गोबर गैस प्लांट कैसे लगायें | Gobar Gas Plant Business in Hindi

Rate this post

How to open Gobar Gas Plant Business in India: पुराने जमाने में खाना बनाने के लिए लोग लकड़ियों का use किया करते थे। इसके लिए वो चूल्हे में लकड़ी का कोयला डालकर आग जलाते थे और फिर उसी पर अपना भोजन पकाते थे। लेकिन अब समय बदल चुका है क्योंकि अब गैस सिलेंडर का उपयोग करके खाना तैयार किया जाता है।

लेकिन आधुनिक जमाने में भी हमारे देश में ऐसे बहुत से गरीब लोग हैं जो गैस सिलेंडर नहीं खरीद सकते। सरकार भी आए दिन इसके दाम घटाती और बढ़ाती रहती है। ऐसे में देश के हर नागरिक को खाना पकाने के लिए गैस सिलेंडर की सुविधा हासिल नहीं हो पाती।

लेकिन क्या आपको पता है कि Gobar Gas Plant लगा लेने से खाना तैयार किया जा सकता है और इसके अलावा दूसरे काम भी किये जा सकते हैं। अगर आपको इसके बारे में जानकारी नहीं है तो हमारे आज के इस पोस्ट को पूरा पढ़ें और Gobar gas plant business in Hindi (Gobar Gas Plant Kaise Lagaye) के बारे में सारी details प्राप्त करें।

gobar-gas-plant-business-gobar-gas-plant-kaise-lagaye
Image By: Pixabay

Gobar Gas Plant कैसे शुरू करें

How to open Gobar Gas Plant Business in India: सबसे पहले हम आपको बता दें कि Gobar Gas Plant आमतौर पर ऐसी जगह पर लगाया जाता है, जहां पर गाय और भैंस ज्यादा संख्या में रहती हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि इनके गोबर का इस्तेमाल करके ही इस प्लांट को लगाया जाता है। बताते चलें कि गोबर से जो गैस निकलती है उसका उपयोग भोजन पकाने के लिए किया जाता है। इसके अलावा इससे दूसरे काम भी किए जा सकते हैं।

ये भी पढ़ें:

Gobar Gas Plant से जुड़े हुए कुछ महत्वपूर्ण बिंदु

बिजनेस का नाम गोबर गैस प्लांट
लागत 10 हजार से एक लाख
रजिस्ट्रेशन और लाइसेंसउद्योग विभाग से प्राप्त कर सकते हैं
सब्सिडी60%
फायदा20 हजार -2 लाख रुपए हर महीना

Gobar Gas Plant क्या है

हम आपको बता दें कि गाय और भैंस के गोबर का प्रयोग करके एक प्लांट बनाया जाता है। इसे ही गोबर गैस प्लांट के नाम से जाना जाता है और इसके माध्यम से ही गैस पैदा की जाती है। आपको जानकारी दे दें कि इसका use बहुत से दूसरे कामों के लिए भी किया जाता है।

आप चाहें तो इसका प्रयोग अपने लिए कर सकते हैं या फिर आप इसका बिजनेस भी शुरू कर सकते हैं। बताते चलें कि इस प्लांट में जब गोबर और दूसरी सड़ी गली चीजें डाली जाती है तो उससे ही गैस उत्पन्न होती है।

Gobar Gas Plant Kaise Lagaye

Gobar Gas Plant Kaise Khole: अगर आप Gobar gas plant की शुरुआत करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको गाय और भैंस के गोबर की बहुत बड़ी मात्रा में जरूरत पड़ेगी। इसलिए आपको यह बिजनेस शुरू करने से पहले यह देखना होगा कि आप किस location पर इस plant को लगाना चाहते हैं।

आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि इसके लिए आप ऐसी जगह पर इसको स्थापित करें, जहां पर भारी मात्रा में गाय और भैंसें रहती हों। आप किसी ऐसी जगह का भी इस्तेमाल कर सकते हैं जहां पर गोबर इकट्ठा किया जाता है। ऐसा करने से आपको गोबर लाने के लिए फालतू का खर्च नहीं करना पड़ेगा।

ये भी पढ़ें:

गोबर गैस प्लांट कैसे काम करता है

जब आपका गोबर गैस प्लांट स्थापित हो जाता है तो उसके बाद उसके काम करने की प्रक्रिया इस प्रकार से है:

Gobar Gas Plant Business in Hindi

  • सबसे पहले गोबर गैस प्लांट के अंदर गोबर डाल दीजिए और उसके साथ ही उसमें पानी भी डाल दें।
  • ध्यान रखें कि आप जितना ज्यादा इसमें गोबर डालेंगे आपको उतना ही ज्यादा इसमें पानी की मात्रा भी डालनी होगी।
  • यह पूरी तरह से आपकी मर्जी है कि आप इसमें साफ पानी का इस्तेमाल करते हैं या फिर गंदे पानी का।
  • इसके अंदर जो गैस निकलने वाली पाइप लगी होती है उसका मुंह आपको पूरी तरह से अब बंद कर देना है। इसे तकरीबन 10 से 15 दिन तक के लिए ऐसे ही छोड़ दीजिए।
  • इस तरह से कुछ ही दिनों में गैस बन कर तैयार हो जाएगी।
  • आपको जितनी गैस की जरूरत हो आप उसी हिसाब से उसे इस्तेमाल कर सकते हैं।

