D Pharma Course Details in Hindi- डी फार्मा कोर्स क्या होता है?

D Pharma Course Details in Hindi, D Pharma Full Form, D Pharma Course Duration and Fees, D Pharma Eligibility, Diploma in Pharmacy Course Full Details in Hindi

d-pharma-course-details-in-hindi-d-pharma-full-form
Image by senivpetro on Freepik

आज हम चिकित्सा क्षेत्र से संबंधित डी फार्मा कोर्स के बारे में चर्चा करने वाले हैं। अगर आप मेडिकल फील्ड में अपना कैरियर बनाने के लिए सोच रहे हैं तो आपके लिए आज का यह लेख काफी महत्वपूर्ण है।

आपको बता दें कि फार्मेसी क्षेत्र में मुख्यत तीन कोर्स होते हैं, जिनमें से डी फार्मा को अहम कोर्स माना जाता है। लेख में हम इस कोर्स के बारे में विस्तार से जानने वाले हैं जैसे D Pharma कोर्स क्या है, कोर्स के लाभ क्या हैं, कोर्स में एडमिशन कैसे लें, कोर्स के लिए योग्यता क्या है, कोर्स के बाद कैरियर विकल्प क्या है, कोर्स के बाद सैलरी कितनी मिलती है।

डी फार्मा Course के बारे में जानने के लिए लेख को अंत तक अवश्य पढ़ें। ताकि आपके मन में अपने कैरियर को लेकर उठ रहे सवालों का हल मिल सके।

What is D Pharma Full Form in Hindi | डी फार्मा का फुल फॉर्म क्या है

डी फार्मा का पूरा नाम Diploma in Pharmacy होता है। इसे पढ़ते समय कुछ इस प्रकार से उच्चारण किया जाता है “डिप्लोमा इन फार्मेसी”। हिंदी की सरल भाषा में इसे समझने के लिए दवासाजी में डिप्लोमा या फार्मेसी में डिप्लोमा करना ही कहा जाता है।

हमने देखा कि डी फार्मा के फुल फॉर्म में फार्मेसी शब्द का इस्तेमाल किया गया है। इसलिए D Pharma कोर्स के बारे में जानने से पहले आपके लिए फार्मेसी के बारे में जानना जरूरी हो जाता है।

What is Pharmacy in Hindi | फार्मेसी क्या होता है

फार्मेसी का क्षेत्र चिकित्सा क्षेत्र से अहम संबंध रखता है। चिकित्सा में प्रयोग होने वाली दवाइयां, टॉनिक आदि फार्मेसी के अंतर्गत आती हैं। यानि दवाइयों के निर्माण, वितरण, मिश्रण, प्रयोग, टेस्ट आदि सभी कार्य फार्मेसी के अंतर्गत किये जाते हैं।

आपको बता दें कि फार्मेसी में तीन प्रकार के कोर्स होते हैं। ये कोर्स, डी फार्मा, बी फार्मा और एम फार्मा होते हैं जिसमें से हम डी फार्मा कोर्स को विस्तार से आगे लेख में जानने वाले हैं।

लेख में आगे बढ़ने से पहले जानकारी हेतु बता दें कि डी फार्मा एक डिप्लोमा कोर्स है, जबकि बी फार्मा एक बैचलर डिग्री कोर्स है और एम फार्मा मास्टर डिग्री कोर्स होता है।

ये भी पढ़ें:

ECG Technician Course Details in Hindi- ईसीजी टेक्नीशियन कैसे बनें
ANM Course क्या है- ANM Course Details, ANM Full Form in Hindi!
BFA Full Form in Hindi | BFA Course Details in Hindi | BFA Kya Hai?

