Architect Kaise Bane | How to become an Architect in India in Hindi

Rate this post

Architect Kaise Bane: अगर आपको बड़ी-बड़ी बिल्डिंग्स को देखकर ताज्जुब होता हैं और आपके मन में भी यह ख्याल आता है कि इन बिल्डिंग्स को कैसे बनाया जाता है और कौन इन्हें design करता है तो आपको बता दें कि यह काम एक Architect द्वारा किया जाता है। अगर आप भी बिल्डिंग्स को डिज़ाइन करना चाहते हैं तो आप बिल्कुल सही पोस्ट पढ़ रहे हैं क्योकि आज हम बात करने वाले हैं कि Architect Kaise Bane?

अगर आप भी एक architect बनना चाहते हैं और बड़ी-बड़ी बिल्डिंग्स को बनाना चाहते हैं तो आपको यह पोस्ट अंत तक पढ़नी चाहिए क्योंकि आज हम बात करने वाले हैं कि architect kya hota hai, How to become architect in India in Hindi. इसके साथ ही आपको बताएँगे कि इसका स्कोप कितना है, कितना पढ़ना पड़ेगा और सैलरी कितनी मिलेगी।

architect-kaise-bane
Photo by Tima Miroshnichenko from Pexels

Architect Kya Hota Hai?

Architect Kaise Bane | Architect Meaning in Hindi: Architect वह व्यक्ति होता है जो किसी भी इमारत को डिज़ाइन करता है और उसकी रूपरेखा बनाने में होने वाले सभी कामों में अपनी भूमिका निभाता है। एक तरह से कहा जाए तो architect को खाली जमीन दे दी जाती है और उस जमीन पर बिल्डिंग के डिज़ाइन से लेकर Building के खड़े होने तक के डिजाइनिंग वाले सभी काम को एक architect संभालता है। 

Architect केवल बिल्डिंग्स ही नहीं डिजाईन करता है बल्कि वह हर तरह की इमारत को बनाने में सक्षम होता हैं जैसे- घर, ऑफिस, बिल्डिंग्स, गोदाम आदि। अगर आप सोचते हैं कि आपको केवल बिल्डिंग्स बनाने का काम मिलेगा, तो यह एकदम गलत हैं क्योकि एक architect को सभी तरह की इमारतों को डिज़ाइन करना पड़ता है। 

Architect के प्रकार- Types of Architect in Hindi 

वैसे तो आर्किटेक्ट कई प्रकार के होते हैं जैसे- Landscape Architect, Restoration Architect, Research Architect, Commercial Architect, Residential Architect  और Extreme Architect आदि। लेकिन मैं आपको केवल residential और commercial architect के बारे में बताने वाला हूँ क्योकि इन्ही दोनों के डिफरेंस में लोग सबसे ज्यादा confuse होते हैं।  

Residential Architect:- यह house और apartments तैयार करते हैं। इन्हे इंटीरियर डिज़ाइनर के साथ मिलकर काम करना पड़ता है। एक रेजिडेंशियल आर्किटेक्ट को घर की हर जरुरी चीज के लिए space का ध्यान रखना होता है और इलेक्ट्रीशियन व प्लम्बिंग का भी ध्यान रखना पड़ता है। साथ ही हाउस की डेकोरेशन को भी ध्यान में रखकर डिज़ाइन बनाना होता है। 

Commercial Architect:- यह हमेशा बड़े लेवल पर काम करते हैं क्योकि इन्हे Bank, हॉस्पिटल, कम्पनीज और बड़ी बिल्डिंग्स को खड़ा करना पड़ता है। इन्हे भी रेजिडेंशियल आर्किटेक्ट की तरह ही इन सभी जगहों के space का ध्यान रखना होता है जैसे- लॉबी, लिफ्ट, पार्किंग एरिया, रिसेप्शन आदि। commercial architect को commercial designer  मिलकर काम करना पड़ता है। 

Architect के कैरियर में स्कोप कितना है?

