Check ANM Course Details in Hindi- ANM Full Form, Eligibility, Fees, Duration

ANM Course Details in Hindi- ANM Full Form in Hindi: अगर आप मेडिकल फील्ड में आना चाहते हैं और अपना कैरियर बनाना चाहते हैं तो आपको ANM Course in Hindi के इस लेख को जरूर पढ़ना चाहिए। इस लेख में आपको इस कोर्स और मेडिकल फील्ड से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी मिलने वाली है जो आपके कैरियर में सही निर्णय लेने के लिए मददगार साबित होगी।

लेख में एएनएम कोर्स की सारी जानकारी दी गई है जैसे एएनएम कोर्स क्या है, एएनएम कोर्स में क्या क्या सिखाया जाता है, ANM Course Full Form in Hindi, Career Scope in एएनएम कोर्स, एएनएम कोर्स Admission, एएनएम कोर्स Top College, एएनएम कोर्स Entrance Exam आदि।  

anm-course-details-in-hindi
Medical uniforms photo created by artursafronovvvv – www.freepik.com

ANM Course Details in Hindi | ANM Course Full Form Kya Hai?

एएनएम कोर्स मेडिकल फील्ड का एक अहम डिप्लोमा कोर्स है। जिसे हम 12 वीं पास करने के बाद कर सकते हैं। इस कोर्स को करने के बाद कैंडिडेट को चिकित्सा के क्षेत्र में जॉब मिलती है। ANM Course Full Form- Auxiliary Nurse Midwifery होता है जिसे आम भाषा में नर्स की जॉब पाना भी कहते हैं। याद रखें कि यह कोर्स सिर्फ़ फीमेल कैंडिडेट ही कर सकते हैं।

कुछ समय से मेडिकल फील्ड में बड़ी उछाल देखने को मिली है। जिसकी वजह से एएनएम डिग्री प्राप्त महिला Candidates की डिमांड काफी ज्यादा बढ़ गई है। इस कोर्स को करने के बाद जल्द ही हॉस्पिटल, नर्सिंग होम, हेल्थ केयर, हेल्थ सेंटर, क्लीनिक, ट्रामा सेंटर्स आदि में जॉब के अवसर मिलने लगते हैं। एएनएम कोर्स की मेडिकल क्षेत्र में हमेशा से अहम भूमिका रही है। इस कोर्स के माध्यम से काफी सारी महिला कैंडिडेट अपने कैरियर को सफल बना रही हैं।

ANM Course Kya Hai – इसमें क्या क्या सिखाया जाता है?

इस कोर्स में वह सारी जानकारियां दी जाती है जो एक नर्स को पता होनी चाहिए। कोर्स को पूरा करने में 2 साल का समय लगता है। इसमें आपको ह्यूमन एनाटॉमी, बायोलॉजी, बायोलॉजिकल साइंस, माइक्रोबायोलॉजी, समाजशास्त्र, मनोविज्ञान, व्यवहार विज्ञान, नर्सिंग के बुनियादी सिद्धांत आदि विषयों पर विस्तार से जानकारी दी जाती है।

इसके साथ ही सभी विषयों के प्रेक्टिकल भी लैब में कराए जाते हैं ताकि स्टूडेंट को मेडिकल फील्ड की की नॉलेज अच्छे से मिल सके। एएनएम कोर्स में 2 साल के अंदर स्टूडेंट को नर्सिंग फील्ड के जानकारी से निपुण कर दिया जाता है जिससे उन्हें कोर्स पूरे होने के साथ ही जॉब के भरपूर अवसर मिल सकें।

ये भी पढ़ें:

Career Scope in ANM Course

एएनएम कोर्स में कैरियर स्कोप काफी बेहतर होता है। इस कोर्स को पूरा करने के बाद आपको किसी भी दफ्तर के चक्कर काटने की जरूरत नहीं पड़ती है। एएनएम कोर्स के बाद आपको सरकारी और प्राइवेट सेक्टर दोनों में ही जॉब मिल सकती है।