D Pharma Kya Hai | What is D Pharma Course Details in Hindi

डी फार्मा कोर्स, चिकित्सा क्षेत्र से संबंधित प्राथमिक कोर्स है जो डिप्लोमा कोर्स के वर्ग में शामिल है। इस कोर्स के माध्यम से स्टूडेंट या कैंडिडेट दवाइयों के निर्माण, रखरखाव, उनके प्रयोग, लैब टेस्ट आदि के बारे में शिक्षा प्राप्त करते हैं।

D Pharma Course पूरा करने के बाद छात्र, फार्मासिस्ट या केमिस्ट बन सकता है। सरल भाषा में कहें तो वह अपनी खुद की दवाइयों की दुकान भी चला सकता है।

वर्तमान समय में बढ़ते हॉस्पिटल और जनसंख्या के कारण फार्मेसी की भी काफी ज्यादा डिमांड है। अगर आप फार्मेसी के क्षेत्र में रुचि रखते हैं और एक अच्छे कैरियर की तलाश में हैं तो आपके लिए यह कोर्स एक अच्छा विकल्प हो सकता है। हर साल इस कोर्स के माध्यम से काफी छात्र और छात्राएं डिग्री प्राप्त करके अपने कैरियर की शुरुआत कर रहे हैं।

डी फार्मा कोर्स के लिए योग्यता | D Pharma Eligibility Details in Hindi

डी फार्मा कोर्स मेडिकल फील्ड से संबंध रखता है जिसमें आपको अच्छे तरीके से प्रशिक्षण एवं शिक्षा प्राप्त करने के बाद ही डिग्री दी जाती है। इस कोर्स में प्रवेश करने के लिए कुछ प्रमुख योग्यताओं का होना अनिवार्य है जिनका विवरण नीचे दिया गया है।

  • सबसे पहले स्टूडेंट को 12 वीं पास करना अनिवार्य है।
  • 12 वीं में विज्ञान का विषय होना अनिवार्य है।
  • कक्षा 12 में विज्ञान विषय में जीव विज्ञान, भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान तीनों विषयों का होना अनिवार्य है।
  • स्टूडेंट को 12 वीं कक्षा में कम से कम 50 प्रतिशत अंक प्राप्त होना चाहिए।
  • कुछ कॉलेजों या संस्थानों में इससे कम अंक प्राप्त करने पर भी योग्य माना जाता है।
  • स्टूडेंट या कैंडिडेट की उम्र कम से कम 17 वर्ष होना अनिवार्य है।
  • एडमिशन के लिए स्टूडेंट को प्रवेश परीक्षा में सफल होना आवश्यक है।

डी फार्मा कोर्स में एडमिशन कैसे लें

डी फार्मा कोर्स में एडमिशन मुख्य रूप से 2 तरीके से होता है। कुछ कॉलेजों में एडमिशन के लिए प्रवेश परीक्षा (Entrance Exam) आयोजित की जाती है। जबकि कुछ कॉलेजों में 12 वीं में प्राप्त अंकों के आधार पर ही मेरिट लिस्ट जारी कर दी जाती है।

आपको बता दें कि कोर्स में एडमिशन के लिए सबसे पहले प्रवेश परीक्षा के लिए आवेदन देना पड़ता है। प्रवेश परीक्षा में सफल होने के बाद कॉलेज द्वारा जारी की गयी मेरिट लिस्ट में स्टूडेंट का नाम आने के बाद उसे एडमिशन दिया जाता है।

Entrance Exams for D Pharma Course in India in Hindi

  • JEE PHARMACY
  • UPSEE
  • GPAT
  • AU AIMEE
  • JEE POLYTECHNIC, etc.

