Scientist Kaise Bane | How To Become Scientist in Hindi

5/5 - (1 vote)

Scientist Kaise Bane in Hindi: दोस्तों! साइंटिस्ट बनने का ख्वाब तो बहुत से लोग देखते हैं। क्या आप भी खोज की दुनिया में अपना करियर बनाना चाहते हैं? लेकिन नहीं जानते हैं कि Scientist Kaise Bane तो यह आर्टिकल खास आपके लिए है। दरअसल ऐसे बहुत से लोग हैं जो साइंटिस्ट बनना चाहते हैं। परंतु उन्हें साइंटिस्ट बनने के बारे में किसी भी तरह का मार्गदर्शन नहीं मिल पाता है। इसी मार्गदर्शन के अभाव में कई होनहार छात्रों का भविष्य अधर में ही अटक कर रह जाता है।

लेकिन अब आपको परेशान होने के लिए कोई आवश्यकता नहीं है क्योंकि आज के इस महत्वपूर्ण आर्टिकल में How To Become Scientist in Hindi के बारे में विस्तार से जानकारी उपलब्ध कराई जाएगी। हम आशा करते हैं कि इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ने के उपरांत आपके मन मस्तिष्क में किसी तरह का सवाल नहीं रह पाएगा। तो चलिए दोस्तों बिना ज्यादा देर किए जानते हैं, Scientist Kaise Bane संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी।

scientist-kaise-bane
Image Created at Canva

साइंटिस्ट क्या होता है

मित्रों! इतना तो आप सभी जानते होंगे कि साइंस और साइंटिस्ट दोनों का ही संबंध खोज से है। मतलब कि वह व्यक्ति जो नई नई खोज करने का कार्य करता है, उसे ही वैज्ञानिक कहा जाता है। साधारण शब्दों में कहा जाए तो किसी भी क्षेत्र में ज्ञान प्राप्त करने या खोज के आधार पर नई चीजें सीखने वाला व्यक्ति ही वैज्ञानिक है।

ये भी पढ़ें: 10वीं और 12वीं के बाद Engineer Kaise Bane | How To Become Engineer in Hindi?

वैज्ञानिक कैसे बने (Scientist Kaise Bane)

यदि आप वैज्ञानिक बनना चाहते हैं तो आपको इससे संबंधित जानकारी अवश्य होनी चाहिए। साइंटिस्ट बनने के लिए दसवीं कक्षा के बाद क्या करें? साइंटिस्ट के लिए कौन सी डिग्री चाहिए? आदि के बारे में पूरी जानकारी लेना जरूरी है।

10वीं के बाद Scientist Kaise Bane

वैसे तो किसी भी क्षेत्र में अपना करियर बनाने के लिए दसवीं कक्षा से ही नींव रखनी शुरू हो जाती है। ऐसे में यदि आप साइंटिस्ट बनने के चाहवान है तो आप जैसे ही दसवीं कक्षा पास कर लेते हैं वैसे ही Scientist बनने की तैयारी शुरू कर देनी चाहिए।

साइंटिस्ट बनने के लिए 11वीं कक्षा में साइंस सब्जेक्ट का चयन करना जरूरी है। आप अपनी रुचि अनुसार मेडिकल या नॉन मेडिकल विषय को चुन सकते हैं। यदि आप फिजिक्स, केमेस्ट्री और मैथमेटिक्स में अच्छी रुचि रखते हैं तो आपको नॉन मेडिकल की पढ़ाई करनी चाहिए। अन्यथा आप फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी के साथ मेडिकल विषय में 11वीं और 12वीं की पढ़ाई कर सकते हैं।

12वीं के बाद Scientist Kaise Bane

यदि आपने 12वीं कक्षा science subject के साथ अच्छे अंक लेकर पास कर ली है तो अब आपको स्नातक डिग्री के लिए दाखिला लेना होगा। आप अपनी पसंद के हिसाब से विज्ञान विषय संबंधित किसी भी डिग्री जैसे की बीटेक, बीएससी, बी. फार्मेसी आदि में अपनी पढ़ाई जारी रख सकते हैं।

अगर बात की जाए कि साइंटिस्ट बनने के लिए 12वीं में कितने मार्क्स चाहिए? तो इसके लिए आपको कम से कम 60% अंक की आवश्यकता होती है। हालांकि कई इंस्टीट्यूट द्वारा 60% से भी ज्यादा अंक का मापदंड निर्धारित किया जाता है।

साइंटिस्ट बनने के लिए कौन सी पढ़ाई करनी पड़ती है

study-for-scientist-kaise-bane
Image By Pixabay

इतना तो आप जान ही चुके हैं कि साइंटिस्ट बनने के लिए आपको दसवीं कक्षा से ही अपनी तैयारी शुरू कर देनी चाहिए। परंतु एक साइंटिस्ट के रूप में अपना करियर बनाने के लिए आपको विज्ञान विषय में मास्टर डिग्री प्राप्त करनी होगी। हालांकि अपने रिसर्च लेवल को उच्च स्तर तक ले जाने के लिए आपको ग्रेजुएशन से ही knowledge gain करते रहना चाहिए।