सरकारी क्षेत्र की बात करें तो उसमे एएनएम कोर्स के दौरान या कोर्स के बाद किसी हॉस्पिटल में इंटर्नशिप करनी पड़ती है। वहां आपका काम देखकर आपके सीनियर प्रभावित होते हैं और यदि आप आप अच्छी लगन से काम करते है तो आपकी उसी हॉस्पिटल में ही जॉब लग सकती है।

इसके अलावा सरकार द्वारा समय समय पर Vacancies भी निकाली जाती हैं जिसमें आवेदन देकर आप सरकारी हॉस्पिटल, हेल्थ सेंटर, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, रेलवे, डिफेंस सेक्टर, ग्रामीण स्वास्थ केंद्र आदि में जॉब पा सकते हैं।

प्राइवेट सेक्टर में भी एएनएम डिग्री धारकों की काफी ज्यादा डिमांड बनी हुई है। इस सेक्टर में कैंडिडेट को क्लीनिक, ट्रामा सेंटर्स, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट, प्राइवेट नर्सिंग होम, प्राइवेट हॉस्पिटल, आदि क्षेत्रों में जॉब के अवसर मिल सकते हैं। इन क्षेत्रों में वेतन भी अच्छा दिया जाता है।

आपको बता दें कि कुछ सालों से हमारे भारत में जिस हिसाब से जनसंख्या वृद्धि हो रही है, उसी हिसाब से हॉस्पिटल, क्लीनिक, सेंटर आदि भी बढ़ते जा रहे हैं। ऐसे में आपको एएनएम कोर्स करना काफ़ी फायदेमंद हो सकता है और इसमें आपकी अच्छी ग्रोथ भी हो सकती है।

एएनएम कोर्स में एडमिशन कैसे लें- How to get admission in ANM Course

ANM Course Ke Liye Qualification: एएनएम कोर्स करने के लिए स्टूडेंट को 12 वीं पास करना जरूरी होता है। इसलिए आपका किसी भी संकाय जैसे साइंस, आर्ट्स, कॉमर्स आदि में 12 वीं पास होना अनिवार्य है। पर ध्यान रहे इनके साथ साथ 12वीं में इंग्लिश विषय का होना भी बेहद ज़रूरी है।

ANM Nursing Course Admission: अगर आप सरकारी कॉलेज से एएनएम कोर्स करना चाहते हैं तो आपको उसके लिए प्रवेश परीक्षा (ANM Course Entrance Exam) यानी कि एएनएम परीक्षा पास करनी होगी। उसके बाद आपका नाम मेरिट लिस्ट में आएगा, जिसके अनुसार आपको एडमिशन मिल जाएगा। अगर आप प्राइवेट कॉलेज में यह कोर्स करना चाहते हैं तो कुछ प्राइवेट कॉलेजों में भी प्रवेश परीक्षा ली जाती है पर अधिकतर कॉलेज में डायरेक्ट एडमिशन मिल जाता है।

ध्यान रखें कि आप जिस प्राइवेट कॉलेज में एडमिशन लेने जा रहे हैं वह कॉलेज “नर्सिंग काउंसिल ऑफ इंडिया” से मान्यता प्राप्त हो, तभी आप उस कॉलेज पर भरोसा कर सकते हैं। इसके अलावा यह भी सुनिश्चित कर लें कि कॉलेज की टीचिंग, प्रेक्टिकल सुविधा, कैंपस आदि अच्छे हों।

ANM Course Fees in India in Hindi

ANM Course Fees in Government Colleges – ANM Course Fees in Private Colleges:
एएनएम कोर्स की फीस प्राइवेट कॉलेजों में 60 हज़ार से लेकर 1 लाख रुपये प्रति वर्ष तक हो सकती है। इसमें अलग अलग कॉलेजों में अलग अलग फीस होती है। सरकारी कॉलेज या संस्थान में प्राइवेट कॉलेज के मुकाबले काफी कम फीस होती है। सरकारी कॉलेज में कुछ राज्यों में जाति प्रमाण पत्र अथवा गरीबी प्रमाण पत्र  के आधार पर छात्रों से कम फीस ली जाती है और स्कॉलरशिप की सुविधा भी दी जाती है।

