Physiotherapy में कैरियर कैसे बनाएं | Best Physiotherapy Colleges In India

Physiotherapist kaise bane in hindi: नमस्कार ! आज हम जानेंगे कि पैरा मेडिकल की फील्ड फीजिओथेरेपी मे करिअर कैसे बनाए? (Physiotherapy me career kaise banaye). हम ये भी बताने वाले हैं कि एक सफल फीजिओथेरेपिस्ट कैसे बने (How to become a successful Physiotherapist)? अगर आपने फीजिओथेरेपी नाम सुन रखा है पर आपको इसके बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है, तो आप इस पोस्ट को पढ़ कर इसमें करिअर बनाने संबंधी सारी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

a-patient-is-being-treated-with-physiotherapy
Photo by Anete Lusina from Pexels

आज के इस पोस्ट मे आप जानकारी हासिल करेंगे फीजिओथेरेपिस्ट क्या होता है, फीजिओथेरेपिस्ट कैसे बने या फीजिओथेरेपी मे करिअर कैसे बनाए। इसमें करिअर बनाने के लिए आपकी योग्यता क्या होनी चाहिए और आपको कौन से कोर्स करने चाहिए, इस बारे मे भी सारी जानकारी शेयर की गई है।

फीजिओथेरेपी के क्षेत्र में जॉब के व्यापक अवसर हैं। इसलिए इसमें करिअर बना कर आप अपना फ्यूचर सुरक्षित कर सकते हैं।

Physiotherapy क्या है ?

फीजिओथेरेपी पैरामेडिकल की एक फील्ड है जिसमें शरीर की कुछ विशेष बीमारियों का इलाज बॉडी के फिज़िकल मूवमेंट जैसे मसाज, हीट ट्रीट्मन्ट और एक्सर्साइज़ द्वारा किया जाता है।

मान लीजिए आपकी गर्दन में बहुत दिनों से दर्द हो रहा है और आप न तो ठीक से सो पा रहे हैं और न ही गर्दन का मूवमेंट ठीक से कर पा रहे हैं। ऐसी स्थिति में आपको फीजिओथेरेपिस्ट के पास जाना चाहिए।

जब आप फीजिओथेरेपिस्ट के पास जाएंगे तो वो सबसे पहले आपकी मेडिकल हिस्ट्री पूछेगा। साथ ही ये भी जानने की कोशिश करेगा कि आपको क्या परेशानी हो रही है। सब कुछ सुनने के बाद वो आपसे आपकी जॉब प्रोफाइल और दिनचर्या के बारे में पूछेगा। घबराईए मत वो आपसे आपकी पोस्ट और सैलरी के बारे मे interested नहीं है, वो तो बस ये जानना चाहता है कि आप की जॉब में फिज़िकल मूवमेंट कितना है। मतलब आपकी जॉब, केवल कुर्सी पर बैठने वाली है या फील्ड की है?

ये सब जानकारी लेने के बाद फीजिओथेरेपिस्ट आपकी परेशानी का विश्लेषण करेगा और पता लगाएगा कि आपको दर्द क्यों हो रहा है। आपकी हेल्थ कन्डिशन का आँकलन करके वो मसाज, एक्सर्साइज़ आदि के द्वारा आपका इलाज करेगा। फीजिओथेरेपी की कुछ सिटिंग के बाद आपकी बीमारी ठीक हो जाती है।

Physiotherapy में किस तरह की समस्याओं का इलाज किया जाता है ?

