Castor Oil in Hindi- (अरंडी) Castor Oil Manufacturing Business Plan in Hindi

विश्व स्तर पर Castor Oil (अरंडी के तेल) की भारी demand है क्योंकि यह वर्तमान समय की एक महत्वपूर्ण जरूरत बन गया है। अरंडी उत्पादक देशों में भारत सर्वश्रेष्ठ Castor Oil Seeds (अरंडी के बीज) का उत्पादन करने वाला देश है। विश्व स्तर पर कास्टर आयल के उत्पादन में भारत की लगभग 85% हिस्सेदारी है।

ऐसे में यदि आप भी Castor oil manufacturing business in India यानी कि अरंडी के तेल को बनाकर लाभ कमाना चाहते हैं तो आप निश्चित ही ऐसा कर सकते हैं। इसीलिए आज के इस लेख में हम आपको अरंडी का तेल बनाने के व्यवसाय Castor oil manufacturing business idea के संबंध में पूरी जानकारी देने जा रहे हैं। यदि आप इस व्यवसाय से जुड़ना चाहते हैं और अरंडी तेल का उत्पादन करना चाहते हैं तो आप हमारे इस लेख को ध्यानपूर्वक पढ़ें।

castor-oil-in-hindi-castor-oil-manufacturing-business-plan
Castor Seeds: Image by- Pixabay

Castor Oil manufacturing business in Hindi

यह एक ऐसा व्यवसाय है जिसमें कैस्टर बीन्स द्वारा तेल प्राप्त किया जाता है और फिर इसका उपयोग अलग-अलग Products को बनाने के लिए किया जाता है। वर्तमान समय में साबुन, पेंट, डाई, स्याही, नायलॉन यहां तक कि इत्र इत्यादि के निर्माण में भी इस तेल का उपयोग किया जाता है।

दरअसल कैस्टर बीन्स में एक विषैला एंजॉइम पाया जाता है जिसे रिकिन कहा जाता है। इस विषैले एंजाइम को निष्क्रिय करने के लिए कैस्टर बीन्स को एक विशेष तापमान पर गर्म किया जाता है जिस कारण यह विषैले एंजाइम आपको कोई हानि नहीं पहुंचा पाते। अरंडी के तेल को बनाने के लिए कई प्रकार के मशीनों की आवश्यकता पड़ती है। परंतु यदि आप छोटे स्तर पर व्यापार शुरू करना चाहते हैं तो आप इसे अपने घर से भी शुरू कर सकते हैं।

अरंडी के तेल का उपयोग (castor oil use in India) कई प्रकार के उत्पादों को बनाने के लिए किया जाता है जैसे सौंदर्य प्रसाधन, ठंड प्रतिरोधी प्लास्टिक, मोम पोलिश, पेंट, इत्र, प्लास्टिक और रबड़ चिपकाने वाले पदार्थ बायोडीजल, कपड़ों के रसायन, डाई, साबुन आदि।

इसके अलावा इसका प्रयोग कई आयुर्वेदिक दवाइयों में भी किया जाता है। कैस्टर ऑयल की बढ़ती मांग का एक बड़ा कारण यह भी है कि इसका उपयोग विभिन्न जगहों पर कच्चे माल के रूप में भी किया जा रहा है। कई प्रकार के उद्योगों में इसका इस्तेमाल कच्चे माल यानी कि Raw Material के रूप में किया जाता है।

अरण्डी के तेल के बाजार की बात करें तो उस सन् 2019 तक यह 790. 5 किलो टन का बाजार हुआ करता था। परंतु एक प्रसिद्ध रिपोर्ट के अनुमान अनुसार सन् 2025 तक यह लगभग 1470 मिलियन डॉलर का एक विशाल बाजार बन जाएगा। इस कारण इस व्यवसाय में लाभ की अनंत संभावनाएं हैं। यदि आप चाहें तो आप भी इस व्यवसाय (Castor Oil Business in Hindi) को शुरू कर सकते हैं और अच्छी आमदनी प्राप्त कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें:

Castor Oil बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें?