ये भी पढ़ें:

Best College for ANM Course in India in Hindi

anm-course-details-in-hindi-in-india
Photo by Pokuri Clicks Photography

ANM Course Top Colleges

  • ऑल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंस दिल्ली
  • ऑल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंस भुवनेश्वर
  • बरेली इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी
  • क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज तमिलनाडु
  • सिंबोसिस इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी
  • जवाहरलाल इंस्टीट्यूट आफ पोस्टग्रेजुएट मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च सेंटर
  • रोहिलखंड मेडिकल कॉलेज बरेली
  • विवेकानंद कॉलेज ऑफ़ नर्सिंग लखनऊ
  • एरा नर्सिंग कॉलेज लखनऊ
  • राजीव गांधी पैरामेडिकल इंस्टीट्यूट दिल्ली
  • अपोलो स्कूल ऑफ नर्सिंग दिल्ली
  • अहिल्याबाई कॉलेज ऑफ नर्सिंग दिल्ली

इसके अलावा भारत के और भी राज्यों में एएनएम कोर्स के लिए कॉलेज और संस्थान मौजूद हैं। आप अपनी सुविधानुसार उन कॉलेज का चयन कर सकते हैं।

ANM Nursing Course Syllabus and Duration | ANM Course Syllabus in Hindi

एएनएम में कौन कौन से सब्जेक्ट होते हैं: इस कोर्स को पूरा करने में 2 साल का समय लगता है और लगभग 6 महीने के लिए किसी हॉस्पिटल में इंटर्नशिप करनी पड़ती है। एन एम कोर्स का सिलेबस इस प्रकार है।

पहला वर्ष

  • Community Health Nursing
  • Health Promotion
  • Child Health Nursing
  • Primary Health Care Nursing – 1

दूसरा वर्ष

  • Midwifery
  • Child Health
  • Community Health and Health Center Management

एएनएम कोर्स के बाद जॉब के क्षेत्र (Job after ANM Course)

ए एन एम कोर्स करने के बाद महिला कैंडिडेट को निम्न जगहों पर जॉब मिल सकती है:

  • ग्रामीण स्वास्थ्य केंद्र
  • क्लीनिक
  • नर्सिंग होम
  • हॉस्पिटल
  • गैर सरकारी संगठन
  • सरकारी स्वास्थ्य शिविर
  • एन जी ओ
  • एजुकेशनल इंस्टीट्यूट
  • मेडिकल कॉलेज
  • ट्रामा सेंटर
  • हेल्थ केयर सेंटर
  • रक्त जांच केंद्र, आदि।

इन सभी जगहों के अलावा बड़े कंपनियों में भी जॉब मिल सकती है जैसे:

  • स्टेट नर्सिंग काउंसिल
  • मैक्स हॉस्पिटल
  • इंडियन रेड क्रॉस सोसाइटी
  • मेट्रो हॉस्पिटल
  • इंडियन नर्सिंग काउंसिल
  • कैलाश हॉस्पिटल
  • फोर्टिस हॉस्पिटल
  • एम्स हॉस्पिटल, इत्यादि।

ए एन एम के कार्य

इस कोर्स को करने के बाद जो काम या जॉब मिलती है, उसमें महिला कैंडिडेट को नीचे बताये गए कार्य करने को कहा जाता है। ये कार्य एक नर्स के रूप में करने होते हैं:

  • नर्स का मुख्य काम रोगियों की देखभाल करना
  • डॉक्टर के निर्देश के अनुसार मरीजों को दवाइयां देना
  • मरीजों के रिकार्ड्स को मेंटेन करके रखना
  • डॉक्टर के काम में मदद करना
  • इलाज में प्रयोग होने वाले उपकरणों की देखभाल करना।
  • डॉक्टर की अनुपस्थिति में मरीज की देखरेख करना।