दोस्तों साइंटिस्ट बनने के लिए कोई विशेष कोर्स नहीं होता है। परंतु यदि आपने अपनी ग्रेजुएशन की पढ़ाई बीटेक या बीएससी आदि विषयों से पूर्ण कर ली है तो आप post graduation के लिए एमएससी, M.E, एम.टेक आदि चुन सकते हैं। मास्टर्स डिग्री लेने के उपरांत पीएचडी प्राप्त करने हेतु आप किसी भी रिसर्च सेंटर में आवेदन कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें: एक्टिंग में कैरियर कैसे बनाएं | Actor Kaise Bane in Hindi

साइंटिस्ट बनने के लिए योग्यता

साइंटिस्ट बनने के लिए सबसे पहले तो विद्यार्थी के पास दसवीं कक्षा के बाद विज्ञान विषय होने जरूरी है। दरअसल ग्रेजुएशन डिग्री में दाखिला लेने के लिए विज्ञान विषय से 12वीं कक्षा उत्तीर्ण करना ही प्रमुख आधार माना जाता है। हालांकि ग्रेजुएशन करने के बाद आप पोस्ट ग्रेजुएशन, एमफिल या पीएचडी भी कर सकते हैं।

साइंटिस्ट बनने के लिए आयु सीमा

साइंटिस्ट बनने के लिए किसी भी तरह की आयु सीमा निर्धारित नहीं की जाती है। यदि आपने साइंटिस्ट बनने संबंधित शैक्षणिक योग्यता हासिल कर ली है तो आप इसी के आधार पर वैज्ञानिक के पद हेतु अप्लाई करने की योग्यता रखते हैं। ऐसे में आप किसी भी रिसर्च सेंटर या लैब में वैज्ञानिक के रूप में अपनी सेवाएं प्रदान करके लक्ष्य हासिल कर सकते हैं।

साइंटिस्ट बनने के लिए स्किल्स

साइंटिस्ट बनने के लिए किताबी ज्ञान के अलावा skills सबसे आवश्यक चरण माना जाता है।

● Interest: जीवन में किसी भी क्षेत्र में सफलता प्राप्त करने हेतु इंटरेस्ट सबसे जरूरी है। यदि आप किसी क्षेत्र में करियर बनाना चाहते हैं। परंतु आपको उससे संबंधित कोई रूचि ही नहीं है तो आपकी सारी मेहनत बेकार है। ऐसे में साइंटिस्ट बनने के लिए भी आपके अंदर मंजिल को पाने के लिए लगन और जुनून का होना जरूरी है।

● Practical Knowledge: साइंटिस्ट बनने का मतलब ही नई-नई खोज करना है। तो ऐसे में आप समझ सकते हैं कि आपको केवल किताबें पढ़ने पर बल नहीं देना है। बल्कि उस विषय से संबंधित प्रैक्टिकल नॉलेज का होना भी आवश्यक है।

इसलिए अपने ज्ञान का विस्तार करने हेतु हर वस्तु का कारण ढूंढने की कोशिश करें। साथ ही हर वस्तु की कार्यप्रणाली में ‘क्यों’ शब्द पर खास ध्यान दें। हमारा मतलब कि यदि कोई मशीन गतिमान है तो आपको जानकारी प्राप्त करनी होगी कि आखिर इसके पीछे की वजह क्या है।

● किताबें पढ़ें: अगर आप वैज्ञानिक बनने की इच्छुक हैं तो आपको किताबें पढ़ने की लत जरूर बनानी होगी। ऐसे बहुत से महान वैज्ञानिक हैं जिनकी रिसर्च के आधार पर हजारों पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी हैं। इन पुस्तकों को पढ़ने की वजह से आपके ज्ञान में वृद्धि होने के साथ-साथ आपको लक्ष्य प्राप्ति में भी मदद मिलेगी।

ये भी पढ़ें: 2022 में बैंक मैनेजर कैसे बनें- Bank PO Exam, IBPS Exam Pattern, Syllabus, Salary