Gobar Gas Plant Cost in India

अब आपके मन में यह सवाल जरूर आ रहा होगा कि आखिर इसमें कितनी लागत लग सकती है? तो यह पूरी तरह से इस बात के ऊपर निर्भर करता है कि आप कितना बड़ा गोबर गैस प्लांट बनाना चाहते हैं। मान लीजिए अगर आपका Gobar gas plant बड़े साइज का है तो तब आपको इसको लगाने के लिए ज्यादा पैसे खर्च करने होंगे।

वहीं अगर आप का गोबर गैस प्लांट छोटा है तो तब इन्वेस्टमेंट भी छोटी होगी। वैसे आपको जानकारी के लिए बता दें कि छोटे प्लांट को स्थापित करने के लिए आपको minimum 10 हजार रुपए तक की cost पड़ सकती है। लेकिन यदि आप का प्लांट बड़ा होगा तो उसके लिए आपको 50 हजार रुपए से लेकर एक लाख रुपए तक की लागत आ सकती है। साथ ही साथ raw material पर होने वाला खर्चा भी आपकी total cost को प्रभावित करता है।

Gobar Gas Plant Subsidy

यहां आपको हम जानकारी दे दें कि gobar gas plant के लिए subsidy भी सरकार द्वारा प्रदान की जाती है। बताते चलें कि लगभग 60% तक की सब्सिडी सरकार के माध्यम से प्लांट को स्थापित करने के लिए आपको मिल सकती है और जो बाकी का 40 परसेंट खर्चा होता है वह आपको खुद उठाना होता है। इस प्रकार से देखा जाए तो एक अच्छा प्लांट स्थापित करने के लिए यह एक बेहतरीन तरीका है।

ये भी पढ़ें:

गोबर गैस प्लांट के लाभ

gobar-gas-plant-business-gobar-gas-plant-kaise-shuru-kare
Photo by rupixen.com on Unsplash

यदि आप यह जानना चाहते हैं कि इस प्लांट को लगाकर आप कितना मुनाफा कमा सकते हैं, तो आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह पूरी तरह से इसके आकार के ऊपर निर्भर है। जानकारी दे दें कि बड़े साइज के प्लांट से आप हर महीने लगभग 2 लाख रुपए तक profit generate कर सकते हैं। इसी तरह से छोटे प्लांट से 20 हजार से 25 हजार रुपए तक कमाए जा सकते हैं।

गोबर गैस प्लांट लगाने के लिए सामग्री

Gobar Gas Plant Kaise Lagaye

गोबर गैस प्लांट को स्थापित करने के लिए आपको निम्नलिखित raw material की जरूरत पड़ेगी:

  • बजरी
  • सीमेंट
  • रेत
  • ईट
  • काला पेंट
  • पाइप
  • गैस पाइप
  • बर्नर

गोबर गैस प्लांट मशीनरी और उपकरण

अपने गोबर गैस प्लांट को सुचारू ढंग से चलाने के लिए आपको machinery और equipment की आवश्यकता पड़ेगी जैसे कि:

  • Pressure regulator
  • Purification system
  • Membrane compressor
  • Receiver
  • Gas storage tank
  • Overflow tank
  • Digester of double membrane
  • Field hand tools
  • Pressure regulator
  • Road weighbridge for weight
  • Slurry preparation tank
  • Rooftop and four submersible agitator

गोबर गैस प्लांट शुरू करने के लिए लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन

Gobar gas plant start करने के लिए जरूरी है कि आप इसके लिए लाइसेंस हासिल करें। आपको जानकारी के लिए बता दें कि जो लोग बिना लाइसेंस के इस काम को शुरू करते हैं, उनको कानूनी कार्यवाही का शिकार होना पड़ सकता है। इसलिए बेहतर यही होगा कि इसको स्थापित करने से पहले licence जरूर हासिल कर लें।

बताते चलें कि Gobar gas plant को शुरू करने से पहले आपको एक उद्योग registration करवाना पड़ेगा। इसके साथ साथ आपको एक pollution certificate भी हासिल करना होगा। साथ ही साथ आपके पास आप की भूमि और बिजली के सभी documents होने जरूरी हैं। फिर आपको उद्योग विभाग जाकर संपर्क करना होगा और अगर इसके अलावा भी दूसरे डाक्यूमेंट्स चाहिए होंगे तो उसके बारे में आपको वहां से जानकारी मिल जाएगी।

ये भी पढ़ें:

सेटअप

Gobar gas plant को शुरू करने के लिए सबसे पहले जरूरी है कि आप सभी जरूरी चीजों को इकट्ठा कर लें। उसके बाद आपको फिर इनको सेटअप करना होगा। आपको बता दें कि इसके लिए office, furniture, electricity connection, machines ,wiring के साथ-साथ दूसरे चीजों का भी सेटअप करना होगा। जानकारी दे दें कि इस सारे काम में आपको लगभग 1 साल का time लग सकता है।

