है तो आप बीटेक भी कर सकते हैं। इन दोनों में से कोई भी कोर्स पूरा करने के बाद आप प्लास्टिक इंजीनियर बन सकते हैं।

निष्कर्ष | प्लास्टिक इंजिनियर कोर्स कैसे करें

दोस्तों आज के इस लेख Diploma in Plastic Engineering Course Details in Hindi में हमने आपको बताया कि किस तरह आप प्लास्टिक ट्रेड में डिप्लोमा कोर्स करके विभिन्न सरकारी एवं निजी क्षेत्रों में काफी अच्छी सैलरी पर जॉब प्राप्त कर सकते हैं।

यह कोर्स आप दसवीं पास करने के बाद ही कर सकते हैं इसके लिए आपको 12वीं करने की भी जरूरत नहीं है। ज्यादातर छात्र डिप्लोमा कोर्स करना इसीलिए पसंद करते हैं क्योंकि वे इसे कम समय में पूरा कर सकते हैं और इसके बाद उन्हें बड़ी-बड़ी कंपनियों में जॉब भी मिल जाती है।

यदि आप भी ऐसी जॉब प्राप्त करने की इच्छा रखते हैं तो आपको भी यह कोर्स जरूर करना चाहिए। इस कोर्स से जुड़ा कोई अन्य सवाल आपके पास है तो आप हमसे कमेंट में पूछ सकते हैं।

Sharing Is Caring:
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x