Artificial Intelligence (AI): फायदे, नुकसान और 7 Popular Types

artificial-intelligence-ai-kya-hai

कृत्रिम बुद्धिमत्ता या Artificial Intelligence (AI) क्या है? आप लोगों ने Artificial Intelligence (AI) के बारे में तो जरूर सुना होगा। आज के इस Post के जरिए मैं आपको Artificial Intelligence (AI) के बारे में सब कुछ बताने वाला हूं जिससे आपको, मन में आ रहे Artificial Intelligence (AI) के सारे सवालों के जवाब मिल सकें।

आजकल जिसे देखो Artificial Intelligence (AI) की ही तारीफ किये जा रहा है। ये Term हमारे मन में उत्सुकता जागृत कर रहा है कि आख़िर ये आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस है क्या?

Computer का आविष्कार होने के बाद मनुष्य पूरे तरीके से Computer पर निर्भर हो गया है और अपना छोटे से छोटा काम करने के लिए Computer और मशीनों की ही हेल्प लेता है। मशीनों के प्रति मनुष्य की Dependency, Exponentially बढ़ती ही जा रही है। अब अधिकतर काम सिर्फ मशीनों के सहारे ही किया जा रहा है। मनुष्य ने ही इन मशीनों की कैपेबिलिटी को इतनी हद तक बढ़ा दिया है कि मशीनों की स्पीड और कार्य करने की क्षमता बढ़ चुकी है।

Artificial Intelligence (AI) Kya Hai

robots-are-programmed-with-artificial-intelligence-ai
Image Credit: Pixabay

अगर हम हिंदी में कहें तो, Artificial Intelligence (AI) का तात्पर्य कृत्रिम बुद्धिमता से है जिसका मतलब है मनुष्य के द्वारा किसी भी मशीन में सोचने की शक्ति प्रदान करना। मनुष्य प्रोग्राम के जरिए मशीनों में सोचने समझने की शक्ति दे रहा है। जिससे मशीनें अपने आप ही खुद सोच समझकर सारा कार्य कर सकें। इसे ही Artificial Intelligence (AI) कहा जाता है।

जब मनुष्य Computer की असली ताकत खोजने पर दिमाग लगा रहा था उस समय मनुष्य का दिमाग यह सोचने पर मजबूर हो गया कि क्या मशीन भी मनुष्य की तरह सोच समझ सकती है? उसके बाद से ही Artificial Intelligence (AI) की शुरुआत हुई। मनुष्य का सिर्फ यही उद्देश्य है कि मशीन भी मनुष्य की तरह ही सोच और समझ सके।

John McCarthy एक अमेरिकन Computer Scientist थे जिन्होंने 1955 में पहली बार Artificial Intelligence (AI) का नाम लिया। उन्होंने 1956 में पहली बार इस Technology के बारे में एक Conference में बताया था।

Artificial Intelligence (AI) का उपयोग

विशेषज्ञ और बड़ी-बड़ी इंडस्ट्रीज का यह मानना है कि AI आने वाले समय में हमारा भविष्य है। अगर आप वर्तमान में भी अपने आसपास चारों तरफ देखेंगे तो मनुष्य AI पर ही निर्भर है।

आज मनुष्य हर छोटी सी छोटी चीज के लिए मशीनों पर ही निर्भर है। छोटे से छोटे काम करने के लिए भी मशीनों का ही सहारा लिया जाता है। घर से लेकर बाहर तक भी मनुष्य हर समय AI का ही इस्तेमाल करता रहता है।

आपके मोबाइल में कुछ ऐप्स और गेम्स AI तकनीक से चलते हैं। जैसे आप अमेज़न एप खोल कर कुछ सर्च करते हैं तो ये एप आपको आपकी आवश्यकता से जुडी सारी चीज़ें स्क्रीन auto suggest करने लगता है। बड़ी बड़ी कंपनियों में चलने वाली मशीन भी AI से ही चलती है। किसी चीज का शीघ्रता से जवाब पाने के लिए भी मोबाइल में AI का ही इस्तेमाल किया जाता है।