बिजली बनाने की विधि

जब आप अपना पूरा Gobar gas plant setup कर लेंगे तो उसके बाद बिजली बनने के लिए निम्नलिखित प्रोसेस है:

  • सर्वप्रथम आपको गोबर लेकर उसे roadway bridge का यूज करके तोलना होगा। जानकारी दे दें कि जितना आपको बिजली का प्रोडक्शन करना है उसके अनुसार ही आपको गोबर लेना होगा।
  • अब गोबर को गोबर गैस प्लांट के टैंक में डालकर उसे पानी और घोल के साथ mix करना होता है।
  • इस प्लांट में जो गड्ढे बने हुए होते हैं उनमें agitator और motor पहले ही लगी होती है। इस प्रकार से फिर मोटर की सहायता से slurry को Digester में भेजने का काम किया जाता है।
  • इसके अंदर कुल 4 submersible agitator लगे होते हैं। उनका use ज्यादा से ज्यादा गोबर गैस बनाने के लिए किया जाता है। आपको बता दें कि इसके द्वारा ही methane का production अधिक मात्रा में किया जाता है।
  • फिर कच्चा माल Digester में मौजूद रूफ के द्वारा purification system के अंदर जाता है।
  • इस प्रकार से purification system CO2 को अवशोषित कर लेता है और CH4 (मीथेन) को शुद्ध करके उससे separate कर देता है। उसके बाद carbon dioxide को methane से separate करने के बाद कंप्रेशर की help से सिलेंडर में डाला जा सकता है।
  • अब आपको बता दें कि methane ready होने के बाद उसे फिर generator के माध्यम से पाइप लेकर कंप्रेसर से जोड़ा जाता है। इस तरह से गोबर गैस से बनने वाली बिजली का उपयोग सारे प्लांट में किया जाता है।

गोबर गैस सिलेंडर में कैसे भरते हैं

Gobar gas को सिलेंडर में भरने के लिए निम्नलिखित प्रोसेस को फॉलो करें

  • जो गैस आपने तैयार की है उसे purification system में जाकर CH4 से अलग कर दीजिए।
  • इस प्रकार से आप तैयार गैस को फिर कंप्रेसर की मदद से सिलेंडर में भर सकते हैं।

ये भी पढ़ें:

Mini Gobar gas plant या Biogas Kya Hai?

यह एक प्रकार का छोटा सा गोबर गैस प्लांट होता है। अगर आपके पास गोबर गैस प्लांट को शुरू करने के लिए ज्यादा पैसे नहीं है तो फिर आप ऐसे में Mini Gobar gas plant या biogas plant को स्थापित कर सकते हैं।

लेकिन आपको हम बता दें कि जो बड़ा गैस प्लांट होगा उसके comparison में इसमें गैस कम बनेगी क्योंकि इसका साइज छोटा होता है और इसमें ज्यादा गोबर नहीं डाला जा सकता। इस वजह से इसके माध्यम से गैस का production भी कम होगा।

गोबर गैस प्लांट से संबंधित जरूरी सावधानियां

Gobar gas plant को बनाते समय रखने वाली सावधानियां

  • इस बात का ध्यान रखें कि कहीं से भी leakage ना हो रहा हो वरना सारी गैस लीक हो जाएगी।
  • Time to time अपने गोबर गैस प्लांट में लगे सभी उपकरणों की जांच करते रहे।
  • आपको इस बात का भी ध्यान रखना है कि अपने गोबर गैस प्लांट में गोबर डालने और निकालने वाले पाइप को हमेशा ढक कर रखें।

Frequently Asked Questions (FAQs)

Gobar gas plant से निकलने वाली गैस का क्या नाम है?

इस गैस का नाम मीथेन है।

क्या गोबर गैस प्लांट कम लागत में शुरू किया जा सकता है?

जी हां लेकिन फिर फायदा भी उसी हिसाब से होगा।

गोबर गैस प्लांट लगाने के लिए सरकार कितनी सब्सिडी देती है?

60%

गोबर गैस प्लांट के बिजनेस को शुरू करके हर महीने कितनी कमाई की जा सकती है?

रु. 20 हजार से लेकर 2 लाख तक।

क्या इस प्लांट को शहरों में शुरू किया जा सकता है?

जी हां लेकिन जरूरी है कि वहां पर गोबर की मात्रा ज्यादा हो।

गोबर गैस प्लांट से क्या बिजली बनाई जा सकती है?

जी हां

निष्कर्ष

दोस्तों हम आशा करते हैं कि आपको हमारा ये आर्टिकल ‘Gobar Gas Plant Business Plan in Hindi’ आपको अच्छा लगा होगा और आपने निश्चित रूप Gobar Gas Plant Kaise Lagaye, संबंधी जानकारी हासिल कर ली होगी। इसी तरह के अन्य आर्टिकल पढने के लिए आप हमारे इस ब्लॉग को फॉलो कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें:

Sharing Is Caring:

Leave a Comment