साइंटिस्ट बनने के लिए टॉप भारतीय कॉलेज

● Miranda House College

● Hindu College

● Wilson College

● Jawaharlal Nehru University

● St. Stephen’s College

● St. Xavier College

● Hansraj College

● Jain University

● Stella Maris College

● Christ University

● Kalinga University

साइंटिस्ट बनने के लिए दुनिया की टॉप यूनिवर्सिटी

university-for-scientist-kaise-bane

● Harvard University

● Stanford University

● Cambridge University

● Oxford University

● Prinston University

● Tokyo University

● Toronto University

● Peking University

● Munich Ludwig Maximilians University

ISRO Scientist Kaise Bane

ISRO Full Form: Indian Space Research Organization की स्थापना 1969 में हुई थी। इसरो का मुख्यालय बेंगलुरु, कर्नाटक में स्थित है। इसरो एक ऐसा संगठन है जहां space संबंधित सभी तरह के प्रोग्राम और अनुसंधान किए जाते हैं। ISRO में अच्छे दिमाग और नए-नए आविष्कार करने वाले साइंटिस्ट की डिमांड हर समय बनी रहती है।

अगर आप इसरो में साइंटिस्ट बनना चाहते हैं तो आपको परीक्षा पास करनी होगी। इसरो द्वारा ICRB की परीक्षा का आयोजन किया जाता है। आप ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन की शिक्षा पूरी करने के उपरांत आईसीआरबी परीक्षा में बैठ सकते हैं।

ये भी पढ़ें: पायलट कैसे बनें | How To Become Pilot in Hindi

ISRO में सिलेक्शन कैसे होता है,

इसरो में सिलेक्शन के लिए लिखित परीक्षा के बाद इंटरव्यू का आयोजन किया जाता है। आवेदन कर्ता को इंटरव्यू क्लियर करने के बाद वैज्ञानिक या इंजीनियर के पद पर नियुक्ति मिल जाती है। एक अच्छा साइंटिस्ट बनने के लिए किताबी ज्ञान के अलावा प्रेजेंस ऑफ माइंड और नॉलेज का होना भी जरूरी है।

साइंटिस्ट की जॉब के लिए टॉप संस्थान

● इंडियन एयरफोर्स

● मिनिस्ट्री ऑफ माइंस

● नेशनल एयरोनॉटिक्स और स्पेस (नासा)

● इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन (इसरो)

● आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (एएसआई)

● इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एजुकेशन एंड रिसर्च (IISER)

● इंटरनेशनल फ्लेवर्स एंड फ्रेगरेंस इंडिया लिमिटेड

● नेशनल सेंटर फॉर सेल साइंस (NCCS)

● इंस्टिट्यूट ऑफ़ स्टेम सेल बायोलॉजी एंड रीजेनरेटिव मेडिसिन (InStem)

● एयरोनॉटिकल डेवलपमेंट एजेंसी (ADA)

वैज्ञानिक बनने के लिए प्रवेश परीक्षा

वैज्ञानिक बनने के लिए आपको अपनी शैक्षिक योग्यता के आधार पर प्रवेश परीक्षा का चयन करना होगा। यदि आपने बैचलर किया है तो आप JET, NPAT, SUAT, CUCET, BHU UET की परीक्षा दे सकते हैं।

वही master’s के आधार पर JNUEE, DUET, TISSNET, BITSAT, BHU PET की तैयारी कर सकते हैं। लेकिन अगर आपके पास पीएचडी है तो आपके लिए UGC NET, GATE और CSIR UGC NET जैसी प्रवेश परीक्षा पास करने का विकल्प मौजूद है।

वैज्ञानिक की सैलरी (Salary of Scientist)

एक वैज्ञानिक की सैलरी उसकी जॉब प्रोफाइल और जॉब की लोकेशन पर निर्भर करती है। अमेरिका में एक साइंटिस्ट को सालाना ₹7000000 सैलरी के रूप में प्रदान किए जाते हैं। इसके अलावा यूके में कम से कम 35 लाख रुपए तनख्वाह मिलती है।

एक रिसर्च साइंटिस्ट को ₹800000 प्रति वर्ष और मैकेनिकल इंजीनियर को लगभग प्रतिवर्ष ₹600000 सैलरी मिलती है। अगर बात की जाए सिविल इंजीनियर, डिजाइन इंजीनियर और रिसर्च साइंस स्कॉलर की तो उन्हें ₹300000 से लेकर ₹500000 सालाना सैलरी दी जाती है। हालांकि एक वैज्ञानिक के एक्सपीरियंस के आधार पर उसके वेतन में समय-समय पर वृद्धि होती रहती है।

निष्कर्ष

दोस्तों! हम उम्मीद करते हैं कि आपको हमारे द्वारा Scientist Kaise Bane, Qualifications For Scientist, Salary Of Scientist के बारे में दी गई जानकारी अच्छी लगी होगी। यदि आपको हमारा ये लेख पसंद आया हो तो कृपया इसे अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया द्वारा ज्यादा से ज्यादा शेयर करें ताकि हर व्यक्ति तक वैज्ञानिक कैसे बने संबंधित उचित जानकारी पहुंच सके

ये भी पढ़ें:

Sharing Is Caring:

Leave a Comment