यदि आप भी अरंडी तेल बनाने का बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो आप को कुछ विशेष चीजों की आवश्यकता पड़ेगी परंतु यह बात इस पर निर्भर करती है कि आप कितने बड़े व्यवसाय की शुरुआत करने वाले हैं।

यदि आप छोटे आकार के Business की शुरुआत करने वाले हैं तो आप उसे अपने घर से बहुत कम Cost पर कर सकते हैं परंतु यदि आप बड़े स्तर पर बिजनेस की शुरुआत करना चाहते हैं तो आपको कुछ मूलभूत चीजें जैसे investment, Land, Business plan, Building, Machines, Raw material, Vehicle, workers इत्यादि की आवश्यकता पड़ेगी।

इस लेख में हम आपको विस्तार पूर्वक यह बता रहे हैं कि अरंडी के तेल के व्यवसाय को शुरू करने के लिए आपको किस प्रक्रिया से गुजरना होगा कौन-कौन सी चीजें आपके लिए आवश्यक होंगी। हम आपको बताएँगे कि किस प्रक्रिया का इस्तेमाल करके आप Profit कमा सकते हैं।

सबसे पहले आप यह निश्चित करें कि आप कितना बड़ा व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं। यदि आप छोटा व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं तो आप घर से इसकी शुरुआत अपने हाथों द्वारा काम करके भी कर सकते हैं। लेकिन यदि आप थोड़े बड़े स्तर पर इस व्यापार को शुरू करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको सबसे पहले एक जगह का चुनाव करना होगा। इसका तात्पर्य यह नहीं है कि आप केवल एक जगह को चुन लें बल्कि आपके लिए जरूरी है कि किसी जगह का चुनाव करने से पहले उसे अच्छी तरह समझने का प्रयास करें।

आपको यह पता होना चाहिए कि जहां पर आप अपना प्लांट लगाने वाले हैं वहां पर पहले से कुल कितने प्लांट मौजूद हैं और वह किस-किस प्रकार के प्रोडक्ट का उत्पादन कर रहे हैं। साथ ही आपको यह भी जानकारी होनी चाहिए कि उनके द्वारा produced उत्पादों की कितनी कीमत निर्धारित की गई है। आप यह भी पता करें कि जिस क्षेत्र में आप अपने प्लांट को खोलने के बारे में सोच रहे हैं वहां पर रहने वाले लोगों को किस तरह के प्रोडक्ट की आवश्यकता है यानी आपको डिमांड के बारे में भी जानकारी होनी चाहिए।

जब आप क्षेत्र के बारे में पूरी जानकारी एकत्र कर लें उसके पश्चात आप जमीन का चुनाव करें। जमीन के चुनाव के समय का ध्यान रखें कि वहां की रोड चौड़ी और अच्छी हो जिससे आपको उस स्थान पर ट्रांसपोर्ट की समस्या का सामना ना करना पड़े। यदि आपके पास स्वयं की जमीन हो तो यह काफी अच्छा है। इससे castor oil manufacturing cost में कुछ कमी आएगी। यदि आपके पास स्वयं की भूमि नहीं है तो आप इसे किराए पर भी ले सकते हैं।

आपने यह तो सुना ही होगा कि बिना Proper Planning के कोई कार्य आसानी से सफल नहीं होता। इसलिए अब आपको भी योजना बनाने की आवश्यकता है। आप यह प्लानिंग करें कि आप अपने प्लांट में कौन-कौन सी मशीनों का इस्तेमाल करेंगे और कौन-कौन से प्रोडक्ट का उत्पादन करना पसंद करेंगे। इसके साथ ही अपने निवेश का भी ध्यान रखें। आप इस Business में जितना पैसा लगा सकते हैं उसी के अनुसार ही इसके बिज़नेस की प्लानिंग करें।

Castor oil manufacturing business plan in Hindi

एक बार अपनी योजना बना लेने के पश्चात आप इसके Finance के बारे में सोचें। यदि आपको आर्थिक रूप से किसी समस्या का सामना करना पड़ रहा है और आप व्यवसाय की शुरुआत भी करना चाहते हैं तो आप भारत सरकार द्वारा मुद्रा लोन भी प्राप्त कर सकते हैं। भारत सरकार मेक इन इंडिया को बढ़ावा देने के लिए इस तरह के Business को Promote करने के लिए मुद्रा लोन प्रदान करती है।