इस फील्ड में काफी अच्छा करियर है क्योकि आप सभी जानते हैं कि समय के साथ टेक्नोलॉजी बदल रही है और हमारे मकान भी। एक समय था जब मिट्टी से घर बनाये जाते थे, उसके बाद ईँट और चूने का इस्तेमाल किया जाने लगा। आज के समय में लोग अपने घर को खुद डिज़ाइन करवाना पसंद करते हैं ताकि उनका घर अन्य लोगों के घरों से से अलग और अच्छा दिखे। 

अगर आप बड़े शहरों में जाते हैं तो आपको गगन चूमती इमारतें भी देखने को मिलेंगी। गगन चूमती इमारतों के नाम से आपके दिमाग में बुर्ज खलीफा का नाम ज़रूर याद आयेगा। यह आर्किटेक्चर एक बेहतरीन नमूना है। 

इमारत चाहे छोटी हो या बड़ी, सभी लोग आर्किटेक्ट को जरूर बुलाते हैं क्योकि उन्हें अपने घर या बिल्डिंग दूसरो से अलग चाहिए। अगर आप एक आर्किटेक्ट बनते हैं तो आपको कई सारी कंपनियों में जॉब बड़े आराम से मिल सकती है क्योकि इस सेक्टर में डिमांड ज्यादा हैं और लोग काफी कम हैं। 

Architect Kaise Bane- How to become an Architect in India in Hindi?

Architect बनने के लिए आपको B. Arch का कोर्स करना पड़ेगा, जिसके लिए आपको 12वीं chemistry, physics और mathematics से करनी होगी और आपके बारहवीं में 50% से ज्यादा अंक होने चाहिए। आप 10th के बाद भी B. Arch कोर्स के लिए अप्लाई कर सकते हैं लेकिन इसके लिए आपके पास सिविल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा होना जरुरी है जिसमे आपके कम-से-कम 50% मार्क्स होने compulsory हैं। 

B. Arch में एडमिशन कैसे लें?

B. Arch में एडमिशन लेने के लिए आपको सबसे पहले Entrance Exam को क्लियर करना होगा। हर college में Entrance Exam अलग तरह से लिया जाता है लेकिन कुछ बड़े colleges में एंट्रेंस एग्जाम को क्लियर करके एडमिशन ले सकते हैं- यह एग्जाम हैं NATA (national aptitude test in architecture) और JEE. 

JEE का एग्जाम IIT में एडमिशन लेने के लिए एक एंट्रेंस एग्जाम है। IIT में प्रवेश पाने के लिए आपको अधिकतम अंकों के साथ मेरिट में Entrance Exam पास होना चाहिए, तभी आप ऐसे रेप्युटेटेड इंस्टिट्यूट से architecture की पढ़ाई कर पाएंगे। 

Best college for B. Arch course 

Architect Kaise Bane: वैसे तो इंडिया में बहुत सारे कॉलेज हैं जहाँ से आप आर्किटेक्ट का कोर्स कर सकते हैं, लेकिन बेस्ट कॉलेज कुछ ही हैं जिनके बारे में अब हम बात करने वाले हैं।

  • Indian Institute of Technology, Kharagpur
  • Indian Institute of Technology, Roorkee 
  • Birla institute of technology, Mesra
  • Faculty of architecture, Mahe, Manipal
  • School of planning & architecture, Delhi
  • Sir J.J. college of architecture, Mumbai
  • Indian institute of technology, Kharagpur
  • Faculty of architecture Jamia Milia, Delhi
  • National institute of technology, Trichy 

आप उपरोक्त में से किसी भी कॉलेज से आर्किटेक्ट का कोर्स कर सकते हैं। यदि आप चाहें तो इनके अर्तिरिक्त किसी दूसरे कॉलेज से भी कोर्स कर सकते हैं।

B. Arch कोर्स में कितना खर्चा आएगा?

कोर्स में आपका खर्चा थोड़ा ज्यादा होता है क्योकि इस कोर्स की समय सीमा ही काफी ज्यादा है। यह कोर्स पूरे पाँच साल में कम्पलीट होता है जिसकी वजह से इसमें कुल 4-8 लाख के बीच खर्च हो जाता है। College की लोकप्रियता और उसमे दी जाने वाली सुविधा के आधार पर आपकी फीस कम-ज्यादा हो सकती है। अगर आप इतनी फीस afford नहीं कर सकते, तो आप सरकारी कॉलेज के माध्यम से B. Arch का कोर्स कर सकते हैं।

B. Arch Course के बाद खुद को रजिस्टर्ड करें 

Architect Kaise Bane: जब आप B. Arch के कोर्स को पूरा कर लेते हैं तो आपको सबसे पहले खुद को council of architecture (COA) में Registered कराना होगा। इसमें आप ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह से रRegistration कर सकते हैं। अगर आप भारत में architecture का काम करना चाहते हैं तो आपको COA में रजिस्टर्ड करना अनिवार्य है। 