अभी हमने आपको बताया कि मसाज, फिज़िकल मूवमेंट और हीट ट्रीट्मन्ट के द्वारा शरीर की अनेकों बीमारियों का इलाज किया जाता है। फीजिओथेरेपी द्वारा जिन विकारों और बीमारियों का इलाज किया जाता है इसका विवरण इस प्रकार है

  • गर्दन और रीढ़ की हड्डी में दर्द
  • हड्डियों, जोड़ों, मांशपेक्षियों मे दर्द की समस्या
  • शरीर के किसी भी हिस्से में Muscle Pain
  • फेफड़े संबंधी बीमारियाँ जैसे अस्थमा
  • प्रसव के उपरांत महिलाओं मे योनि की सूजन और अपच जैसी समस्याएं
  • शरीर मे थकान, body pain, मांसपेशियों मे जकड़न

इसके अतिरिक्त भी शरीर की बहुत सारी बीमारियाँ हैं जिनका इलाज फीजिओथेरेपी द्वारा किया जाता है।

आपने देखा कि ऊपर बताई गई समस्याएं तो लगभग हर एक व्यक्ति मे होती हैं। मतलब अगर इस क्षेत्र में करिअर बनाया जाए तो फीजिओथेरपिस्ट के पास काम की कमी नहीं होगी।

तो अगर आपने इस फील्ड में काम करने का मन बना लिया है और आगे जानने के इच्छुक हैं कि Physiotherapist Kaise bane या फिर Physiotherapy me career kaise banaye, तो इस पोस्ट को अंत तक ध्यान से ध्यान से पढ़िए।

Physiotherapy me career kaise banaye

किसी भी क्षेत्र में करिअर बनाने के लिए कुछ Basic Requirements होती हैं जिन्हे हम Eligibility Criteria कहते हैं। Physiotherapist बनने के लिए भी ऐसी ही कुछ आवश्यकताएं हैं जिनका विवरण नीचे दिए गया है

young-lady-is-taking-physiotherapy-treatment
Photo by Karolina Grabowska from Pexels

फीजिओथेरेपिस्ट बनने के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए | Qualification for Physiotherapist

फीजिओथेरपी में कैरियर बनाने के लिए Qualification:

  • सबसे पहले जरूरी है कि आप 10+2 की पढ़ाई कम से कम 50% अंकों से पूरी करें। 12 वीं में आपके विषय Physics, Chemistry, Mathematics या फिर Biology होने चाहिए।
  • उसके बाद आप किसी अच्छे संस्थान से फीजिओथेरेपी मे डिप्लोमा या फीजिओथेरेपी मे डिग्री कोर्स करने के लिए आवेदन दे सकते हैं।
  • डिग्री या डिप्लोमा कर लेने के बाद आप जॉब करने के योग्य हो जाते है। पर अगर आप मास्टर कोर्स कर लेंगे तो आपके कैरियर में चार चाँद लग जाएंगे।
  • अगर आपने मन बनाया है कि आप खुद का Physiotherapy Clinic खोल कर अपने कैरियर को आगे बढ़ाएंगे तो इसके लिए आपको मिनिस्ट्री ऑफ हेल्थ से लाइसेन्स (Physiotherapy Certificate) लेना होगा।

फीजिओथेरेपी में कैरियर बनाने के लिए Entrance Exams कौन से हैं ?

फीजिओथेरेपी मे कोर्स करने के लिए सभी संस्थान प्रवेश परीक्षा आयोजित नहीं करते हैं। इसके लिए कुछ प्राइवेट संस्थानों में direct admission की सुविधा भी उपलब्ध है। पर याद रखें इस संस्थानों की फ़ीस बहुत ज्यादा होती है।

बेहतर ये है कि आप Entrance Exam दे कर ही सरकारी अथवा मान्यता प्राप्त संस्थानों मे admission लें। ऐसी जगहों पर फ़ीस कम रहती है और पढ़ाई की क्वालिटी भी अच्छी होती है। फीजिओथेरेपी मे करिअर बनाने के लिए आपको ये प्रवेश परीक्षाएं देनी चाहिए-

  • सी पी एन ई टी (CPNET)
  • आई पी यू सी ई टी (IPU CET)
  • एन एल डी सी ई टी (NLD CET)
  • एल पी यू एन ई एस टी (LPUNEST)
  • आई ई एम जे ई ई (IEMJEE)

Physiotherapy Course, Duration and Fees in India

फीजिओथेरेपी के कैरियर बनाने के लिए सबसे कॉमन और पॉपुलर कोर्स Bachelor of Physiotherapy (BPT) है। वैसे इंडिया में फीजिओथेरेपी में 5 तरह के कोर्स उपलब्ध हैं।