इसके साथ ही आपको अपना Business शुरू करने के लिए लाइसेंस लेने या रजिस्ट्रेशन कराने की भी आवश्यकता पड़ती है। आप जिस भी ब्रांड के नाम से अपने Product को बेचने की इच्छा रखते हैं। उसके लिए आपको उस नाम से लाइसेंस प्राप्त करना आवश्यक है तभी आप अपने Product को अपने ब्रांड के नाम से बाजार में बेच सकेंगे।

इसके साथ ही अब आप अपने प्लांट के लिए जरूरी मशीनों की खरीद कर लें और जरूरी बिजली फिटिंग और पानी की व्यवस्था भी करें। साथ ही अपने प्लांट में काम करने के लिए आपको कर्मचारियों की भी आवश्यकता होगी इसलिए आप कर्मचारियों को भी नौकरी पर रख सकते हैं।

ये भी पढ़ें:

Investment for castor oil making business in Hindi

castor-oil-in-hindi-castor-oil-manufacturing-business-in-hindi
Photo by Precondo CA on Unsplash

यदि आप अरंडी तेल के व्यवसाय की शुरुआत करना चाहते हैं तो आपको जमीन तथा मशीन आदि पर खर्चा करने की आवश्यकता होती है। इसके अलावा आपको बिल्डिंग निर्माण के लिए भी पैसों की आवश्यकता होती है जिसमें करीब 2लाख से ₹3लाख तक खर्चा आ जाता है। मशीन खरीदने के लिए आपके पास 5 से 10 लाख रुपए होने चाहिए।

साथ ही आपको अपने प्लांट के लिए कच्चे माल की भी आवश्यकता होती है और उसके लिए आप की लागत करीब 2 से ₹3 लाख लग सकती है। इस प्रकार कुल मिलाकर देखा जाए तो इस व्यवसाय के लिए आपके पास करीब 15 से 20 लाख रुपए होने चाहिए। ऐसा तब है जब जमीन आपकी खुद की हो। यदि आपके पास जमीन नहीं है तो आपको अतिरिक्त निवेश की आवश्यकता पड़ेगी। यदि आप Castor Oil Manufacturing Plant लगाना चाहते हैं तो आपको करीब 1000 से 2000 sqft जमीन की आवश्यकता पड़ेगी।

Castor oil के उत्पादन के लिए जरूरी मशीनें

इसका Manufacturing Plant लगाने के लिए आपको अपने प्लांट में कुछ मशीनों का उपयोग करना पड़ता है जो निम्न है:

  • Seed crushing Expellers Sets
  • Support, Platform Fabrication
  • डीजी सेट
  • बायलर, पाइपलाइन तथा चिमनी
  • पाइप लाइन एवं फिटिंग
  • जरूरी स्पेयर पार्ट्स
  • फर्नीचर तथा कंप्यूटर
  • फायर फाइटिंग उपकरण
  • वजन ब्रिज
  • ऑल कलेक्शन तथा एक्सपेलर चेंबर और फिल्टर क्लॉथ
  • स्टेनलेस स्टील की ऑयल कलेक्शन ट्रे इत्यादि।

अरण्डी के तेल का बिज़नेस करने के लिए योग्यता और दस्तावेज

इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए आपके पास कुछ योग्यताओं और कुछ दस्तावेजों का होना आवश्यक है ताकि आप अच्छे से इस बिज़नेस को चला सकें। अरंडी तेल का उत्पादन करने के लिए आपके पास व्यवसायिक समझ (Business Understanding) का होना जरूरी है।

इसके साथ यह भी जरूरी है कि आप को अरंडी के बाजार का आंकलन करना आता हो क्योंकि अरंडी तेल का बाजार हमेशा अटकलों का शिकार रहता है। ऐसे में यदि आप बाजार का सही आंकलन करने में सक्षम नहीं है तो आपको नुकसान उठाना पड़ सकता है।