आप इनकी वेबसाइट पर जाकर भी ऑनलाइन रजिस्टर कर सकते हैं। ऑनलाइन या ऑफलाइन आवेदन करने पर आपको कुछ शुल्क भी चुकाना पड़ता है जिसके बाद आप इंडिया में अपनी खुद की कंपनी खोल सकते हैं या किसी कंपनी में जॉब कर सकते हैं। 

Architect Job Types 

architect kaise bane how to become an architect
Image By: Pixabay

एक architect बनने के बाद आपके सामने कई प्रकार के जॉब ऑप्शन खुल जाते हैं जिनमें से आप किसी भी प्रकार की जॉब कर सकते हैं और अपने कैरियर को आगे बढ़ा सकते हैं। एक आर्किटेक्ट विभिन्न type के जॉब्स कर सकता हैं जैसे-

  • Building architect 
  • Landscape architect
  • Industrial architect
  • Green design architect
  • Naval architect
  • Architecture designer
  • Architecture technologies
  • Preservation architect
  • Lightening architect
  • Restoration architect

Architecture की सैलरी कितनी होती हैं?- Architect Salary in India

शुरुआत में एक आर्किटेक्ट को केवल रु. 30-40 हजार के बीच में ही मिलते हैं, लेकिन जैसे-जैसे आपका एक्सपीरियंस बढ़ता हैं वैसे-वैसे आपकी सैलरी भी बढ़ती है। आपकी सैलरी कई बातों पर निर्भर करती है जैसे- आप किस तरह की कंपनी में काम करते हैं और आप किस तरह की इमारत को डिज़ाइन करते हैं। अगर आप बिल्डिंग्स के डिज़ाइन बनाते हैं तो जाहिर सी बात है आपकी सैलरी ज्यादा होगी और अगर आप घर और apartment के डिज़ाइन बनाते हैं तो आपकी सैलरी कम हो सकती है।

एक architect बनने के लिए किन skills का होना जरूरी है- Skills of an Architect

देखिए, अगर आप एक अच्छा आर्किटेक्ट बनना चाहते हैं तो आपके अंदर कुछ स्किल्स का होना जरूरी होता है ताकि आप आर्किटेक्ट की फील्ड में अपना कैरियर बना सकें जैसे-

  • Communication skills
  • Management skill
  • Visualisation skill
  • Technical skill
  • Creative thinking

Architect बनने के बारे में मेरी राय

आपको एक आर्किटेक्ट जरूर बनना चाहिए, क्योकि इस फील्ड में पैसा और स्कोप दोनों हैं। अगर आपको ऊँची-ऊँची बिल्डिंग्स को देखना और उनके बारे में जानना अच्छा लगता हैं तो यह फील्ड आपके लिए ही बनी है। लेकिन इस फील्ड में कामयाब होने के लिए आपको काफी मेहनत करनी पड़ेगी, क्योकि आपकी कामयाबी आपके द्वारा बनाए गए डिज़ाइन और आपने कितने बड़े प्रोजेक्ट्स में काम किया है उस पर निर्भर करती है। इसी से तय होगा कि आप इस फील्ड में कितना आगे जाएंगे।

एक सक्सेसफुल आर्किटेक्ट बनने के लिए आपको अपने clients की जरूरतों का पूरा ध्यान रखना होता है। आपको अपने क्लाइंट्स के बजट से लेकर उनकी इच्छाओं पर पूरी तरह से खरा उतरना पड़ेगा और अपना बेस्ट देना होगा।

एक प्रोफेशनल आर्किटेक्ट की पहचान यही होती है कि वह अपने क्लाइंट्स के बजट को ध्यान में रखकर बेहतरीन काम करता है। अगर आप भी एक सक्सेसफुल आर्किटेक्ट बनना चाहते हैं तो आपको भी अपने डिज़ाइन के साथ-साथ क्लाइंट पर भी ध्यान देना होगा। अगर आप जॉब नही करना चाहते हैं तो आप खुद की कंपनी खोलकर भी आर्किटेक्ट का काम कर सकते हैं। 

निष्कर्ष

उम्मीद करता हूँ कि आपको हमारा यह पोस्ट “Architect Kaise Bane – How to become an architect in India in Hindi?” पसन्द आया होगा। इस पोस्ट में हमने Architect Kya Hota Hai, Architect Meaning in Hindi, Best College for Architect Course के बारे में जानकारी डी है जो आपके काम आयेगी। अगर पोस्ट अच्छा लगा हो, तो इसे सोशल मीडिया पर अवश्य शेयर करें।

ये भी पढ़ें:

Sharing Is Caring:

Leave a Comment