ये भी पढ़ें:

एएनएम कोर्स के बाद वेतन (Salary After ANM Course in Hindi)

ANM Ki Salary: आज की तारीख में एएनएम कोर्स के डिग्री धारकों को अच्छा पैकेज मिलता है। भारत में ANM पास महिला कैंडिडेट को 10 हज़ार से लेकर 30 हज़ार तक की सैलरी दी जाती है। एएनएम में, गवर्नमेंट सेक्टर के अंतर्गत अलग सुविधा और प्राइवेट सेक्टर के अंतर्गत अलग सुविधा के साथ सैलरी मिलती है। यानि दोनों ही सेक्टर में आपको एक अच्छे कैरियर बनाने के ऑप्शन मिलते हैं।

ANM Course Details in Hindi: यह हेल्थ सेक्टर का एक ऐसा फील्ड है जिसमें आपको अनुभव के हिसाब से पैसे मिलते हैं। शुरुआत कम पैसों से होती है मगर जैसे जैसे आप पूरी लगन से काम करते हैं, वैसे वैसे आपके अनुभव के साथ आपका वेतन भी बढ़ता जाता है। हर साल हजारों की संख्या में एएनएम कोर्स के माध्यम से देश की बेटियां आत्मनिर्भर बन रही हैं।

Frequently Asked Questions (FAQs)

एएनएम कोर्स कितने साल का होता है?

ANM Course Duration in India: एएनएम कोर्स को पूरा करने में 2 साल का समय लगता है।

एएनएम के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए?

इस कोर्स में एडमिशन लेने के लिए स्टूडेंट का 12 वीं पास करना जरूरी है और 12 वीं में अंग्रेजी विषय होना अनिवार्य है। इसके बाद स्टूडेंट, एएनएम कोर्स में दाखिला लेने के योग्य बनता है।

एएनएम कोर्स में एडमिशन कैसे मिलता है?

ANM Course Admission: 12 वीं पास करने के बाद स्टूडेंट को सरकारी कॉलेज से एएनएम कोर्स करने के लिए प्रवेश परीक्षा पास करनी पड़ती है। जिसके बाद मेरिट लिस्ट में स्टूडेंट का नाम आने पर उसे एडमिशन दिया जाता है। जबकि प्राइवेट कॉलेज में बिना प्रवेश परीक्षा के डायरेक्ट भी एडमिशन लिया जा सकता है।

ANM कोर्स करने के क्या फायदे हैं?

एएनएम कोर्स करने के कई सारे फायदे हैं। कोर्स करने के बाद जल्दी ही जॉब के अवसर मिलने लगते हैं। सरकार द्वारा निकाली गई वेकेंसी में आवेदन देकर तुरंत ही जॉब पा सकते हैं। एएनएम डिग्री धारकों को नर्सिंग फील्ड की वेकेंसी में ज्यादा प्राथिमकता दी जाती है जिससे कैंडिडेट आसानी से जॉब ले पाते हैं।

एएनएम कोर्स की फीस कितनी है?

एएनएम कोर्स की फीस 60 हज़ार से लेकर 1 लाख रुपये प्रति वर्ष तक हो सकती है।

एएनएम कोर्स कितने दिन का होता है?

यह कोर्स 730 दिन अथवा 2 साल का होता है।

ANM Full Form क्या है?

ANM Course Full Form- Auxiliary Nurse Midwifery

निष्कर्ष

दोस्तों, हमें उम्मीद है ANM Course Details in Hindi- ANM Full Form in Hindi के इस लेख के माध्यम से आपको एएनएम कोर्स के बारे में महत्वपूर्ण  जानकारी मिली होगी। इसके अलावा आपके मन में इस कोर्स से संबंधित कोई भी सवाल हों तो हमें टिप्पणी करके ज़रूर सूचित करें। हम आपके सवालों के जवाब तुरंत ही देने की कोशिश करेंगे।

Sharing Is Caring:
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x