Artificial Intelligence (AI) के प्रकार

Artificial Intelligence (AI) के दो मुख्य प्रकार हैं। पहले प्रकार को Weak AI कह सकते हैं। दूसरे प्रकार को Strong AI कह सकते हैं।

Weak AI को हम Narrow AI भी कह सकते हैं। इसको इस प्रकार से डिजाइन किया जाता है कि यह Particular Task याद रखें। Google Assistant को आप बहुत अच्छे उदाहरण के रूप में ले सकते हैं।

Strong AI को General Artificial Intelligence (AI) भी कहा जा सकता है। इस प्रकार के AI System में, मशीन में मनुष्य जितनी बुद्धिमता होती है जो मुश्किल से मुश्किल Task आसानी से कर सकती है।

वैसे तो AI मुख्यत: दो प्रकार की ही होती है, पर यदि हम इसे और elaborate करें तो AI 7 प्रकार की हो जाती है जैसे

7 Types of AI (Artificial Intelligence)

  1. आर्टिफीसियल नैरो इंटेलिजेंस
  2. आर्टिफीसियल जनरल इंटेलिजेंस
  3. आर्टिफीसियल सुपर इंटेलिजेंस
  4. लिमिटेड मेमोरी आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस
  5. सेल्फ अवेयर आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस
  6. थ्योरी ऑफ़ माइंड आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस
  7. रिएक्टिव मशीन आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस

Artificial Intelligence (AI) के उदाहरण

artificial-intelligence-can-be-provided-to-all-the-machines
Image By: Pixabay
  • Machine learning में Artificial Intelligence (AI) का इस्तेमाल किया जाता है। यह Computer Programing का भाग होता है।
  • Machine Vision में Artificial Intelligence (AI) का इस्तेमाल किया जाता है। जिसकी मदद से Computer को देखने के काबिल बना सकते हैं।
  • Natural Language Processing में भी Artificial Intelligence (AI) का इस्तेमाल किया जाता है। इसमें Computer प्रोग्राम की मदद से इंसानी भाषा को मशीनों को समझाया जाता है।
  • Apple Mobile का जो SIRI application है उसमें भी Artificial Intelligence (AI) का इस्तेमाल किया गया है। आपने देखा होगा Apple Mobile में SIRI की मदद से कुछ भी बोल कर Search किया जा सकता है।
  • बड़ी बड़ी कंपनियों में मशीनों में भी Artificial Intelligence (AI) का इस्तेमाल किया जाता है। जिसकी मदद से कोई भी काम आसानी से किया जा सके वो भी पूरी Accuracy के साथ।
  • Automobiles में Self-Driving में भी Artificial Intelligence (AI) का इस्तेमाल किया जाता है। बहुत ही पॉपुलर Tesla गाड़ी में Auto Driving के बारे में तो आपने सुना ही होगा, ये AI (Artificial Intelligence) ही है।

Artificial Intelligence (AI) के फायदे

Artificial Intelligence (AI) की बात की जाए तो इसके बहुत से फायदे हैं। आजकल हर किसी की जुबान पर Artificial Intelligence (AI) का नाम है। Artificial Intelligence (AI) की मदद से सारे काम आसान हो जाते हैं।

पहले जब लोगों को काम करने में बहुत टाइम लगता था। वही काम अब मशीनों की मदद से Accuracy के साथ करना बहुत आसान हो गया है। पहले ऐसे कामों को करने में काफी लोगों की संख्या लगती थी। पर अब वही काम आसानी से केवल एक ही मशीन के द्वारा किया जा सकता है। मशीनों की मदद से सारा काम बहुत कम समय में आसानी से और बड़ी Accuracy के साथ होता है।