  • सर्टिफिकेट कोर्स इन फीजिओथेरेपी
  • डिप्लोमा कोर्स इन फीजिओथेरेपी
  • अन्डरग्रेजुएट कोर्स इन फीजिओथेरेपी
  • पोस्टग्रेजुएट कोर्स इन फीजिओथेरेपी
  • डॉक्टरेट कोर्स इन फीजिओथेरेपी

सर्टिफिकेट कोर्स कुछ घंटों से ले कर 1 वर्ष का होता है। कोर्स की अवधि के अनुसार इसकी फ़ीस रु. 500/- से ले कर 1,50,000/- तक हो सकती है।

डिप्लोमा कोर्स 2 वर्ष की अवधि का होता है और इस कोर्स को कम्प्लीट करने की फ़ीस रु. 10,000/- से 5,00,000/- तक जा सकती है। इन्हे DPT Course या डिप्लोमा इन फीजिओथेरेपी कोर्स भी कहते हैं।

अंडरग्रेजुएट कोर्स 3 से 4 वर्ष की अवधि के होते हैं। फीजिओथेरेपी के इन कोर्स को करने की फ़ीस रु. 1,00,000/- से 5,00,000/- हो सकती है। इन्हे BPT Course या बैचलर इन फीजिओथेरेपी कोर्स भी कहते हैं।

पोस्टग्रेजुएट कोर्स 2 वर्ष की अवधि के होते हैं। कोर्स की प्रकृति के अनुसार इसकी फ़ीस रु. 20,000/- से 7,00,000/- तक पहुँच जाती है। इन्हे MPT Course या मास्टर इन फीजिओथेरेपी कोर्स भी कहते हैं।

डॉक्टरेट लेवल फीजिओथेरेपी कोर्स 3 से 5 वर्ष की अवधि के होते हैं। ये कोर्स पी एच डी करने के लिए डिजाईन किए गए हैं। इस तरह के कोर्स मुख्यत: बड़ी यूनीवर्सिटी में टीचिंग में कैरियर बनाने के लिए किये जाते हैं। इस तरह के कोर्स की फ़ीस रु. 2,00,000/- से 6,00,000/- तक हो सकती है।

What are Top 20 Physiotherapy Colleges In India?

वैसे तो प्रदेश की हर यूनीवर्सिटी मे फीजिओथेरपी के कोर्स उपलब्ध हैं और आप कहीं से भी कोर्स कर सकते हैं। पर जब भी कैरियर बनाने की बात आती है तब लोग उन्ही संस्थानों मे admission लेना चाहते हैं जो बेस्ट हों। रैंकिंग के आधार पर जो कॉलेज अच्छे हैं उनकी सूची इस प्रकार है

  1. अपोलो कॉलेज ऑफ फीजिओथेरेपी – हैदराबाद
  2. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ हेल्थ एजुकेशन एण्ड रिसर्च – पटना
  3. पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल एजुकेशन एण्ड रिसर्च – चंडीगढ़
  4. पंडित दिन दयाल उपाध्याय इंस्टिट्यूट फॉर द फिजिकली हैंडीकेप्ड – नई दिल्ली
  5. गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज – नागपूर
  6. जे एस एस कॉलेज ऑफ फीजिओथेरेपी – मैसूर
  7. एस डी एम कॉलेज ऑफ फीजिओथेरेपी – धारवाड़
  8. के जी सोमैया कॉलेज ऑफ फीजिओथेरेपी – मुम्बई
  9. टोपीवाला नेशनल मेडिकल कॉलेज – मुम्बई
  10. महाराष्ट्र यूनीवर्सिटी ऑफ हेल्थ साईंसेस – नासिक
  11. किंग एडवर्ड मेमोरियल हॉस्पिटल – मुम्बई
  12. सविता यूनीवर्सिटी – चेन्नई
  13. स्कूल ऑफ मेडिकल एजुकेशन – कोट्टायम
  14. प्रवरा इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साईंसेस – लोनी, महाराष्ट्र
  15. वेल्स यूनीवर्सिटी – चेन्नई
  16. फादर मुलर मेडिकल कॉलेज – मैंगलोर
  17. साईं नाथ यूनीवर्सिटी – ओरमाझी, झारखंड
  18. श्री वेंकटेश्वरा इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साईंसेस – तिरुपति, आंध्रा प्रदेश
  19. लैलापुर खालसा कॉलेज – जालंधर
  20. महाराजा अग्रसेन मेडिकल कॉलेज – अगरोहा, हरयाणा