ये भी पढ़ें:

DMLT Course Details in Hindi- DMLT Full Form, DMLT Course Fees in India
BCA Course Details in Hindi- Full Form, Duration, Fees in India- हिंदी में
CMA Course Details in Hindi- CMA Full Form in Hindi

What is D Pharma Course Duration in Hindi | डी फार्मा कोर्स कितने साल का होता है

डी फार्मा कोर्स को पूरा करने के लिए 2 साल और लगभग 3 महीने का समय लगता है। इन 2 सालों के दौरान स्टूडेंट या कैंडिडेट को फार्मेसी के अंदर दवाइयों से संबंधित सारी जानकारी दी जाती है। उसके बाद बाकी बचे 3 महीने में उन्हें प्रशिक्षण भी दिया जाता है ताकि स्टूडेंट इस क्षेत्र में निपुण हो सके।

आपको बता दें कि डी फार्मा 2 साल के कोर्स को 4 सेमेस्टर में विभाजित करके पढ़ाया जाता है। हर सेमेस्टर में परीक्षा या टेस्ट लिया जाता है जिसमें पास करने के बाद ही अगले सेमेस्टर के लिए प्रमोट किया जाता है।

D Pharma Course Fees Details in Hindi | डी फार्मा कोर्स की फीस कितनी होती है

पूरे भारत में कई सारे कॉलेज एवं संस्थान हैं जिनमें डी फार्मा कोर्स आयोजित किया जाता है। डी फार्मा कोर्स के लिए अलग अलग कॉलेजों में भिन्न भिन्न प्रकार की फीस ली जाती है। सरकारी कॉलेजों में प्राइवेट कॉलेजों के मुकाबले कम फीस होती है।

सरकारी कॉलेजों में डी फार्मा कोर्स के लिए लगभग ₹5,000 से लेकर ₹1,00,000 तक की फीस होती है। जबकि प्राइवेट कॉलेज या निजी संस्थानों में यह फीस बढ़कर ₹50,000 से लेकर ₹2,00,000 तक भी हो सकती है। आप अपनी सुविधानुसार जिस कॉलेज में पढ़ना चाहते हैं वहाँ जाकर सही फीस की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

D Pharma Course Syllabus and Subjects Details in Hindi

पहला वर्ष

  • Pharmacology 1
  • Pharmaceutical chemistry 1
  • Pharmacognosy
  • Biochemistry Clinical Pathology
  • Human Anatomy Physiology
  • Health Education Community Pharmacy

दूसरा वर्ष

  • Pharmacology 2
  • Pharmaceutical chemistry 2
  • Pharmacology Toxicology
  • Pharmaceutical Jurisprudence
  • Drug Store Business Management
  • Hospital Clinical Pharmacy
  • Antibiotics
  • Hypnotics 

ऊपर दिए गए सिलेबस के अनुसार डी फार्मा कोर्स के विषयों को पढ़ाया जाता है। कुछ कॉलेजों में कुछ विषय उपरोक्त में से कम या ज्यादा हो सकते हैं। पर मुख्य रूप से यही बेसिक विषय होते हैं जिन पर पूरा पाठ्यक्रम बना होता है।

डी फार्मा कोर्स के क्या फायदे हैं

डी फार्मा कोर्स के फायदे एवं लाभ नीचे विस्तार पूर्वक दिए गए हैं।

  • यह कोर्स काफी कम समय में पूरा हो जाता है।
  • इस कोर्स को पूरा करने के बाद छात्र, सरकारी एवं प्राइवेट दोनों क्षेत्रों में काम के योग्य बन जाते हैं।
  • डी फार्मा कोर्स करने के बाद जल्द ही जॉब के अवसर मिल जाते हैं।
  • इस कोर्स के बाद स्टूडेंट या कैंडिडेट, व्यवसाय के रूप में अपना खुद का मेडिकल स्टोर भी चला सकते हैं।
  • कोर्स के बाद फार्मासिस्ट या केमिस्ट के पदों पर आसानी से जॉब कर सकते हैं।

डी फार्मा कोर्स के बाद नौकरी

डी फार्मा कोर्स के बाद स्टूडेंट या कैंडिडेट के पास मेडिकल क्षेत्र में जॉब के बहुत सारे विकल्प उपलब्ध होते हैं। इनमें से प्रमुख क्षेत्रों एवं पदों का विवरण नीचे बताया गया है।