पहले लोगों को मोबाइल में कुछ Search करने के लिए Type करना पड़ता था। लेकिन अब आप Apple के फोन में SIRI, Android फोन में Google Assistant, और Amazon में Alexa की मदद से, बोल कर भी Search कर सकते हैं। Google Maps में आप AI के जरिए आसानी से किसी भी लोकेशन का पता लगा सकते हैं।

Artificial Intelligence (AI) से होने वाले नुकसान

अब बात करते हैं Artificial Intelligence (AI) के नुकसान के बारे में। अगर किसी चीज से बहुत ज्यादा फायदा होता है तो उससे नुकसान भी बहुत होता है। Artificial Intelligence के आने से बहुत से लोगों की नौकरी पर प्रभाव पड़ेगा। काम को करने के लिए मनुष्य की आवश्यकता होती है पर उसी काम को एक मशीन आसानी से कर लेती है। इससे काम करने के लिए लोगों की जगह अब मशीनों का इस्ऐतेमाल बढ़ जाएगा और लोगों की नौकरियां कम हो जायेंगी।

पहले लोग अपना काम खुद करते थे पर अब छोटे से छोटा काम करने के लिए वह AI का सहारा लेते हैं। आजकल के समय में हर मनुष्य मोबाइल पर ज्यादा निर्भर हो गया है। हर काम आसानी से और अपने आप हो जाए, मनुष्य इसी उम्मीद में बैठा है। इस वजह से मनुष्य पूरी तरह से मशीनों पर निर्भर हो गया है और अपना खुद का दिमाग चलाना भूलता जा रहा है।

अगर मनुष्य ऐसे ही मशीनों के ऊपर निर्भर रहा तो भविष्य में वह खुद कुछ नहीं कर पाएगा। मोबाइलों में आने वाली AI संबंधित गेम्स की वजह से लोग मोबाइल पर ज्यादा निर्भर रहते हैं और फिजिकल गेम खेलना बंद ही कर दिया है। अब आप खुद ही सोच सकते हैं कि कोई चीज जितनी फायदेमंद होती है उसके दुष्प्रभाव भी उतनी ही होते हैं।

निष्कर्ष

हमारी राय में पूरी तरह से मशीनों पर निर्भर होना सही नहीं है। मशीनें बहुत हद तक काम आसान करती है। यह लोगों के लिए काफी हद तक सही भी है। मगर कोई चीज जब तक ही सही रहती है जब तक उसका लिमिट में इस्तेमाल किया जाए। लिमिट से बाहर हो जाने पर हर एक चीज़ नुकसानदायक साबित होती है।

ये सोचना गलत नहीं होगा कि अगर आने वाले टाइम में मशीनों के अन्दर मनुष्य के दिमाग जैसी शक्ति आ जाए और वो गलती से मनुष्य को ही अपना दुश्मन मान बैठें तो इससे मनुष्य समुदाय पर काफी हानिकारक प्रभाव पड़ेगा। मशीनें तब तक ही कारगर सिद्ध है जब तक उसका कंट्रोल मनुष्य के हाथ में हो। अगर आपकी भी Artificial Intelligence (AI) के बारे में कोई राय है तो आप हमारे साथ मिलकर साझा कीजिए।

साथियों, आशा है कि हमारी Artificial Intelligence (AI) क्या है? Post आपको बहुत पसंद आई होगी और इससे आपको काफी जानकारी मिली होगी। ऐसे ही नई नई बातों की जानकारी के लिए आप हमारे साथ हमारे इस Blog के माध्यम से जुड़े रहें और इसे ज़रूर Follow करें। किसी भी प्रकार की अन्य जानकारी प्राप्त करने के लिए आप Comment करके हमसे संपर्क कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें:

How to start Thermocol plate making business (कैसे शुरू करें)?

Air Bubble Sheet manufacturing business कैसे शुरू करें

How to start Hawai chappal making business | 5 Easy Steps हिंदी में

Fast Food Business Kaise Shuru Kare – हिंदी में जानकारी

Leave a Reply