फीजिओथेरेपिस्ट के अंदर क्या स्किल्स होनी चाहिए | Important Key Skills required for Physiotherapist

एक अच्छे फीजिओथेरेपिस्ट के अंदर निम्नलिखित स्किल्स होनी चाहिए

  • फीजिओथेरेपिस्ट की Communication Skills बहुत अच्छी होनी चाहिए। उसे कई तरह के मरीजों का इलाज करना होता है, इसलिए उसे सबसे अच्छे से बात करना आना चाहिए। बात करके ही उनसे उनकी परेशानी पूछनी चाहिए और अपनी सहानुभूति भी दिखानी चाहिए। मरीजों को भरोसा दिलाएं कि वो कुछ दिनों मे बिल्कुल ठीक हो जाएंगे।
  • फीजिओथेरेपी में मसाज से लेकर हीट ट्रीट्मन्ट जैसी विधियाँ अपनाई जाती हैं और इनमें काफी वक्त लगता है। अगर आपके क्लिनिक में मरीजों की लिस्ट लंबी है तो जाहिर है आपको सांस लेने की भी फुरसत नहीं मिलेगी। इसलिए फीजिओथेरेपिस्ट के अंदर Strong Physical Stamina चाहिए जिससे वो लंबे समय तक काम कर सके।
  • फीजिओथेरेपी की विधियाँ काफी समय लेती हैं। अगर आप किसी Patient को बेड पर लिटा कर मशीन वाला गरम मसाजर चलाते हैं तो इसकी cycle पूरी होने में कम से कम 10 मिनट तो लगेगा। इस खाली समय में आप अन्य मरीजों को देख सकते हैं। समय का सदुपयोग करने के लिए Multitasking की ये कला आपको जरूर आनी चाहिए।
  • मांशपेशियों और हड्डियों का दर्द केवल एक सिटिंग में ठीक नहीं हो पाता, इसलिए Patients को आपके clinic मे कई बार विज़िट करना पड़ता है। मरीजों को ये लगने लगता है कि अब आप उनको अच्छे से समझ गए होंगे। इसलिए आपको चाहिए कि आपके क्लिनिक मे आने वाले सभी मरीजों के हेल्थ की जानकारी अपडेट करके रखें। इसके लिए आपको Health Monitoring and Tracking skills को बना कर रखन होगा।
  • जरूरी नहीं कि आपके क्लिनिक में केवल जवाँ मर्द ही आयें, बच्चे, महिलायें और बुजुर्ग भी इलाज के लिए आपके क्लिनिक मे आएंगे। इसलिए आपको सभी के साथ अच्छे से बर्ताव करने और बात करने की कला (Interpersonal Skills) आनी चाहिए।

What are Physiotherapist Career Prospects ?

women-is-being-treated-for-neck-stiffness-by-physiotherapy
Photo by Karolina Grabowska from Pexels

Career Opportunities in Physiotherapy in India

Physiotherapy एक ऐसा क्षेत्र हैं जहां कैरियर की अपार संभावनाएं हैं। अगर आप इस क्षेत्र में अपना कैरियर बनाते है तो आपको इस तरह के काम करने के अवसर प्राप्त होंगे