  • ड्रग इंस्पेक्टर के पद में नौकरी
  • साइंटिफिक ऑफिसर के पद में नौकरी
  • सरकारी और प्राइवेट क्षेत्र में फार्मेसिस्ट
  • ड्रग मैन्युफैक्चरिंग कंपनी में मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव
  • मेडिसिन मार्केटिंग क्षेत्र
  • मेडिकल स्टोर क्षेत्र
  • प्रोडक्शन एग्जीक्यूटिव
  • मेडिकल एजेंसी
  • एनजीओ
  • रिसर्च सेंटर
  • निजी मेडिकल स्टोर, आदि।

Salary After D Pharma Course in Hindi | डी फार्मा कोर्स के बाद कितनी सैलरी मिलती है

डी फार्मा कोर्स को पूरा करने के बाद मिलने वाली जॉब में पोस्ट के आधार पर अलग अलग सैलरी मिलती है। सरकारी क्षेत्र की सैलरी और प्राइवेट क्षेत्र सैलरी में काफी अंतर होता है।

भारत में एक फ्रेशर डी फार्मा कोर्स के डिग्री धारक को लगभग ₹12,000 से लेकर ₹25,000 तक प्रति माह वेतन मिल सकता है। अनुभव हो जाने के बाद, सैलरी में इज़ाफ़ा भी होता है।  जॉब के बाद 2 से 3 साल के अनुभवी कैंडिडेट को लगभग ₹20,000 से लेकर ₹35,000 तक प्रति माह वेतन मिल सकता है।

आपको बता दें कि इस कोर्स के बाद स्टूडेंट या कैंडिडेट, अपनी खुद की Medical Shop खोलकर भी अच्छे पैसे कमा सकते हैं। जानकारी के अनुसार यह कोर्स कर लेने के बाद कोई भी कैंडिडेट, निजी मेडिकल स्टोर से लगभग ₹10,000 से लेकर असीमित पैसे अर्जित कर सकते हैं।

निष्कर्ष

मित्रों, हमें आशा है कि आपको हमारा यह पोस्ट ‘ D Pharma Course Details in Hindi अच्छा लगा होगा। इस पोस्ट में हमने D Pharma Meaning in Hindi से लेकर इसके जॉब स्कोप तक के बारे में बताया है। अगर आपको इस प्रोफेशन के कोर्स से सम्बंधित कोई और जानकारी चाहिए तो आप हमें कमेंट करके ज़रूर बताएं।  

Frequently Asked Questions (FAQs)

डी फार्मा कोर्स की फीस कितनी होती है?

डी फार्मा कोर्स की फीस लगभग ₹5,000 से लेकर 2 लाख तक होती है। अलग अलग कॉलेजों में अलग अलग फीस होती है।

डी फार्मा कोर्स करने के बाद कौन सी जॉब मिलती है?

डी फार्मा कोर्स के बाद मेडिकल क्षेत्र में कई सारे जॉब विकल्प होते हैं। जिनके बारे में हमने लेख में चर्चा की है। मुख्य रूप से कोर्स के बाद फार्मासिस्ट एवं केमिस्ट की जॉब प्राप्त कर सकते हैं।

डी फार्मा कोर्स की अवधि कितनी होती है?

डी फार्मा कोर्स को पूरा करने में 2 साल 3 महीने का समय लगता है।

डी फार्मा कोर्स के बाद कितनी सैलरी मिलती है?

डी फार्मा कोर्स के बाद मिलने वाली नौकरी की शुरुआत में लगभग 12 हजार रुपए से लेकर 25 हजार रुपए तक प्रति माह वेतन मिल सकता है। लगभग 2 साल के अनुभव के बाद 35 हजार रुपए तक प्रति माह वेतन मिल जाता है।

डी फार्मा का पूरा नाम क्या है?

डी फार्मा का पूरा नाम “डिप्लोमा इन फार्मेसी” (Diploma in Pharmacy) होता है।

Sharing Is Caring:

Leave a Comment