इसके साथ ही आपको कुछ दस्तावेजों की आवश्यकता होती है जिनकी जरूरत आपको अपने व्यवसाय को स्थापित करते समय पड़ेगी जैसे:

  • आपके पास आधार कार्ड या पैन कार्ड या वोटर कार्ड होना चाहिए
  • इसके अलावा आपके पास रजिस्टर्ड बिजनेस सर्टिफिकेट और जीएसटी रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट भी होना चाहिए
  • साथ ही आपके पास राशन कार्ड या बिजली का बिल होना भी जरूरी है
  • इसके अलावा आपको अपनी ईमेल आईडी और अपने बैंक अकाउंट की डिटेल तथा अपने फोन नंबर की आवश्यकता पड़ेगी
  • आपके पास ट्रेड लाइसेंस भी होना चाहिए।

ये भी पढ़ें:

अरण्डी तेल के बिज़नेस के लिए जरूरी लाइसेंस

  • आपके लिए जरूरी है की आप अपनी castor oil manufacturing unit को फैक्ट्री अधिनियम द्वारा रजिस्टर करा ले।
  • इसके अलावा आप अपने प्लांट को MSME के तहत भी रजिस्टर करा लें।
  • आपको जीएसटी रजिस्ट्रेशन भी करा लेना चाहिए क्योंकि इसकी आपको आवश्यकता ज़रूर पड़ेगी।
  • यदि आप चाहते हैं कि आप अपने castor Oil Products को देश से बाहर भेजें तो उसके लिए आपको Import Export कोड की आवश्यकता पड़ेगी।
  • आपके लिए जरूरी है कि आप पॉल्यूशन और फायर डिपार्टमेंट से भी क्लीयरेंस का दस्तावेज प्राप्त कर लें।
  • इसके अलावा आपको अपने कर्मचारियों के लिए ESI, EPF रजिस्ट्रेशन कराना भी आवश्यक है।

यदि आप बिना लाइसेंस के अपने उद्योग को स्थापित करते हैं तो आप कानूनी कार्यवाही के शिकार हो सकते हैं इसलिए यदि आप Arandi Ke Tel Ka Business करना चाहते हैं और अपने ब्रांड के नाम से अपने उत्पादों को बाजार में बिक्री के लिए भेजना चाहते हैं तो आपके लिए जरूरी है कि आप वह सभी लाइसेंस ले लें जो आपके लिए बेहद अनिवार्य हैं।

भारत में अरण्डी के तेल का उत्पादन करने की श्रेणी में सबसे प्रथम स्थान पर गुजरात का नाम आता है। गुजरात में भारत का 90% अरण्डी के तेल का उत्पादन होता है। इसकी मुख्य वजह है कि यहां कच्चे माल की प्राप्ति आराम से उपलब्ध हो जाती है।

इसके अलावा आप राजस्थान, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना में भी अपने व्यवसाय के लिए प्लांट खोल सकते हैं। भारत में हजारों सालों से इसका इस्तेमाल अलग-अलग रूप में किया जा रहा है। यह अपनी अलग स्वाद और गंध के लिए जाना जाता है।

निष्कर्ष

हमें उम्मीद है इस लेख के जरिए हमारे द्वारा आपको अरंडी तेल के उत्पादन Castor Oil Manufacturing Business in Hindi के बारे में काफी जानकारी उपलब्ध करा दी है। इस जानकारी के द्वारा आप इस व्यवसाय को शुरू कर सकते हैं।

इस उद्योग के द्वारा आप अच्छा खासा लाभ कमा सकते हैं क्योंकि अरंडी का तेल एक ऐसा पदार्थ है जिसे वर्तमान समय में कई उत्पादों में उपयोग किया जाता है चाहे वह सौंदर्य से संबंधित हो या दवाइयों से संबंधित। या फिर किसी उद्योग का ही कोई कार्य क्यों ना हो वहां भी कच्चे माल के रूप में अरंडी तेल प्रयोग में आ रहा है। इस कारण इसका एक अच्छा बाजार उपलब्ध है।

ये भी पढ़ें:

Sharing Is Caring:

Leave a Comment