  • आप अपना खुद का क्लिनिक खोल सकते हैं।
  • कॉर्पोरेट कंपनियों के लिए Ergonomic Care Advisor बन सकते हैं।
  • कॉर्पोरेट कंपनियों के लिए Paid online अथवा offline training दे सकते हैं।
  • बड़े बड़े hospital में Consultant Physiotherapist बन सकते हैं।
  • स्पोर्ट्स फीजिओथेरेपिस्ट बन सकते हैं।
  • मेडिकल इंस्टिट्यूट और कॉलेज में लेक्चरर बन सकते हैं।
  • इसी क्षेत्र में Researcher बनकर कैरियर को आगे बढ़ा सकते हैं।
  • मल्टी नेशनल कंपनियों मे Visiting Physiotherapist बन कर अपनी सेवाएं दे सकते हैं।
  • ब्रांडेड और नामी गिरामी Gym के लिए भी कुछ घंटे दे सकते हैं।
  • Rehabilitation Centers के लिए काम कर सकते हैं।

Physiotherapist Salary कितनी होती है ?

Physiotherapy me career opportunities को देख कर आपके मन में ये सवाल जरूर आ रहा होगा कि फीजिओथेरेपिस्ट की सैलरी कितनी होती है? आपको जानकर हैरानी होगी कि इस क्षेत्र मे सैलरी की कोई सीमा नहीं है।

सरकारी अस्पतालों में काम करंगे तो वर्तमान समय में 50 हजार रुपये प्रति माह से 1 लाख प्रति माह की सैलरी कहीं नहीं गई। इतना तो आपको मिलेगा ही। पर यदि आप ब्रांडेड प्राइवेट अस्पतालों में काम करेंगे तो मासिक सैलरी 1 लाख रुपये के ऊपर चली जाएगी।

खुद के क्लिनिक में तो आपको उम्मीद से ज्यादा ही मिलेगा। आप जितनी मेहनत और ईमानदारी से काम करेंगे उतना ही अच्छा फल मिलेगा। आप खुद ही अंदाजा लगाईए कि प्रतिष्ठित Physiotherapist बन जाने के बाद यदि आपके क्लिनिक में प्रति दिन 20 नए मरीज आते हैं और आप सबसे नामांकन के लिए 500 रुपये लेते हैं, तो प्रति माह 3 लाख रुपये तो बन ही जाएंगे।

इसके अलावा अगर समय निकाल कर आप Patient को देखने के लिए Home Visit करते हैं या Industrial Plants में Visiting Physiotherapist बन कर सेवाएं देते हैं तो इसमें भी आपको अच्छा पैसा मिलेगा।

निष्कर्ष | Conclusion

तो दोस्तों, आपने देखा कि साधारण सा लगने वाला फीजिओथेरपी का ये क्षेत्र, जॉब के कितने अवसर समेटे हुए है। इसमें कैरियर बनाने के बाद आप इसमें मिलने वाली इज्जत और पैसा देख कर वाह वाह कर उठेंगे। आप स्वयं ही अपने छोटे भाई बहनों और जान पहचान के लोगों को गाइड करेंगे और बताएंगे कि Physiotherapy me career kaise banaye या Physiotherapist kaise bane?

पर दूसरों को बताने से पहले आपको अपना career बनाना है। इस पोस्ट में हमने हर संभव जानकारी जैसे Physiotherapy eligibility, Courses, Skills required for Physiotherapist आदि की जानकारी दी है। आपको ये भी बताया है कि Which are the best and Top 20 Physiotherapy Colleges In India, जहाँ से आप पढ़ाई कर सकते हैं।

मुझे मालूम है कि Physiotherapist Salary, Job Scope and Career Prospects को देख कर आपके मन में आ रहा होगा कि जल्दी से जल्दी इसमें कैरियर बनाना है। तो दोस्तों, देर किस बात की है, अगर आप अभी 12 वीं में हैं और आपने अभी तक सोचा नहीं है कि किस क्षेत्र मे करिअर बनाएं, तो Physiotherapy me career बनाने का विचार बहुत बेहतरीन हैं।

ये भी पढ़ें:

Foreign Language मे कैरियर कैसे बनाए ? 6 Best Foreign Languages to learn in India for Jobs

Leave a Reply